आस्था, भक्ति और सुरों का अनूठा संगम: लाखोटिया में निम्बाहेड़ा के शुभम-अंकित रहे प्रथम

मंगलवार सुबह साढ़े छह बजे तक भजन संध्या अपने परवान पर रही। भजन संध्या में इस बार निम्बाहेड़ा (चित्तौड़गढ़) के अंकित-शुभम ने पहला स्थान जीता। उन्होंने लगन लगी लगन लगी भोले बाबा से… भजन की प्रस्तुति दी। दूसरे स्थान पर जोधपुर के दीपक जोशी रहे। तीसरे स्थान पर शुभम बिखरनिया रहे। केशव रैड़ाना को सांत्वना पुरस्कार दिया गया।

लाखोटिया में निम्बाहेड़ा के शुभम-अंकित रहे प्रथम

पाली। लाखोटिया महादेव मेला मंडल सेवा समिति के बैनर तले सावन के अंतिम सोमवार को राष्ट्रीय स्तरीय एक शाम लाखोटिया महादेव के नाम भजन संध्या में देशभर से आए भजन गायकों ने लाखोटिया के रंगमंच पर अपनी प्रस्तुतियां देकर श्रोताओं का मनमोह लिया। कोरोना के चलते दो साल बाद आयोजित भजन संध्या में श्रद्धालुओं की खासी भीड़ रही। यहां आस्था, भक्ति और सुरों का अनूठा संगम मिला। मंगलवार सुबह साढ़े छह बजे तक भजन संध्या अपने परवान पर रही।

भजन संध्या में इस बार निम्बाहेड़ा (चित्तौड़गढ़) के अंकित-शुभम ने पहला स्थान जीता। उन्होंने लगन लगी लगन लगी भोले बाबा से… भजन की प्रस्तुति दी। दूसरे स्थान पर जोधपुर के दीपक जोशी रहे। तीसरे स्थान पर शुभम बिखरनिया रहे। इसके साथ ही केशव रैड़ाना को सांत्वना पुरस्कार दिया गया। बाल कलाकारों में शक्ति रावत को भी बेहतरीन भजन प्रस्तुत करने पर पुरस्कृत किया गया। सभी विजेताओं को मंगलवार सुबह लाखोटिया रंगमंच पर ही समिति के नेमीचंद देवड़ा, पूर्व सभापति राकेश भाटी, ओम आचार्य, बाबूलाल बोराणा, रमेश माली, रामदेव गौड, अशोक चौहान, मनोहरसिंह राजपुरोहित ने प्रशस्ति पत्र ओर पारितोषिक राशि देकर सम्मानित किया गया।

इससे पहले सांसद पीपी चौधरी, पूर्व सांसद पुष्प जैन, पूर्व विधायक भीमराज भाटी, पूर्व सभापति प्रदीप हिंगड़, सभापति रेखा-राकेश भाटी, नेमीचंद देवड़ा ने मां सरस्वती व लाखोटिया महादेव की तस्वीर के समक्ष दीप प्रज्जवलित कर भक्ति संध्या की शुरुआत की। कार्यक्रम के दौरान लाखोटिया महादेव मेला मंडल सेवा की ओर से सांसद पीपी चौधरी, पूर्व सांसद पुष्प जैन, पूर्व विधायक भीमराज भाटी, जिला कलेकटर नमित मेहता सहित अन्य अतिथियों का माला व साफा पहनाकर सम्मान किया गया।
संध्या में रानी से आई बाल कलाकार अनिता सुथार ने महादेव जी परणिजण आया… प्रस्तुति देकर खूब तालियां बटोरी। इसी क्रम में पारस दूदौड़ ने अधड़ बम महादेव…, गजेन्द्रसिंह राजपुरोहित मंडली ने देश भक्ति गीत घर-घर तिरंगा लहराओ…, शक्ति रावत ने नमन का गुरु वंदन…, पाली के राकेश प्रजापत ने नाचे गुणेशा, नाचे हनुमान…, जोधपुर से आई काजल वैष्णव ने तेरी भक्ति में मेरा मन डोले…, निम्बली के हनुमानदास ने हे धन्य तेरी माया जग…, राहुल सिसोदिया ने तुझे जिसने जल चढ़ाया…जैसे मनमोहक भजनों की प्रस्तुति दी। शिरडी से आए राहुल सिसोदिया ने तुझे जिसने जल चढ़ाया वो मालामाल हो गया…, हेमराज गोयल ने कौन है… कौन हैं वो तेज सा जो छाया…, सुभम बिरखणिया ने सुगना बाई रा आसुड़ा छलके…, मेड़ता सिटी से आए ललित लेहरिया ने मैं तो प्रेम दीवानी मेरा दर्द न जाने कोई…, बाड़मेर से आए केशव रेडाणा ने शिव समान दाता नहीं…, प्रकाश माली ने देश भक्ति गीत की प्रस्तुति दी।

भगवान भोलेनाथ के चरणों में प्रस्तुतियां का यह दौर अलसुबह तक जारी रहा। पांडाल में भी अधिकतर श्रोता सुबह तक जमे रहे। भजन संध्या में निर्णायक की भूमिका जोधपुर से आए रामदेव गौड, सोजत के अशोक चौहान, पाली के मनोहरसिंह राजपुरोहित ने निभाई। संयोजक की भूमिका रमेश माली, दलपतसिंह राजपुरोहित ने निभाई।

Must Read: जालोर की वि‍श्नोंई गैंग राजधानी में पटवारी परीक्षा में करवा रही थी नकल, डमी परीक्षार्थी बैठाने के मामले में 2 अभियुक्त गिरफ्तार

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :