यूएई में भारत—पाक के बीच बातचीत: संयुक्त अरब अमीरात सहयोग से दुबई में भारत—पाकिस्तान के विदेश मंत्रियों के बीच बातचीत

भारत और पाकिस्तान के बीच संयुक्त अरब अमीरात (UAE) के सहयोग से दुबई में बातचीत चल रही है। पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने बातचीत में सहयोग के लिए UAE का शुक्रिया अदा किया।

संयुक्त अरब अमीरात सहयोग से दुबई में भारत—पाकिस्तान के विदेश मंत्रियों के बीच बातचीत

नई दिल्ली।
कोरोना संक्रमण के बीच पड़ोसी मुल्क के साथ भारत की बातचीत हुई। पाकिस्तान सरकार ने पहली बार आधिकारिक तौर पर यह माना है कि भारत और पाकिस्तान के बीच संयुक्त अरब अमीरात (UAE) के सहयोग से दुबई में बातचीत चल रही है। पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने बातचीत में सहयोग के लिए UAE का शुक्रिया अदा किया। उन्होंने कहा- हमने हमेशा भारत और पाकिस्तान के बीच किसी तीसरे देश की मध्यस्थता पर जोर दिया है। कुरैशी शनिवार को तीन दिन के दौरे पर रियाद पहुंचे थे। भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर भी एक दिन के दौरे पर रविवार को यहां पहुंचे। हालांकि, कुरैशी ने जयशंकर के साथ किसी तरह की बातचीत की संभावना को खारिज कर दिया। LOC पर सीजफायर के बाद, कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया गया था कि भारत और पाकिस्तान के बीच दुबई में बातचीत चल रही है। दोनों ही देशों ने इस पर कोई रिएक्शन नहीं दिया था। इसके बाद अमेरिका में UAE के एम्बेसेडर यूसुफ अल ओतायबा ने शुक्रवार को यह माना था कि उनका देश भारत और पाकिस्तान के बीच रिश्ते सुधारने के लिए कोशिश कर रहा है। अब कुरैशी ने साफ तौर पर माना है कि पर्दे के पीछे भारत और पाकिस्तान के बीच बातचीत चल रही है। कुरैशी ने कहा है कि भारत और पाकिस्तान के बीच बातचीत शुरू कराने के लिए किसी तीसरे देश को मध्यस्थता करनी चाहिए। आप को बता दें कि UAE के भारत और पाकिस्तान दोनों ही देशों से अच्छे रिश्ते हैं। इसके अलावा वो अमेरिका के भी काफी करीब है। माना जा रहा है कि जो बाइडेन एडमिनिस्ट्रेशन भी भारत और पाकिस्तान के बीच अच्छे रिश्ते देखना चाहती है, ताकि अफगानिस्तान में अमन बहाली में इन दोनों के प्रभाव का इस्तेमाल किया जा सके।