फर्स्ट भारत की खबर का असर: रेप, पोक्सो और एससीएसटी केस में संलिप्त आरोपी को आखिरकार पुलिस ने किया गिरफ्तार, जालोर ​सीओ ने पुलिस जांच में आरोपी को बताया था निर्दोष

फर्स्ट भारत की खबर का असर: आखिरकार जालोर पुलिस ने रेप, एससीएसटी और पोक्सो मामले में संलिप्त आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। इसी के साथ फर्स्ट भारत की खबर पर एक बार फिर से मुहर लग गई। बागरा थाना पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार करते हुए आज कोर्ट में पेश किया, जहां कोर्ट ने आरोपी को जेल भेज दिया। 

रेप, पोक्सो और एससीएसटी केस में संलिप्त आरोपी को आखिरकार पुलिस ने किया गिरफ्तार, जालोर ​सीओ ने पुलिस जांच में आरोपी को बताया था निर्दोष

जालोर। 
आखिरकार जालोर पुलिस ने रेप, एससीएसटी और पोक्सो मामले में संलिप्त आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। इसी के साथ फर्स्ट भारत की खबर पर एक बार फिर से मुहर लग गई। फर्स्ट भारत ने 3 दिन पहले ही 24 अप्रेल 2022 को  "पोक्सो, एससीएसटी और रेप मामले में संलिप्त आरोपी को जालोर सीओ ने पुलिस जांच में बताया निर्दोष, कोर्ट ने दोषी मानते हुए जारी किया गिरफ्तारी वारंट, 2 माह से गिरफ्तार ही नहीं कर रही जालोर पुलिस" शीर्षक से समाचार चलाया था। इसके बार हरकत में आई बागरा थाना पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार करते हुए आज कोर्ट में पेश किया, जहां कोर्ट ने आरोपी को जेल भेज दिया। 
यहां आपको बता दें कि जालोर के डिप्टी हिम्मत सिंह चारण ने इसी आरोपी को पुलिस जांच में निर्दोष करार दिया था, लेकिन पीड़िता की शिकायत, बयान के बाद कोर्ट ने आरोपी को रेप, पोक्सो तथा एससीएसटी केस में संलिप्त मानते हुए गिरफ्तारी वारंट जारी किया, लेकिन इसके बाद भी जालोर पुलिस जनप्रतिनिधि के पुत्र को बचाने का हर संभव प्रयास करती रही। कोर्ट आदेश के 2 माह तक गिरफ्तारी नहीं होने पर फर्स्ट भारत ने इस संबंध में प्रमुखता से समाचार चलाया। फर्स्ट भारत की खबर के 3 दिन बाद आज 27 अप्रेल को बागरा पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार करते हुए कोर्ट में पेश किया।

यह था मामला
बागरा पुलिस थाना इलाका निवासी एक युवक ने ​11 नवंबर को​ रिपोर्ट दर्ज करवाई कि 9 नवंबर की शाम को उसकी नाबालिग बहन बाजार गई थी। इस दौरान सांथू गांव निवासी कैलाश पुरोहित पुत्र डूंगर सिंह राजपुरोहित और प्रवीण पुरोहित पुत्र किस्तुर पुरोहित उसकी बहन को गाड़ी में उठाकर ले गए।
इसके बाद रात को एक सूनसान इलाके में ले जाकर उसे नशीला पदार्थ पिलाया और नशे के हालत में उसके साथ दुष्कर्म किया। आरोपी प्रवीण पुरोहित ने उसके साथ रेप किया और उसके साथ कैलाश पुरोहित ने उसका साथ दिया। मामले में पुलिस ने दोनों आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी। जांच जालोर सीओ हिम्मत सिंह चारण को दी गई थी।  इसमें पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज होने के बाद कार्रवाई करते हुए एक आरोपी प्रवीण को गिरफ्तार कर लिया,जबकि कैलाश राजपुरोहित को राउंड अप करने के बाद छोड़ दिया।
फर्स्ट भारत ने प्रमुखता से उठाया मामला
फर्स्ट भारत ने इस संबंध में पीड़िता की शिकायत के बाद आरोपी को छोड़ने के मामले को प्रमुखता से प्रकाशित किया था। फर्स्ट भारत ने 20 नवंबर 2021 को "जालोर के बागरा थाना इलाके में नाबालिग का अपहरण कर किया रेप, FIR में 2 आरोपी, पुलिस ने किया 1 ही गिरफ्तार, पीड़िता का आरोप जनप्रतिनिधि के बेटे को बचाने का प्रयास "शीर्षक से समाचार प्रकाशि​त किए थे।

इसके बाद 24 अप्रेल 2022 को फिर से फर्स्ट भारत ने पुलिस की लापरवाही को उजागर करते हुए कोर्ट के आदेश होने के बावजूद मामले में संलिप्त आरोपी को गिरफ्तार नहीं करने की खबर चलाई थी। फर्स्ट भारत ने  24 अप्रेल 2022 को  "पोक्सो, एससीएसटी और रेप मामले में संलिप्त आरोपी को जालोर सीओ ने पुलिस जांच में बताया निर्दोष, कोर्ट ने दोषी मानते हुए जारी किया गिरफ्तारी वारंट, 2 माह से गिरफ्तार ही नहीं कर रही जालोर पुलिस" शीर्षक से समाचार चलाया था।


इन समाचारों को भी पढ़ें:-

जालोर पुलिस की कारस्तानी उजागर: पोक्सो, एससीएसटी और रेप मामले में संलिप्त आरोपी को जालोर सीओ ने पुलिस जांच में बताया निर्दोष, कोर्ट ने दोषी मानते हुए जारी किया गिरफ्तारी वारंट, 2 माह से गिरफ्तार ही नहीं कर रही जालोर पुलिस 

Jalore @ नाबालिग से रेप और पुलिस का खेल: जालोर के बागरा थाना इलाके में नाबालिग का अपहरण कर किया रेप, FIR में 2 आरोपी, पुलिस ने किया 1 ही गिरफ्तार, पीड़िता का आरोप जनप्रतिनिधि के बेटे को बचाने का प्रयास 

Must Read: सीएम गहलोत की मोदी सरकार से मांग, ‘लंपी’ वायरस को राष्ट्रीय आपदा करें घोषित

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :