Jammu & Kashmir @ गृह मंत्री शाह का दौरा: 210 करोड़ रुपए की लागत से तैयार आईआईटी जम्मू के नए कैंपस का गृहमंत्री शाह ने किया उद्घाटन, कश्मीर में सैन्य जवानों से मुलाकात

Jammu &Kashmir केंद्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री अमित शाह ने अपनी जम्मू-कश्मीर यात्रा के दूसरे दिन आज जम्मू में भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (IIT) के नए कैंपस का उद्घाटन किया। 210 करोड़ रूपये की लागत से बने IIT जम्मू के नए कैंपस में छात्रों की उच्च शिक्षा के साथ-साथ अच्छे छात्रावास, जिमनेज़ियम और इंडोर गेम्स जैसी .....

210 करोड़ रुपए की लागत से तैयार आईआईटी जम्मू के नए कैंपस का गृहमंत्री शाह ने किया उद्घाटन, कश्मीर में सैन्य जवानों से मुलाकात

नई दिल्ली, एजेंसी। 
केंद्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री अमित शाह ने अपनी जम्मू-कश्मीर यात्रा के दूसरे दिन आज जम्मू में भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (IIT) के नए कैंपस का उद्घाटन किया। 210 करोड़ रूपये की लागत से बने IIT जम्मू के नए कैंपस में छात्रों की उच्च शिक्षा के साथ-साथ अच्छे छात्रावास, जिमनेज़ियम (Gymnasium) और इंडोर गेम्स जैसी सभी सुविधाएँ उपलब्ध हैं। अमित शाह ने जम्मू-कश्मीर की विभिन्न विकास परियोजनाओं का उद्घाटन व शिलान्यास भी किया। इस अवसर पर जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा, केन्द्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान और प्रधानमंत्री कार्यालय में राज्यमंत्री  जितेंद्र सिंह समेत अनेक गणमान्य व्यक्ति भी उपस्थित थे।
अमित शाह ने कहा कि आज एक पवित्र दिन है, पंडित प्रेमनाथ डोगरा का जन्मदिन है और सिर्फ़ जम्मू ही नहीं बल्कि पूरे भारत के लोग प्रेमनाथ डोगरा को कभी भुला नहीं सकते। ये वो महान शख़्सियत थी जिन्होंने प्रजा परिषद की स्थापना करके, श्यामा प्रसाद जी के साथ, एक देश में दो निशान, दो विधान और दो प्रधान नहीं चलेंगे, का नारा दिया। अमित शाह ने कहा कि अब जम्मू निवासियों के साथ अन्याय का समय समाप्त हो गया है और अब कोई आपके साथ अन्याय नहीं कर सकता। आपने सालों तक अन्याय झेला है लेकिन अब जम्मू और कश्मीर का विकास एक साथ होगा और दोनों मिलकर भारत को आगे बढ़ाने के लिए एक साथ प्रयत्न करेंगे। उन्होंने कहा कि आज यहां पर जो विकास का युग शुरू हो रहा है, इसमें ख़लल पहुंचाने वाले ख़लल डाल रहे हैं। लेकिन मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि जम्मू-कश्मीर के विकास को कोई रोक नहीं पाएगा।


जम्मू कश्मीर में 7 नए मेडिकल कॉलेज 
अमित शाह ने कहा कि एक ज़माना था जब जम्मू कश्मीर में सिर्फ़ चार मेडीकल कॉलेज थे और आज जम्मू कश्मीर में सात नए मेडीकल कॉलेज की स्थापना हो चुकी है, जिनमें से पांच शुरू हो चुके हैं। पहले 500 मेडीकल की सीटें थी, अब 2000 छात्र यहां से एमबीबीएस कर सकते हैं और किसी को कहीं जाने की ज़रूरत नहीं है। आज जिस आईआईटी के कैपंस का उद्घाटन यहां हुआ है वैसा आधुनिक आईआटी का कैंपस मैंने नहीं देखा। आईआईटी, आईआईएम और एम्स तीनों संस्थान मिलकर नए प्रकार के कोर्स की रचना करके एक दूसरे के पूरक कैसे बनेंगे, इसकी भी चिंता की गई है। सैटेलाइट कैंपस खोलकर जम्मू-कश्मीर के बच्चों की ट्रेनिंग पर भी बात हुई जिससे ज़्यादा से ज़्यादा जम्मू-कश्मीर के बच्चों का दाख़िला आईआईटी में हो जाए। केन्द्रीय गृह मंत्री ने कहा कि अगर 45 हज़ार युवा जम्मू कश्मीर के ग़रीबों की सेवा में लगते हैं, तो दहशतग़र्द कुछ नहीं बिगाड़ सकते और ये युवा देखते देखते जम्मू-कश्मीर को बदल देंगे। इसके अलावा 25 हज़ार सरकारी नौकरियां सर्विस सेलेक्शन बोर्ड द्वारा दे दी गई हैं जिनमें से 7 हज़ार लोगों को अलग-अलग नियुक्ति पत्र आज इसी मंच पर दिए गए हैं।
2022 से पहले 51 हजार करोड़ रुपए का निवेश
अमित शाह ने कहा कि निवेश के चलते 5 लाख नए रोज़गार उत्पन्न होने वाले हैं। अब तक जम्मू में सात हज़ार और कश्मीर में पांच हज़ार करोड़ के निवेश का भूमि का आवंटन कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि मोदी जी का कमाल है कि अब तक 12 हज़ार करोड़ रूपए का निवेश आ गया है और 2022 से पहले 51 हज़ार करोड़ का निवेश आ जाएगा। इससे जम्मू के 5 लाख युवाओं को नौकरी मिलेगी। नौ मेडीकल कॉलेज, 15 नर्सिंग कॉलेज, आईआईटी, एनआईटी, आईआईएम, निफ़्ट, आईआईएमसी, दो कैंसर इंस्टीट्यूट, पॉलीटेक्नीक, बीएससी नर्सिंग कॉलेज जैसे ढेर सारे संस्थान यहां बनाए और शुरू किए गए हैं। शाह ने कहा कि तीन परिवारवालों ने मुझसे सवाल पूछा कि यहां की जनता को क्या देकर जाएंगे।


अमित शाह ने जम्मू के मकवाल में बॉर्डर आउट पोस्ट पर जाकर बीएसएफ के जवानों से भेंट कर उनके साथ कुछ समय बिताया। शाह ने कहा कि भारत की रक्षा के प्रति हमारे सुरक्षा प्रहरियों का समर्पण सचमुच अद्भुत है। समस्त देशवासियों की ओर से अपने सुरक्षाबलों की बहादुरी को नमन कर कृतज्ञता व्यक्त करता हूँ।

Must Read: शेखावत ने हरे किए पायलट की बगावत के घाव, शेखावत ने पायलट का नाम लेकर फिर कही बड़ी बात

पढें राजनीति खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :