President रामनाथ कोविंद का विक्रांत दौरा: President Ram Nath Kovind ने एर्णाकुलम खाड़ी में नौसेना संचालन का देखा प्रदर्शन, कोविंद ने स्वदेशी विमान वाहक पोत विक्रांत का किया दौरा

भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने बुधवार को एर्णाकुलम खाड़ी में नौसेना संचालन का प्रदर्शन देखा। इसमें नौसैन्य कौशल और कार्य प्रणाली को दर्शाया गया।

President Ram Nath Kovind ने एर्णाकुलम खाड़ी में नौसेना संचालन का देखा प्रदर्शन, कोविंद ने स्वदेशी विमान वाहक पोत विक्रांत का किया दौरा

नई दिल्ली, एजेंसी। 
भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने बुधवार को एर्णाकुलम खाड़ी में नौसेना संचालन का प्रदर्शन देखा। इसमें नौसैन्य कौशल और कार्य प्रणाली को दर्शाया गया।
राष्ट्रपति कोविंद के साथ केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान और फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग-इन-चीफ वाइस एडमिरल एम.ए. हम्पीहोली, एवीएसएम, एनएम भी उपस्थित थे।
इस दौरान 40 मिनट तक आयोजित हुए कार्यक्रम में नौसैनिक पोतों और विमानों की युद्ध क्षमता प्रदर्शित की गई। 
इसमें कृत्रिम समुद्र तट टोही गतिविधि और घात लगाकर हमला, तेज इंटरसेप्टर छोटे विमानों द्वारा उच्च गति से उड़ना, तटीय बमबारी, हेलोबैटिक्स, सोनार डंक ऑपरेशन, बोर्डिंग संचालन और नौसेना के हेलीकॉप्टरों द्वारा कार्गो स्लिंग ऑपरेशन कर प्रदर्शित किया गया।


कार्यक्रम का समापन नौसेना बैंड के बेहतरीन धुन प्रदर्शन और विमान द्वारा फ्लाई पास्ट के साथ हुआ।
राष्ट्रपति कोविंद ने कोच्चि के कोचीन शिपयार्ड लिमिटेड में निर्माणाधीन स्वदेशी विमान वाहक 'विक्रांत' का भी दौरा किया।
यह राष्ट्रपति की इस पोत की पहली यात्रा थी। 
राष्ट्रपति कोविंद को जहाज क्रियान्वित करने की दिशा में परीक्षण की प्रगति के बारे में जानकारी प्रदान की गई। 
इसमें बताया गया कि स्वदेशी विमान वाहक पोत के निर्माण में स्वदेशी सामग्री 19341 करोड़ रुपए की कुल परियोजना लागत का 76 प्रतिशत के करीब है।


इस कार्यक्रम के बाद राष्ट्रपति कोविंद ने कार्य प्रगति पर संतोष व्यक्त किया। 
उन्होंने स्वदेशी विमान वाहक पोत के निर्माण में स्वदेशी क्षमताओं के विकास की दिशा में भारतीय नौसेना तथा कोचीन शिपयार्ड के प्रयासों की सराहना की।

Must Read: कांग्रेस पार्टी के मौजूदा हालात के लिए जिम्मेदार 3 लोग, इनमें से एक राहुल गांधी: पूर्व मंत्री सिंह

पढें दिल्ली खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :