Indian Army सशस्त्र सेना झण्डा दिवस : देश की सीमाओं की रक्षा करने वाले जांबाज Soldiers के कल्याण के लिए Governor और CM ने की अंशदान करने की अपील

सशस्त्र सेना झंडा दिवस के अवसर पर राज्यपाल कलराज मिश्र और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने प्रदेशवासियों से देश की सीमाओं की रक्षा करने वाले जांबाज सैनिकों के लिए मदद की अपील की।

देश की सीमाओं की रक्षा करने वाले जांबाज  Soldiers के कल्याण के लिए Governor और CM ने की अंशदान करने की अपील

जयपुर।
सशस्त्र सेना झंडा दिवस के अवसर पर राज्यपाल कलराज मिश्र और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने प्रदेशवासियों से देश की सीमाओं की रक्षा करने वाले जांबाज सैनिकों के लिए मदद की अपील की। 
राज्यपाल  कलराज मिश्र से सशस्त्र सेना झण्डा दिवस पर मंगलवार को राजभवन में सैनिक कल्याण विभाग के निदेशक ब्रिगेडियर (से.नि.) वीरेन्द्र सिंह राठौड़ ने मुलाकात की।
राज्यपाल मिश्र को इस अवसर पर राठौड़ ने झण्डा लगाकर सहयोग राशि प्राप्त की। 
राज्यपाल मिश्र ने सशस्त्र  सेना झण्डा दिवस पर देश के बहादुर जवानों और उनके परिजनों का आभार प्रकट किया। 
उन्होंने देश की एकता और अखण्डता की रक्षा के लिए प्राणोत्सर्ग करने वाले शहीदों को नमन भी किया। 
राज्यपाल ने इस अवसर पर कहा कि हम सभी को सशस्त्र सेना झण्डा कोष में योगदान देकर सेनाओं के प्रति सम्मान प्रकट करना चाहिए।  

सीएम गहलोत का सहयोग करने का आह्वान
इधर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी यथासंभव सहयोग करने का आह्वान किया है। 
गहलोत सेे भी मुख्यमंत्री निवास पर सैनिक कल्याण विभाग के निदेशक एवं ब्रिगेडियर वी.एस. राठौड ने मुलाकात की और  सीएम को प्रतीकात्मक झण्डा (बैज) लगाया। 
मुख्यमंत्री ने अपनी ओर से सैनिकों एवं उनके परिवारजनों के लिए अंशदान किया। 
गहलोत ने कहा कि यह दिवस देश के लिए अपना सर्वस्व न्यौछावर करने वाले हमारे बहादुर सैनिकों तथा शहीदों के परिजनों के प्रति सदैव सम्मान का भाव रखने का सुअवसर प्रदान करता है।
मुख्यमंत्री निवास पर उपस्थित राज्य मंत्रीरिषद् के अन्य सदस्यों तथा पूर्व केन्द्रीय मंत्री अजय माकन ने भी इस अवसर पर सैनिकों एवं उनके परिवारजनों के लिए अंशदान किया।

Must Read: जालोर के नर्मदा पेयजल सप्लाई यूनिट के एईएन राजेश कुमार आर्य और उनके भाई—बहन बतौर कोरोना वॉरियर्स लोगों को कर रहे हैं जागरूक

पढें लाइफ स्टाइल खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :