वॉट्सऐप पर मिलेगा सर्टिफिकेट: वॉट्सऐप के जरिए चंद सेकेंड में हासिल किया जा सकेगा कोरोना वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट

सरकार ने वैक्सीन सर्टिफिकेट हासिल करने की प्रक्रिया को आसान करने के लिए एक कदम उठाया है।

वॉट्सऐप के जरिए चंद सेकेंड में हासिल किया जा सकेगा कोरोना वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट

देश-विदेश में ट्रैवलर्स को एंट्री देने से पहले वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट दिखाने पर जोर दिया जा रहा है। भारत में भी कई राज्य इस पर सहमति जता चुके हैं। इस बीच सरकार ने वैक्सीन सर्टिफिकेट हासिल करने की प्रक्रिया को आसान करने के लिए एक कदम उठाया है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने बताया कि अब कोरोना वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट वॉट्सऐप के जरिए चंद सेकेंड में हासिल किया जा सकेगा। सरकार के इस निर्णय से उन लोगों को सुविधा मिलेगी, जिन्हें कोविन पोर्टल या ऐप से वैक्सीन सर्टिफिकेट हासिल करने में परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

स्वास्थ्य मंत्री ने सोशल मीडिया पर दी जानकारी
स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि जो व्यक्ति वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट हासिल करना चाहता है, उसे अपने मोबाइल से एक वॉट्सऐप नंबर पर मैसेज भेजना है। इसके बाद कुछ सेकेंड के अंदर ही उसे वैक्सीन सर्टिफिकेट भेज दिया जाएगा। उन्होंने अपने ट्वीट में सरकार के इस कदम को आम आदमी के लिए शानदार निर्णय बताया।

रजिस्टर्ड नंबर पर आएगा OTP
सर्टिफिकेट हासिल करने के लिए +91 9013151515 नंबर को मोबाइल में सेव करना होगा। इसके बाद covid certificate लिखकर इस नंबर पर मैसेज भेजना होगा। जिस नंबर से वैक्सीनेशन के लिए रजिस्ट्रेशन करवाया होगा, उस नंबर पर OTP आएगा। उसे भी वापस वॉट्सऐप के मैसेज बॉक्स में लिखकर भेजना है। इसके बाद चंद सेकेंड में कोविड सर्टिफिकेट आ जाएगा।

कांग्रेस सांसद थरूर ने भी तारीफ की
स्वास्थ्य मंत्रालय के अलावा कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने भी सर्टिफिकेट हासिल करने की प्रक्रिया को समझाया है। उन्होंने सोशल मीडिया पर जानकारी शेयर करते हुए कहा कि जब भी सरकार ने कोई अच्छा काम किया है, मैंने हमेशा उस काम की तारीफ की है। कोविन ऐप के आलोचक होते हुए मैं कहूंगा कि सरकार ने एक शानदार कदम उठाया है। अब वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट हासिल करने के लिए आपको सिर्फ एक नंबर पर वॉट्सऐप मैसेज भेजना है और कुछ ही देर में आपको सर्टिफिकेट मिल जाएगा।

पहले कोविन और उमंग ऐप पर मिलता था सर्टिफिकेट
इससे पहले वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट डाउनलोड करने के लिए कोविन ऐप या पोर्टल, आरोग्य सेतु और उमंग ऐप की मदद लेनी पड़ती थी। इस प्रक्रिया से अब भी सर्टिफिकेट हासिल किया जा सकता है। वैक्सीन का एक डोज लेने के बाद प्रोविजनल और दोनों डोज के बाद फाइनल सर्टिफिकेट दिया जाता है।

Must Read: तृणमूल कांग्रेस 25वीं वर्षगांठ पर छात्र इकाई के सदस्य बनने की आयु सीमा घटा सकती है

पढें भारत खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :