RPSC भर्तियां विवादों में फिर भी प्रशंसा: Rajasthan में आरएएस सहित कई भर्तियां विवादों में, बावजूद इसके स्टैंडिंग कमेटी की बैठक में RPSC की कार्यप्रणाली व नवाचारों की प्रशंसा

राजस्थान में आरएएस जैसी परीक्षा में धांधली और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के रिश्तेदारों के चयन को लेकर विवादों में आर राजस्थान लोक सेवा आयोग की प्रशंसा हो रही है। आश्चर्य देखों आरएएस परीक्षा हो या फिर उप निरीक्ष भर्ती परीक्षा सब में विवादों में आने के बावजूद  सेवा आयोगों की राष्ट्रीय सम्मेलन की स्टैंडिंग कमेटी में प्रशं

Rajasthan में आरएएस सहित कई भर्तियां विवादों में, बावजूद इसके  स्टैंडिंग कमेटी की बैठक में RPSC की कार्यप्रणाली व नवाचारों की प्रशंसा

जयपुर।
राजस्थान में आरएएस जैसी परीक्षा में धांधली और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के रिश्तेदारों के चयन को लेकर विवादों में आर राजस्थान लोक सेवा आयोग की प्रशंसा हो रही है।
 आश्चर्य देखों आरएएस परीक्षा हो या फिर उप निरीक्ष भर्ती परीक्षा सब में विवादों में आने के बावजूद  सेवा आयोगों की राष्ट्रीय सम्मेलन की स्टैंडिंग कमेटी में प्रशंसा के फूल बरसाए जा रहे है। 
राजस्थान लोक सेवा आयोग अजमेर में संघ लोक सेवा आयोग सहित राज्य लोक सेवा आयोगों की स्टैंडिंग कमेटी की बैठक शुक्रवार को आयोजित की गई।
इस बैठक में भाग लेने आए राज्य लोक सेवा आयोग अध्यक्षों द्वारा आरपीएससी द्वारा किए गए नवाचारों व कार्यप्रणाली की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि राजस्थान लोक सेवा आयोग नवाचारों व सूचना प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में सदैव अग्रणी रहा है। 
आरपीएससी की ऑन स्क्रीन मार्किंग प्रणाली की प्रशंसा पूर्व में भी की जा चुकी है। वादकरण को कम करने की दिशा में अभ्यर्थी परिवेदना पोर्टल व प्री-लिटिगेशन कमेटी के माध्यम से आयोग द्वारा सराहनीय प्रयास किए गए हैं।
आरपीएससी ने वर्तमान युग की आवश्यकताओं के अनुरूप नवीनतम टेक्नोलॉजी को अपनी कार्यशैली में समाहित करते हुए आयोग को हाई-टेक बनाया है।


इस बैठक में मुख्य अतिथि संघ लोक सेवा आयोग अध्यक्ष डॉ. प्रदीप कुमार जोशी वर्चुअल माध्यम से उपस्थित हुए। जोशी ने कहा कि नेशनल कांफ्रेंस विभिन्न मुद्दों पर चर्चा करने के साथ संघ लोक सेवा आयोग व राज्य लोक सेवा आयोगों की सर्वाेत्तम प्रक्रियाओं को साझा करने का मंच प्रदान करता है। 
स्टैंडिंग कमेटी अध्यक्ष डॉ. दिनेश दासा ने कहा कि बैठक में आयोगों की विभिन्न समस्याओं एवं भर्ती प्रक्रियाओं पर भी चर्चा की गई। इस दौरान राजस्थान लोक सेवा आयोग के अध्यक्ष डॉ शिव सिंह राठौड़ ने कहा कि इस बैठक के माध्यम से आयोग द्वारा किए गए नवाचारों से आपका परिचय होगा। 
इसके माध्यम से हम सभी निकट भविष्य में अपनी प्रक्रियाओं को और परिष्कृत बना सकेंगे। आयोग समय पर परीक्षा, समय पर साक्षात्कार व समय पर परिणाम का लक्ष्य लेकर सफलता पूर्वक आगे बढ़ रहा है।
आयोग अध्यक्ष राठौड़ ने कहा कि भर्ती प्रक्रियाओं में अनावश्यक विलंब का एक प्रमुख कारण अनावश्यक वादकरण है। आयोग द्वारा इसके लिए प्री लिटिगेशन कमेटी व अभ्यर्थी परिवेदना पोर्टल के नवाचार किए गए हैं। 
विज्ञापन से लेकर परिणामों तक की प्रक्रिया के संवर्धन की दिशा में प्रयास कर आयोग द्वारा संशोधित एसओपी व संशोधित मैन्यूअल का निर्माण किया गया है। 
इनके माध्यम से प्रक्रियागत दोषों के कारण होने वाले वादकरण न्यून हो सकेंगे। साथ ही अभ्यर्थियों को रोजगार के अवसर शीघ्रता से प्रदान किए जा सकेंगे।
बैठक के समापन समारोह को संबोधित करते हुए डॉ. राठौड ने कहा कि आज के युग में बेरोजगार अभ्यर्थियों को उनकी योग्यतानुसार रोजगार के अवसर मुहैया कराना सबसे बडी सेवा है। 
राजस्थान लोक सेवा आयोग के नवाचारों को स्टैंडिग कमेंटी ने नेशनल कांफ्रेंस के एजेंडे में शामिल करने का निर्णय लिया है।
इसके माध्यम से आयोग के नवाचार राष्ट्रीय स्तर पर प्रदर्शित किए जाएंगे एवं अन्य राज्य लोक सेवा आयोग द्वारा भी इन्हें अपनाया जाएगा। 
बैठक की शुरुआत से पूर्व संक्षिप्त समारोह में राज्य लोक सेवा आयोग अध्यक्षों का स्वागत किया गया। इस दौरान आयोग सदस्य राजकुमारी गुर्जर, रामू राम राईका, संगीता आर्य, जसवंत राठी,बाबू लाल कटारा, व डॉ मंजू शर्मा द्वारा अतिथियों का अभिनंदन किया गया।

Must Read: राजस्थान छात्रसंघ चुनाव की तारीख का ऐलान, जानें चुनाव का पूरा कार्यक्रम

पढें लाइफ स्टाइल खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :