कोरोना वैक्सीन को लेकर राजनीति: केंद्रीय हेल्थ मंत्री ने कहा राज्यों के पास पर्याप्त वैक्सीन तो राजस्थान सीएम ने बताया असत्य बयान

एक बार फिर केंद्र सरकार और राज्य सरकार आमने सामने हो गई। एक ओर जहां केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने राज्यों के पास पर्याप्त कोरोना वैक्सीन होने का बयान जारी किया है, वहीं दूसरी ओर राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इस बयान को गलत और असत्य बताया है।

केंद्रीय हेल्थ मंत्री ने कहा राज्यों के पास पर्याप्त वैक्सीन तो राजस्थान सीएम ने बताया असत्य बयान

जयपुर।
कोरोना वैक्सीन को लेकर एक बार फिर केंद्र सरकार और राज्य सरकार आमने सामने हो गई। एक ओर जहां केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने राज्यों के पास पर्याप्त कोरोना वैक्सीन होने का बयान जारी किया है, वहीं दूसरी ओर राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इस बयान को गलत और असत्य बताया है। गहलोत ने सोशल मीडिया पर लिखा- मैं केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन से यह उम्मीद नहीं करता था कि वे 'राज्यों में पर्याप्त वैक्सीन उपलब्ध होने' जैसा असत्य बयान देंगे। स्वास्थ्य मंत्री द्वारा राज्यों पर मिस मैनेजमेंट का आरोप लगाना एकदम गलत है।
राजस्थान में सर्वाधिक वैक्सीनेशन


सीएम ने लिखा है कि केंद्र सरकार ने 10 % वैक्सीन के खराब होने की छूट दी थी लेकिन राजस्थान में वैक्सीन के वेस्टेज का प्रतिशत सिर्फ 7% है। राजस्थान में पूरे देश में सर्वाधिक वैक्सीनेशन हुआ है। केंद्र सरकार को यह मानने में कोई बुराई नहीं होनी चाहिए कि देश में वैक्सीन की उपलब्धता कम है और राज्य सरकारों को उसी के अनुसार वैक्सीनेशन का कार्यक्रम बनाना चाहिए। केंद्र सरकार राजस्थान, महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, ओडिशा, आंध्र प्रदेश, पंजाब, दिल्ली, झारखंड, उत्तराखंड और असम में वैक्सीन की नियमित आपूर्ति करने में विफल रही है। इसके कारण इन राज्यों में कई जगह वैक्सीनेशन सेंटर बंद करने पड़े हैं।
केंद्र से सत्य की उम्मीद, गलत बयान बाजी की नहीं
सीएम गहलोत ने कहा कि मैं उम्मीद करता हूं कि केंद्रीय मंत्री कोरोना संक्रमण और वैक्सीनेशन पर गलत बयान बाजी करने की बजाय आमजन के हित में सत्य सामने रखकर काम करें। केंद्र सरकार को इस बारे में गलत बयान बाजी करने की जगह आधिकारिक तौर पर एडवायजरी जारी कर कहना चाहिए था कि वैक्सीन उपलब्ध होने में थोड़ा समय लगेगा, जिससे भविष्य में लोगों में कन्फ्यूजन की स्थिति ना बने और लोगों का वैक्सीन में विश्वास बना रहे।

आखिर वैक्सीन पर सियासत क्यों !
कोरोना वैक्सीनेशन शुरू होने के बाद से ही केंद्र सरकार और राज्य सरकार के बीच कई बार बयानबाजी हो चुकी है। वैक्सीन का स्टॉक कम होने के कारण पिछले रविवार को कई सेंटर्स पर वैक्सीनेशन बंद करना पड़ा था। पिछले सप्ताह भर से राज्य में वैक्सीन स्टॉक की कमी है। स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक राजस्थान के पास करीब तीन लाख वैक्सीन डोज का ही स्टॉक है, जिससे केवल एक दिन ही वैक्सीनेशन हो सकता है।

Must Read: एआईएमआईएम ने तेलंगाना विधानसभा से बीजेपी विधायक राजा सिंह को निष्कासित करने की मांग की

पढें भारत खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :