petroleum companies ने फिर बढ़ाई दाम: केंद्र में मोदी सरकार और देश में महंगाई चर्चा का विषय, पेट्रोलियम कंपनियों ने बढ़ाए रसोई गैस के दाम

केंद्र में मोदी सरकार और देश में महंगाई लगातार चर्चा का विषय बनी हुई है। हालात देखिए पहले सिलेण्डर पर सब्सिडी खाते में देने का झांसा, फिर धीरे धीरे सब्सिडी समाप्त और अब जब मन करें तेल कंपनियां दाम बढ़ा देती है, दाम भी करीब 900 रुपए तक पहुंच गए। ऐसे में सवाल उठता है कि कोई लगाम नहीं या फिर सरकार की ओर से ढील दी जा रही

केंद्र में मोदी सरकार और देश में महंगाई चर्चा का विषय, पेट्रोलियम कंपनियों ने बढ़ाए रसोई गैस के दाम

नई दिल्ली, एजेंसी।
केंद्र में मोदी सरकार(Modi government) और देश में महंगाई (Inflation)लगातार चर्चा का विषय बनी हुई है। हालात देखिए पहले सिलेण्डर पर सब्सिडी खाते में देने का झांसा, फिर धीरे धीरे सब्सिडी समाप्त और अब जब मन करें तेल कंपनियां दाम बढ़ा देती है, दाम भी करीब 900 रुपए तक पहुंच गए। ऐसे में सवाल उठता है कि कोई लगाम नहीं या फिर सरकार की ओर से ढील दी जा रही है! ऐसे ही हाल पेट्रोल—डीजल(petrol-diesel) के हैं। देश की मासूम जनता को पेट्रोल डीजल पर रोजाना की कीमत में दाम कम होने का झांसा दिया,इसके बाद 15 पैसे कम करते और 80 पैसे की बढ़ोतरी की जाती, हाताल यह हो गए कि पेट्रोल 110 तो डीजल 100 रुपए के करीब तक पहुंच गया। 
रसोई गैस पर आज फिर बढ़े 25 रुपए 
हालात यह है कि महंगाई कम होने का नाम ही नहीं ले रही। बुधवार को पेट्रोलियम कंपनियों(petroleum companies) ने एक बार फिर रसोई गैस के दाम बढ़ा दिए। महज 15 दिनों में दूसरी बार कंपनियों ने रसोई गैस के दाम बढ़ाए है। कंपनियों ने बुधवार को रसोई गैस(Gas)की कीमतों में 25 रुपए प्रति सिलेंडर, जबकि कॉमर्शियल उपयोग के सिलेंडर की कीमतों में 75 रुपए की बढ़ोतरी कर दी। इस बढ़ोतरी के बाद आज से रसोई गैस 863.50 रुपए की जगह 888.50 रुपए में मिलेगी, जबकि कॉमर्शियल सिलेंडर (Commercial Cylinder)1640 रुपए के स्थान पर 1715 रुपए में मिलेगा। तेज कंपनियों की मनमर्जी देखों साल 2021 की शुरूआत से लेकर अब तक रसोई गैस के दाम 7वीं बार बढ़ा दिए। अभी 16 अगस्त को भी कंपनियों ने 25 रुपए घरेलू सिलेंडर की कीमतों में बढ़ाए थे। एक जुलाई को भी कंपनियों ने रसोई गैस की कीमतों में 25.50 रुपए प्रति सिलेंडर बढ़ाए थे। 
कोरोना काल में 306 रुपए बढ़ा दिए कंपनियों ने
तेल कंपनियों की मनमर्जी का आलम देखिए कोरोना काल में लॉकडाउन(lockdown) के दौरान रसोई गैस पर 306 रुपए बढ़ा दिए। दाम में बढ़ोतरी के साथ ही सब्सिडी तक बंद कर दी। मई 2020 से सिलेण्डर पर दी जाने वाली सब्सिडी नहीं मिल रही है। 15 माह में कंपनियों ने करीब 306 रुपए बढ़ा दिए।

31 रुपए का पेट्रोल 108 रुपए में 
रसोई गैस के ही नहीं, पेट्रोल—डीजल(petrol-diesel) के दाम भी लगातार बढ़ाए जा रहे है। राजधानी जयपुर में पेट्रोल 108 रुपए 27 पैसे और डीजल 97 रुपए 91 पैसा मिल रहा है। वहीं इससे पहले देशभर में पेट्रोल-डीजल की कीमत में लगातार इजाफा देखने को मिल रहा था। इस साल के 8 महीनों में जहां पेट्रोल की कीमत 20 रुपए से ज्यादा बढ़ चुकी है। वहीं डीजल 19 रुपए महंगा हो गया है। आप को बता दें कि ​अंतरराष्ट्रीय बाजार(International Market) में कच्चे तेल के दाम में लगातार सुस्ती चल रही है, उसके बावजूद केंद्र और राज्य सरकार पेट्रोल —डीजल के दाम लगातार बढ़ा रहे है। गत सप्ताह कच्चे तेल के दाम 65.18 डॉलर प्रति बैरल था। इसका अर्थ है कि भारत को कच्चा तेल(Crude oil) करीबन 31 रुपए लीटर मिल रहा है, उसके बावजूद जनता को 108 रुपए लीटर दिया जा रहा है। 

Must Read: राजस्थान में पटवारी सीधी भर्ती परीक्षा 23 व 24 अक्टूबर को

पढें लाइफ स्टाइल खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :