गहलोत सरकार के लापरवाह मंत्री : कोरोना गाइड लाइन को लेकर सरकार सजग,लेकिन सरकार के मंत्री और विधायक लापरवाह, सिरोही जिला प्रभारी मंत्री भाया सहित जनप्रतिनिधियों ने लोगों को ​दी नियमों की सीख, स्वयं नियमों का करते रहे उल्लंघन

 ऐसा लगता हैं मानो कोरोना सिर्फ आम आदमी को ही संक्रमित करता हैं, मंत्री और नेताओं से कोरोना भी शायद दूरी बनाए हुए हैं। तभी तो प्रदेश की गहलोत सरकार में गौपालन एवं खान राज्य मंत्री प्रमोद जैन भाया जब दो दिवसीय दौरे पर सिरोही पहुंचे तो ना तो उन्होंने मास्क लगाया और ना ही उनके साथ मौजूद अन्य नेताओं ने...

कोरोना गाइड लाइन को लेकर सरकार सजग,लेकिन सरकार के मंत्री और विधायक लापरवाह, सिरोही जिला प्रभारी मंत्री भाया सहित जनप्रतिनिधियों ने लोगों को ​दी नियमों की सीख, स्वयं नियमों का करते रहे उल्लंघन
मंत्री जी ना तो मास्क और ना ही सोशल डिस्टेंसिंग...

सिरोही।
 ऐसा लगता हैं मानो कोरोना सिर्फ आम आदमी को ही संक्रमित करता हैं, मंत्री और नेताओं से कोरोना भी शायद दूरी बनाए हुए हैं। तभी तो प्रदेश की गहलोत सरकार में गौपालन एवं खान राज्य मंत्री प्रमोद जैन भाया जब दो दिवसीय दौरे पर सिरोही पहुंचे तो ना तो उन्होंने मास्क लगाया और ना ही उनके साथ मौजूद अन्य नेताओं ने मास्क पहनने की जरूरत समझी।

मंत्री प्रमोद जैन भाया ने अपने दो दिवसीय सिरोही प्रवास के दौरान करीब दर्जन भर से ज्यादा कार्यक्रमों में शिरकत की। लेकिन एक भी जगह पर उन्होंने मास्क नहीं पहना। मंत्री जी के सभी कार्यक्रमों में कोरोना गाइडलाइन की खुलेआम धज्जियां उड़ती दिखाई दी।

मंत्री जी के कार्यक्रमों भीड़ दिखाई दें, इसके लिए स्थानीय नेताओं ने अपने अपने क्षेत्र से ज्यादा से ज्यादा लोगों को इकट्ठा करने की कोशिश की,जिसको लेकर कार्यक्रमों में सोशल  डिस्टेंसिंग की भी सरेआम धज्जियां उड़ती देखी गई।

गाइडलाइन की पालना नहीं तो आम जनता पर जुर्माना


राज्य सरकार द्वारा जारी कोरोना गाइड लाइन की पालना में कहीं कोई लापरवाही दिखाई दे तो तुरन्त चालान काटकर जुर्माना वसूला जाता हैं। पर उसी राज्य सरकार के मंत्री अगर कोरोना गाइडलाइन का पालन नहीं करें तो जिम्मेदार अधिकारी चालान काटना तो दूर टोकना तक मुनासिब नहीं समझते।

ऐसे में सवाल क्या कोरोना सिर्फ आम आदमी को ही संक्रमित करता हैं? लाजमी है। क्या इन नेताओं और मंत्रियों को कोरोना से कोई खतरा नहीं हैं? आम आदमी बिना मास्क घूमे तो वो संक्रमण को फैलाता हैं, और नेता और मंत्री बिना मास्क घूमे तो क्या वेक्सिनेशन का काम करते हैं? यहां आप को बता दें कि राजसमंद से विधायक रही किरण माहेश्वरी की मौत कोरोना के चलते हुए थी। वहीं खुद मंत्री प्रमोद जैन भाया भी 22 दिसम्बर को आई कोरोना रिपोर्ट में कोरोना संक्रमित हो चुके हैं। इसके बावजूद मंत्री द्वारा सार्वजनिक स्थलों पर मास्क नही पहनना घोर लापरवाही की श्रेणी में आता हैं।

मंत्री जी बोले "कोरोना गाइडलाइन की हो सख्ती से पालना"

सिरोही जिले के प्रभारी मंत्री प्रमोद जैन भाया जब अपने दो दिवसीय दौरे पर सिरोही पहुंचे तो उन्होंने राज्य सरकार की फ्लैगशिप योजनाओं को लेकर जिला स्तरीय अधिकारियों की बैठक ली। कृषि विभाग के आत्मा सभागार में आयोजित इस पूरी बैठक में मंत्री प्रमोद जैन भाया बिना मास्क लगाए बैठे नज़र आए। साथ ही जिलाधिकारियों को स्पष्ट निर्देश देते हुए मंत्री ने कहा कि प्रदेश में कोरोना का ग्राफ लगातार बढ़ता जा रहा हैं। जिसको लेकर राज्य सरकार ने नई गाइडलाइन जारी की हैं। सरकार की इस गाइडलाइन का कड़ाई से पालन हो इसके लिए जिलाधिकारियों को जिम्मेदारी भी सौंपी। पर खुद मंत्री जी इस बैठक में गाइडलाइन की पालना करना भूल गए। बैठक के दौरान जिलाधिकारी भी एक दूसरे से सटकर बैठे नज़र आए। यहां भी सोशल डिस्टेंस नजर नहीं आई। जिससे कोरोना गाइडलाइन का महत्वपूर्ण नियम सोशल डिस्टेंसिंग हवा हवाई होते नज़र आया।

मंत्री प्रमोद भाया ने इन कार्यक्रमों में की शिरकत

प्रभारी मंत्री प्रमोद जैन भाया ने अपने दो दिवसीय दौरे के दौरान करीब दर्जन भर कार्यक्रमो में शिरकत की। जिसमें 22 मार्च को मेर-माण्डवाड़ा के नवनिर्मित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र का उद्घाटन, फ्लैगशिप योजना को लेकर जिलाधिकारियों की बैठक, सिलिकोसिस जागरूकता अभियान वैन को हरी झंडी, गार्गी पुरस्कार से सम्मानित बालिकाओ को स्कूटी वितरण, माउंट आबू नगरपालिका की एकल खिड़की के उद्घाटन, माउंट आबू होटल एसोसिएशन की बैठक में भाग लिया। वहीं 23 मार्च को माउंट आबू के रोज गार्डन का उद्घाटन, नक्की झील क्षेत्र में फ्री वाई फाई जोन का शुभारम्भ, ओरिया ग्राम पंचायत का कार्य्रकम, देलवाड़ा जैन मंदिर में दर्शन, आबूरोड़ स्थित ब्रह्माकुमारीज संस्थान की दिवगंत दादी को श्रद्धांजलि, आबूरोड़ स्थित एक निजी होटल में कांग्रेस कार्यकर्ताओं की बैठक में भाग लिया। इन सभी कार्यक्रमों में मंत्री जी ने मास्क नही पहनकर सरकारी गाइडलाइन की सरेआम धज्जियां उड़ाई।

Must Read: साधु-संतों को लेकर भरतपुर फिर चर्चा में! अब पेड़ से झुलता मिला महंत का शव, ग्रामीणों में आक्रोश

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :