नक्सलियों ने बंधक बनाए जवान को किया रिहा: बीजापुर नक्सली हमले के बाद बंधक बनाए गए सीआरपीएफ के कोबरा जवान की हुई घर वापसी

नक्सलियों की मुठभेड़ के बाद बंधक बनाए गए जवान को छोड़ दिया गया। जवान का फोर्स के कैंप पहुंचने के बाद मेडिकल चेकअप किया गया। हालांकि सेना ने जवान के छोड़ने से संबंधित किसी तरह की जानकारी साझा नहीं की है।

बीजापुर नक्सली हमले के बाद बंधक बनाए गए सीआरपीएफ के कोबरा जवान की हुई घर वापसी

नई दिल्ली। 
नक्सलियों की मुठभेड़ के बाद बंधक बनाए गए जवान को छोड़ दिया गया। जवान का फोर्स के कैंप पहुंचने के बाद मेडिकल चेकअप किया गया। हालांकि सेना ने जवान के छोड़ने से संबंधित किसी तरह की जानकारी साझा नहीं की है। वहीं दूसरी ओर जवान की रिहाई की सूचना के बाद उनके परिवार में खुशी का माहौल है। 
जानकारी के मुताबिक जोनागुड़ा में फोर्स और नक्सलियों की मुठभेड़ के बाद बंधक बनाए गए CRPF जवान राकेश्वर सिंह को नक्सलियों ने छोड़ दिया है। राकेश्वर सिंह को तर्रेम में 168वीं बटालियन के कैंप लाया गया। यहां उनका मेडिकल चेकअप किया गया। ​​​​​ नक्सलियों ने कहा है कि राकेश्वर को घर भेजें और घरवालों के साथ उनका एक फोटो हमें भेजा जाए। इस बीच गृह मंत्री अमित शाह ने फोन कर राकेश्वर सिंह से बात की है। राकेश्वर की रिहाई के बाद उनकी पत्नी मीनू ने कहा कि आज मेरी जिंदगी का सबसे खुशी भरा दिन है। मुझे उनके लौटने का पूरा भरोसा था। इसके लिए सरकार का धन्यवाद। वहीं उनकी मां ने कहा कि हम बहुत ज्यादा खुश हैं। जो हमारे बेटे को छोड़ रहे हैं, उनका भी धन्यवाद करती हूं। भगवान का भी धन्यवाद करती हूं। जब सरकार की बात हो रही थी तो मुझे थोड़ा भरोसा तो था, परन्तु विश्वास नहीं हो रहा था।

Must Read: एअर इंडिया अब हुई टाटा ग्रुप की, 1932 में टाटा एअर इंडिया के नाम से जेआरडी टाटा ने की थी शुरू

पढें दिल्ली खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :