जान की हिफाजत मांग रहा नेवी का सिपाही: हक के लिए आवाज उठाई तो मिल गया शांति भंग करने की चेष्टा में पाबंदी का नोटिस

आबू पर्वत के तोरणा का 43 वर्षीय जोगेन्द्र सिंह पुत्र जुगल किशोर जाट भी अपने परिजनों की साजिश का शिकार हो चुका हैं। साजिश भी ऐसी कि जब उसने आवाज उठाने की हिमाकत की तो उसके खिलाफ शांति भंग करने की चेष्टा करने का नोटिस जारी कर उसे पाबंद करने की तैयारियां शुरू हो गई।

हक के लिए आवाज उठाई तो मिल गया शांति भंग करने की चेष्टा में पाबंदी का नोटिस
सिरोही। सरकारें भले ही आंकड़ों की बाजीगरी दिखाकर अपने प्रदेशों में कानून व्यवस्था का इकबाल बुलंद करने की बात कहती हो, लेकिन धरातल पर अंजाम इससे जुदा हैं। राजस्थान और गुजरात की सीमा पर आबाद राज्य के एकमात्र पर्वतीय पर्यटन स्थल भी इससे अलग नहीं है। बीते कुछ सालों में यहां पनपे पर्यटन व्यवसाय की आड़ में ऐसी ही आंकड़ों की बाजीगरी ने कई मालिकों को न केवल अर्श से फर्श पर ला दिया हैं, बल्कि यहां माफिया बेखौफ पनप रहा हैं। कमाई का लालच आम इंसान के साथ हो तो एकबारगी समझ में आ जाता हैं, लेकिन नेवी के एक्स सर्विसमैन के साथ अगर कुछ गलत हो तो फिर कानून कायदे ताक में रखे नजर आते हैं। आबू पर्वत के तोरणा का 43 वर्षीय जोगेन्द्र सिंह पुत्र जुगल किशोर जाट भी अपने परिजनों की साजिश का शिकार हो चुका हैं। साजिश भी ऐसी कि जब उसने आवाज उठाने की हिमाकत की तो उसके खिलाफ शांति भंग करने की चेष्टा करने का नोटिस जारी कर उसे पाबंद करने की तैयारियां शुरू हो गई। स्थानीय प्रशासन से मदद के बदले अन्याय मिलता देख अब जोगेन्द्र सिंह ने इस क्रूरता के खिलाफ पुलिस महानिदेशक तक अपनी व्यथा पहुंचाई हैं।
जाेगेन्द्र सिंह का कहना है कि वह अपने परिवार सहित आबूपर्वत पर निवास करता रहा है। उसकी पत्नी रेखा रानी व उसकी बहिन शशि एवं बबली तथा तानाराम गायकवाड निवासी आबूपर्वत व अजय पुत्र जगदीश निवासी आबूपर्वत, राजेश पंजाबी निवासी आबूपर्वत, समीर बाबा निवासी आबूपर्वत, बिहारी लाल पूर्बिया निवासी आबूपर्वत, जगदीश पुत्र लालजी भाई निवासी सूरत करीब दो वर्ष पहले से उसे जान से मारने का प्रयास कर रहे हैं। कई बार उस पर गाड़ी चढ़ाने का प्रयास भी किया गया। इसकी सूचना पूर्व में उसने छीपा बेरी चौकी व आबूपर्वत थाने में भी दी थी। अठारह जून 2021 को जमीन के सौदे के बहाने तानाराम व उसकी पत्नी रेखा रानी के कहने पर समीर उसे गाडी में बिठाकर यासीर भाई के घर भरूच लेके गया, तब उसने जमीन के बारे में पूछा तो बोला कि जमीन नहीं, तुम्हारी सुपारी मिली हैं, जिसकी रकम हमारे खाते में आ गई हैं। वह कहने लगा कि आपकी पत्नी व बच्चे तानाराम गायकवाड के साथ रहना चाहते है और तुम्हें मरवाना चाहते हैं। अब या तो तुम आबूपर्वत छोडकर चले जाओ, नहीं तो तुम जान गंवा दोगे। फिर वह जैसे-तैसे कर जान बचाकर वहां से भाग कर आ गया।
आबू पर्वत पहुंचने के बाद उसने यह घटना पत्नी व बच्चों को बताई तो पत्नी कहने लगी कि ये तो हमें जेल में डलवा देगा। उसने धमकी दी कि अगर तुमने हमारे किसी के भी खिलाफ रिपोर्ट दी तो हम सब मिलकर तुझे पागल घोषित करवा देंगे। कुछ देर बाद ही उसके सिर पर पत्नी ने डंडे से वार किया व तीनों बच्चों ने मुंह में कपड़ा ठूंस दिया। आरोपितों की ओर से रचे गये षडयंत्र में उसकी पत्नी खाने व नाश्ते में नशीली दवाईयां मिलाकर रोजाना देती थी। उसके बाद से उसकी तबीयत खराब रहने लगी। उसे नशे का आदी बताकर आठ सितम्बर 2021 को जबरन फर्जी नशा मुक्ति केन्द्र पलवल हरियाणा में भर्ती करा दिया गया। वहां भी उसके साथ मारपीट कर जानवरों जैसा बर्ताव किया जाता रहा। इस दौरान उसके एटीएम पिन नम्बर जबरन मारपीट कर पूछे गए। उसे एक अप्रैल 2022 तक नशा मुक्ति केन्द्र में रखा गया। इसी दरम्यान उसकी खरीदशुदा सम्पति को बिहारी लाल पूर्विया ने अपने नाम करवा लिया। उसके नशा मुक्ति केन्द्र में रहने के दौरान बिना सहमति पंजाब बैंक के एटीएम से 29 मार्च 2022 तक करीब तीन लाख व यूनियन बैंक के एटीएम से चार दिसम्बर 2021 तक 4 लाख 10 हजार 215 रुपये निकाले गए।

जोगेन्द्र सिंह का कहना है कि इन आरोपितों से उसे जान-माल का खतरा बना हुआ हैं। आरोपित उसकी मेहनत की गाडी कमाई पहले ही हड़प कर चुके हैं। जान की हिफाजत के लिए उसे छिप-छिप कर रहना पड़ रहा है। जोगेन्द्र सिंह पुलिस महानिदेशक को शिकायती पत्र भेजने के बाद नगर पालिका में अपनी खरीदशुदा संपत्ति के दस्तावेजों की नकल मांगने गया तो वहां से उसे टरका दिया गया। इसके अगले ही दिन उपखंड अधिकारी कार्यालय से उसके नाम शांति भंग करने की चेष्टा में उसे पाबंद करने के नाम पर नोटिस जारी कर दिया गया। जोगेन्द्र सिंह का कहना है कि अगर सच्चाई के रास्ते पर चलकर न्याय मांगने का यही परिणाम मिलता है तो भी उसे कबूल हैं, लेकिन वह आरोपितों को उनके मंसूबों में कामयाब नहीं होने देगा।

Must Read: अपेक्स बैंक स्थापित करेगी 11 रेलवे स्टेशनों पर एटीएम, इण्टरनेट एवं मोबाइल बैंकिंग सुविधा शुरू करेगी

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :