Canada @ कोरोना वैक्सीन को लेकर फैसला: कनाडा में 5 से 11 साल के बच्चों को कोरोना से बचाव को लगाई जाएगी फाइजर वैक्सीन, 8 सप्ताह के अंतर में लगेगी दोनों डोज

विदेशों में कोविड 19 के बढ़ते असर को देखते हुए विदेशी सरकारों ने छोटे बच्चों को भी कोरोना टीका लगाने का निर्णय कर लिया। कई देशों ने छोटे बच्चों के लिए कम मात्रा की डोज बच्चों को देने का निर्णय करते हुए वैक्सीन लगाने का ऐलान किया। कनाडा में बच्चों को सुरक्षित रखने के लिए 5 से 11 साल के बच्चों को फाइजर वैक्सीन की दो डोज

कनाडा में 5 से 11 साल के बच्चों को कोरोना से बचाव को लगाई जाएगी फाइजर वैक्सीन, 8 सप्ताह के अंतर में लगेगी दोनों डोज

नई दिल्ली,एजेंसी। 
विदेशों में कोविड 19 के बढ़ते असर को देखते हुए विदेशी सरकारों ने छोटे बच्चों को भी कोरोना टीका लगाने का निर्णय कर लिया। कई देशों ने छोटे बच्चों के लिए कम मात्रा की डोज बच्चों को देने का निर्णय करते हुए वैक्सीन लगाने का ऐलान किया। कनाडा में बच्चों को सुरक्षित रखने के लिए 5 से 11 साल के बच्चों को फाइजर वैक्सीन की दो डोज लगाने की मंजूरी दे दी है। इस वैक्सीन की ​बच्चों के लिए क्लिनिकल ट्रायल के लिए एप्लिकेशन भेजी थी। 16 से 25 साल के आयु वर्ग में वैक्सीन का जो प्रभाव था,वहीं प्रभाव 5 से 11 साल के एज ग्रुप में देखने को मिला। कनाडा स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी के मुताबिक ट्रायल का रिव्यू करने के बाद बच्चों को भी वैक्सीनेशन की मंजूरी दी गई। 5 से 11 साल के बच्चों में यह वैक्सीन करीबन 90 फीसदी तक प्रभावी पाई गई। वहीं बच्चों में कोई साइड इफेक्ट भी नहीं देखे गए। 

बच्चों के लिए गाइडलाइंस जारी
कनाडा के स्वास्थ्य विभाग ने बच्चों के लिए गाइड लाइन जारी की है। इसमें 5 से 11 साल के बच्चों के लिए फाइजर वैक्सीन की दो डोज लगाई जाएगी।, बच्चों को लगाई जाने वाली दोनों डोज में आठ सप्ताह का अंतर रहेगा। वयस्कों में इसकी 30 एमसीजी की डोज दी गई ,जबकि छोटे बच्चों में यह 10 एमसीजी की डोज लगाई जाएगी। इसके साथ ही अगर बच्चे को कोरोना हो चुका है तो उसे मौजूदा मानकों के आधार पर संक्रमित नहीं होने पर डोज दी जाएगी। इसके अलावा बच्चों के वैक्सीनेशन तथा उसके प्रभाव पर मॉ​नि​टरिंग की जाएगी। 
कनाडा में 75 प्रतिशत वैक्सीनेटेड 
कनाडा स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक यहां की करीबन 75 प्रतिशत जनता वैक्सीनेटेड हो चुकी हैं। इसमें 84 प्रतिशत 12 साल से उपर के हैं। कनाडा के अलावा इजराइल तथा अमेरिका में भी बच्चों में फाइजर वैक्सीन लगाने को मंजूरी दे दी गई है। इनके अलावा चीन, कम्बोडिया, यूएई, कोलंबिया में भी 12 साल से कम उम्र के बच्चों को वैक्सीनेशन किया जा रहा है। गौरतलब है कि पहले 16 साल से उपर के बच्चों को फाइजर लगाने की मंजूरी दी गई थी, इसके बाद 12 से 15 साल तथा अब 5 से 11 साल के बच्चों को भी फाइजर वैक्सीन लगाने की मंजूरी दे दी गई। 

Must Read: श्रीलंका को मिला नया राष्ट्रपति, रानिल विक्रमसिंघे को 134 सांसदों ने दिया वोट

पढें विश्व खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :