PM की सुरक्षा में चूक मामले में राजनीति: एक ओर सोनिया ने पंजाब सीएम को जांच के दिए निर्देश, दूसरी ओर राजस्थान कांग्रेस अध्यक्ष गोविंद डोटासरा ने सुरक्षा में चूक को बताया पीएम की नौटंकी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में चूक मामले को लेकर कांग्रेस पार्टी की ओर से बयान दिए जा रहे है। आज एक ओर कांग्रेस आलाकमान सोनिया गांधी ने पंजाब के सीएम चरणजीत सिंह चन्नी को जांच के आदेश दिए, वहीं दूसरी ओर राजस्थान में कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने इस पूरे मामले को प्रधानमंत्री की नौटंकी

एक ओर सोनिया ने पंजाब सीएम को जांच के दिए निर्देश, दूसरी ओर राजस्थान कांग्रेस अध्यक्ष गोविंद डोटासरा ने सुरक्षा में चूक को बताया पीएम की नौटंकी

जयपुर।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में चूक मामले को लेकर कांग्रेस पार्टी की ओर से बयान दिए जा रहे है। आज एक ओर कांग्रेस आलाकमान सोनिया गांधी ने पंजाब के सीएम चरणजीत सिंह चन्नी को जांच के आदेश दिए, वहीं दूसरी ओर राजस्थान में कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने इस पूरे मामले को प्रधानमंत्री की नौटंकी बताया। 


डोटासरा ने कहा कि यह पीएम का ड्रामा है, पीएम की सुरक्षा में कोई चूक नहीं की गई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को देश की जनता से माफी मांगनी चाहिए और इस नौटंकी को बंद करना चाहिए। 
डोटासरा ने यहां तक कहा कि पीएम की सुरक्षा का मामला केंद्रीय गृह मंत्रालय का है। पीएम को जब सभा स्थल पर लोगों के नहीं पहुंचने की जानकारी मिली तो उन्होंने यह ड्रामा किया। 
इतना ही नहीं, अगर लोग ज्ञापन देना चाहते है तो पीएम को इसमें कोई हर्ज नहीं होना चाहिए। इसके बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी इस घटना क्रम को सही नहीं बताया। 
डोटासरा ने कहा कि जहां जहां चुनाव आएंगे भाजपा ऐसे प्रोपेगेंडा करेंगे। डोटासरा ने कहा कि पीएम को किसने कहां इस रास्ते जाओ, वहां के डीजीपी ने यह नहीं कहा कि इस रूट से जाए।


पीएम को शोभा नहीं देता
डोटासरा ने कहा कि प्रधानमंत्री जब देश को बिना सूचना दिए बिरयानी खाने पाकिस्तान चले जाते हैं, तब ख़तरा नहीं होता? सिर्फ चुनावों के लिए पंजाब के दलित मुख्यमंत्री को टारगेट करना और उन पर लांछन लगाना प्रधानमंत्री पद पर बैठे व्यक्ति को शोभा नहीं देता।
 उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय सुरक्षा कांग्रेस बेहतर कोई नहीं जानता, कांग्रेस पार्टी ने इस देश के लिए दो-दो प्रधानमंत्रियों की कुर्बानी दी है। लेकिन भाजपा ने सत्ता में आते है उस परिवार की सुरक्षा हटा दी जिसने देश के लिए 2 प्रधानमंत्रियों के बलिदान दिए। 
डोटासरा ने कहा कि अगर किसान ये मांग कर रहे थे कि प्रधानमंत्री उनका ज्ञापन लें तो ये उनका संवैधानिक अधिकार था सुरक्षा चूक नहीं थी।


 ये पहली बार नहीं हुआ कि किसी PM की सुरक्षा में ऐसा कुछ हुआ हो, पहले भी कई प्रधानमंत्रियों की सुरक्षा में ऐसी घटनाएं हुई हैं। उन्होंने कहा कि इसी देश में प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू का एक वृद्ध महिला ने कॉलर पकड़ा था और पूछा “इस आजादी से मुझे क्या मिला?” तब नेहरू जी ने जवाब दिया- “प्रधानमंत्री का गला पकड़ने का अधिकार क्या कम है ?” 
डोटासरा ने कहा कि पीएम मोदी और भाजपा द्वारा सोची समझी साज़िश के तहत पंजाब दौरे पर सुरक्षा चूक का ड्रामा किया गया। प्रधानमंत्री का अचानक रूट बदला गया लेकिन पंजाब सरकार को जानकारी नहीं दी गई, छद्म राष्ट्रवाद की तर्ज पर षड्यंत्र करके देश में नया माहौल बनाया गया। 

मोदी देश के प्रधानमंत्री, सुरक्षा का ध्यान रखा जाना चाहिए:सोनिया 
वहीं दूसरी ओर कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने सीएम चन्नी से बातचीत की है। 
सोनिया गांधी ने चन्नी से कहा कि मोदी पूरे देश के प्रधानमंत्री हैं, इसलिए उनकी सुरक्षा का पूरा ध्यान रखा जाना चाहिए। ऐसे में इस मामले में जो भी जिम्मेदार हैं, उनके खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए। सोनिया ने कहा कि इस दौरे को लेकर सुरक्षा के पूरे बंदोबस्त किए जाने चाहिए थे। 
वहीं दूसरी ओर केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि आखिरकार सोनिया ने यह मान लिया कि सुरक्षा में चूक हुई थी।
 लेकिन उनके इस बयान से ऐसा लग रहा है कि उन्होंने मोहरे को आदेश देकर अपना पल्ला झाड़ लिया है। सीएम ने कहा कि पंजाब सरकार पूरे मामले की जांच करवा रही है। 

Must Read: गुजरात दौरे के दौरान केजरीवाल, सिसोदिया पर हमले की आशंका

पढें राजनीति खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :