मोदी का मंत्र:— टेस्ट, ट्रेक और ट्रीट: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वाराणसी में कोरोना रिव्यू ​मीटिंग में देश का दिया T—3 का मंत्र

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को अपने संसदीय क्षेत्र उत्तर प्रदेश के वाराणसी में कोरोना के हालात का वीसी के जरिए रिव्यू किया। इस दौरान प्रधानमंत्री ने कोरोना से बचाव तथा कोरोना संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए टेस्टिंग, बेड, दवाइयों, वैक्सीन और मैन पावर जैसे मुद्दों पर क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों बात की।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वाराणसी में कोरोना रिव्यू ​मीटिंग में देश का दिया T—3 का मंत्र

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को अपने संसदीय क्षेत्र उत्तर प्रदेश के वाराणसी में कोरोना के हालात का वीसी के जरिए रिव्यू किया। इस दौरान प्रधानमंत्री ने कोरोना से बचाव तथा कोरोना संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए टेस्टिंग, बेड, दवाइयों, वैक्सीन और मैन पावर जैसे मुद्दों पर क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों ने बात की। कोरोना से पूरे उत्तर प्रदेश में कोहराम मचा हुआ है। काशी के हालात भी कुछ कम खराब नहीं है। रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने इसका अहसास करते हुए अपने संसदीय क्षेत्र के हालातों का जायजा लिया। पीएम मोदी ने कोरोना से बचाव के लिए टी3 मतलब ‘टेस्ट, ट्रेक और ट्रीट’ का मंत्र अपनाने को कहा। उन्होंने निर्देश देते हुए कहा कि वाराणसी की जनता को हर संभव सहायता त्वरित रूप से उपलब्ध कराई जाए। इस दौरान उन्होंने 'दो गज की दूरी, मास्क है जरूरी' का पालन करने के लिए भी कहा।
‘टेस्ट, ट्रेक और ट्रीट’-
मोदी ने वर्चुअल बैठक में ‘टेस्ट, ट्रेक और ट्रीट’ पर जोर देते हुए कहा कि पहली लहर की तरह ही वायरस से जीतने के लिए यही रणनीति अपनानी होगी। उन्होंने कहा कि संक्रमित व्यक्तियों की टेस्ट रिपोर्ट जल्द से जल्द उपलब्ध कराई जाए। उन्होंने होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों और उनके परिवार के प्रति भी सभी जिम्मेदारियों के संवेदनशील तरीके से निर्वहन का निर्देश दिया। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि वाराणसी के प्रतिनिधि के रूप में वह आम जनता से लगातार फीडबैक ले रहे हैं। वाराणसी में पिछले 5-6 सालों में मेडिकल इंफ्रास्ट्रक्चर के विस्तार और आधुनिकीकरण से कोरोना से लड़ने में सहायता मिली है। अब मामले बढ़े है, तो हर स्तर पर प्रयास बढाने की जरुरत है। बेड्स, आईसीयू व ऑक्सीजन की उपलब्धता को बढ़ाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जिस तरह वाराणसी प्रशासन ने तेजी के साथ ‘काशी कोविड रिस्पोन्स सेन्टर’ स्थापित किया है, वैसी ही तेजी हर कार्य में लायी जानी चाहिए। पीएम मोदी ने देश के सभी डॉक्टरों, सभी मेडिकल स्टाफ का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि इस संकट की घड़ी में भी वह अपने कर्त्तव्य का निष्ठापूर्ण पालन कर रहे हैं। हमें पिछले साल के अनुभवों से सीखते हुए सतर्क रहकर आगे बढ़ना है।

Must Read: राजस्थान में 8 जून तक बढ़ाया लॉकडाउन, कोरोना संक्रमण से मौत के ग्राफ को देखते हुए सरकार ने 3 दिन किया वीक एंड कर्फ्यू

पढें राजनीति खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :