Corona की बूस्टर डोज पर राजनीति: Rajasthan के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने Corona के बूस्टर डोज के लिए PM मोदी को लिखा पत्र

सीएम ने कहा कि ओमिक्रोन वैरिएंट से फैलते संक्रमण के दृष्टिगत स्वास्थ्यकर्मी, फ्रंटलाइन वर्कर तथा 60 वर्ष से अधिक आयु के नागरिकों को बूस्टर डोज लगाने के लिए नीति और दिशा-निर्देश शीघ्र जारी किए जाने चाहिए।

Rajasthan के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने Corona के बूस्टर डोज के लिए PM मोदी को लिखा पत्र

जयपुर।
कोरोना को लेकर राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पत्र लिखकर आग्रह किया है। 
सीएम ने कहा कि ओमिक्रोन वैरिएंट से फैलते संक्रमण के दृष्टिगत स्वास्थ्यकर्मी, फ्रंटलाइन वर्कर तथा 60 वर्ष से अधिक आयु के नागरिकों को बूस्टर डोज लगाने के लिए नीति और दिशा-निर्देश शीघ्र जारी किए जाने चाहिए।
इसके साथ ही केंद्र सरकार 18 वर्ष से कम आयु के नागरिकों के लिए टीकाकरण की सुविधा भी सभी राज्यों में उपलब्ध कराई जाए।
सीएम गहलोत ने पत्र में कहा कि पूरे विश्व एवं भारत में कोविड-19 के ओमिक्रोन वैरिएंट से संक्रमित व्यक्तियों की बढ़ती संख्या को देखते हुए विशेषज्ञों ने देश में तीसरी लहर की आशंका व्यक्त की है।
उन्होंने कहा कि अमेरिका में प्रतिदिन करीब 2 लाख एवं ब्रिटेन जैसे देशों में प्रतिदिन 1 लाख से अधिक कोविड संक्रमित केस सामने आ रहे है। इनमें करीब 75 प्रतिशत रोगी ओमिक्रोन से संक्रमित हैं। 
जबकि भारत के 16 राज्यों एवं केन्द्रशासित प्रदेशों में ओमिक्रोन के मामले सामने आए हैं। ऐसे में जरूरी है कि स्वास्थ्यकर्मी, फ्रंटलाइन वर्कर और 60 वर्ष से अधिक आयु के नागरिक जिन्हें वैक्सीन की दोनों डोज लगाए हुए 6 माह से अधिक समय हो गया है, उन्हें बूस्टर डोज शीघ्र लगाई जाए।
सीएम ने कहा है कि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी ओमिक्रोन वैरिएंट के दृष्टिगत बूस्टर डोज की आवश्यकता व्यक्त की है। 
मुख्यमंत्री ने पत्र में यह भी कहा है कि 18 वर्ष से कम आयु के नागरिकों को भी कोविड से बचाव के लिए टीकाकरण की अत्यधिक आवश्यकता है। 
उन्होंने कहा कि भारत सरकार ने 18 वर्ष से कम आयु के नागरिकों के लिए जायकोव-डी नामक वैक्सीन प्रारंभ में केवल 7 राज्यों को उपलब्ध कराई है।  
इनमें राजस्थान शामिल नहीं है। सीएम ने प्रधानमंत्री से अनुरोध किया है कि देश के सभी राज्यों में 18 वर्ष से कम आयु के नागरिकों के लिए टीकाकरण की समान आवश्यकता है।
इसलिए यह वैक्सीन सभी राज्यों को उपलब्ध कराई जाए।  गहलोत ने पत्र में बताया कि राज्य में कोविड-19 से मुकाबले के लिए पांच स्तरीय रणनीति-टेस्ट, ट्रैक, ट्रीट एण्ड कोविड एप्रोप्रिएट बिहेवियर के तहत कार्य किया जा रहा है।
इसके साथ ही चिकित्सा सुविधाओं के सुदृढ़ीकरण की दिशा में राज्य सरकार निरन्तर ऑक्सीजन उत्पादन क्षमता, आईसीयू बैड सहित अन्य क्रिटिकल चिकित्सा सुविधाओं में वृद्धि कर रही है।
कोरोना टीकाकरण पर प्रदेश में विशेष जोर दिया जा रहा है। अब तक करीब 89 प्रतिशत पात्र नागरिकों को पहली एवं 72 प्रतिशत नागरिकों को दूसरी डोज लगाई जा चुकी है। 
सीएम ने आग्रह किया है कि बूस्टर डोज एवं 18 वर्ष से कम आयु के नागरिकों के टीकाकरण को लेकर केन्द्र सरकार शीघ्र दिशा-निर्देश जारी करे, ताकि ओमिक्रोन वैरिएंट से संभावित तीसरी लहर के खतरे से बचा जा सके।

Must Read: ‘आप’ नेता संजय सिंह राज्यसभा से सस्पेंड, अब नहीं ले पाएंगे कार्यवाही में भाग 

पढें राजनीति खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :