NCP प्रदेशाध्यक्ष उम्मेदसिंह चम्पावत : निवाई में बीजेपी द्वारा पार्षदों को अपने पाले में मिलाने पर कहा यह लोकतंत्र की हत्या, उप चुनाव में हम देंगे बीजेपी कांग्रेस को कड़ा जवाब

नेशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी राजस्थान के प्रदेश अध्यक्ष उम्मेदसिंह चम्पावत ने कहा है कि जनता के चुने हुए जनप्रतिनिधियों को धन बल के आधार पर तथा डरा-धमकाकर बाड़ाबंद कर लेना गैर लोकतांत्रिक तो है ही। जनता के वोटों की तौहीन भी है। प्रदेश की जनता ने कांग्रेस और बीजेपी से उपर उठकर हमें विकल्प के रूप में चुना है|

निवाई में बीजेपी द्वारा पार्षदों को अपने पाले में मिलाने पर कहा यह लोकतंत्र की हत्या,  उप चुनाव में हम देंगे बीजेपी कांग्रेस को कड़ा जवाब

जोधपुर | नेशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी राजस्थान के प्रदेश अध्यक्ष उम्मेदसिंह चम्पावत ने कहा है कि जनता के चुने हुए जनप्रतिनिधियों को धन बल के आधार पर तथा डरा-धमकाकर बाड़ाबंद कर लेना गैर लोकतांत्रिक तो है ही। जनता के वोटों की तौहीन भी है। प्रदेश की जनता ने कांग्रेस और बीजेपी से उपर उठकर हमें विकल्प के रूप में चुना है इससे यह साबित होता है कि प्रदेश में एनसीपी का जनाधार बढ़ रहा है। अब हम आने वाले चारों उप चुनाव में अपने प्रत्याशी उतारेंगे और मजबूती से जनता के बीच जाएंगे।


चम्पावत बुधवार को जोधपुर सर्किट हाउस में एक प्रेस वार्ता को सम्बोधित कर रहे थे। चम्पावत ने कहा कि एनसीपी के सिम्बल और प्रचार से जीते जनप्रतिनिधियों को खरीदकर बीजेपी ने अपनी ओछी और गैर लोकतांत्रिक मानसिकता का परिचय दिया है। इससे साबित होता है कि यह पार्टी सत्ता हासिल करने के लिए किसी भी स्तर पर गिर सकती है। चम्पावत ने कहा कि हम जनता के बीच आने वाले चारों उप चुनाव सुजानगढ़, सहाड़ा, राजसमंद और भींडर में अपने प्रत्याशियों को उतारेंगे और मजबूती से अपना एजेंडा रखेंगे। हमारा एजेंडा प्रदेश के विकास का है। इसी एजेंडे पर भरोसा करते हुए नोखा और निवाई में जनता ने हमें आशीर्वाद दिया। परन्तु निवाई में बीजेपी ने छल और कपट की राजनीति करते हुए घटिया मानसिकता का परिचय दिया। चम्पावत ने कहा कि हम इससे निराश नहीं है बल्कि और पुरजोर तरीके से उप चुनाव विधानसभा में अपने प्रत्याशियों को अधिकाधिक वोट दिलाने के लिए संकल्पित हुए हैं।
आपको याद दिला दें कि निवाई नगरपालिका में एनसीपी ने 29 सीटों पर प्रत्याशी उतारे थे, जिसमें से 17 जीते थे। बीजेपी ने सभी 17 को जयपुर में अपनी पार्टी की सदस्यता दिला दी। ऐसे में यहां बहुमत होने के बावजूद एनसीपी अपना अध्यक्ष नहीं बना पाई। नोखा में एनसीपी के नारायण झंवर ने अध्यक्ष पद के लिए नामांकन दाखिल किया है।
पार्टी ने जारी किया है व्हिप
प्रेस वार्ता में प्रदेशाध्यक्ष ने कहा है कि एनसीपी ने निवाई के लिए व्हिप जारी किया और साफ कहा है कि यदि बीजेपी अथवा कांग्रेस के लिए अध्यक्ष पद पर वोट किया तो साफ तौर पर यह कानून की अवहेलना होगी और विधिक कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। पार्टी ने जयपुर हाईकोर्ट में अधिवक्ता शहाबुद्दीन गौरी के माध्यम से विधिक कार्रवाई के लिए उपाय अमल में लाने प्रारंभ कर दिए हैं। 

Must Read: पूर्व सीएम वसुंधरा राजे ने अशोक गहलोत से की अपील राजस्थान को अपराधियों का प्रदेश मत बनाओ, सांसद कोली पर हमले से खफा राजे

पढें राजनीति खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :