राम मंदिर निर्माण: गौ भक्त लादुलाल पितलिया ने अयोध्या राम मंदिर निर्माण हेतु 4100000 निधि समर्पण किया

हरी सेवा सनातन आश्रम में श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र निधि समर्पण अभियान के तहत  दोपहर 1:00 बजे कार्यक्रम में मंचासीन अतिथि के रुप में विद्या भारती क्षेत्रीय संगठन मंत्री एवं अखिल भारतीय केंद्रीय प्रबंध समिति के सदस्य शिवप्रसाद भाई साहब पूज्य महन्त मोहन शरण महाराज निंबार्क आश्रम पूज्य संत

गौ भक्त लादुलाल पितलिया ने अयोध्या राम मंदिर निर्माण हेतु 4100000 निधि समर्पण किया

Jaipur | हरी सेवा सनातन आश्रम में श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र निधि समर्पण अभियान के तहत  दोपहर 1:00 बजे कार्यक्रम में मंचासीन अतिथि के रुप में विद्या भारती क्षेत्रीय संगठन मंत्री एवं अखिल भारतीय केंद्रीय प्रबंध समिति के सदस्य आदरणीय शिवप्रसाद भाई साहब पूज्य महन्त मोहन शरण महाराज निंबार्क आश्रम पूज्य संत माया राम हरि सेवा उदासीन आश्रम, पूज्य संत देवादास महाराज सिद्ध बली बालाजी मंदिर गायत्री मन्दिर के पास एवं विभाग संघचालक चांदमल सोमानी महानगर संघचालक  कैलाश खोईवाल अभियान के प्रांतीय सदस्य अशोक जी कोठारी थे मंचासीन अतिथियों द्वारा कार्यक्रम की शुरुआत में राम जी के चित्र पर दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम की शुरुआत कि तत्पश्चात सभी अतिथियों का प्रभु श्री राम का भगवा उपरना पहनाकर स्वागत किया गया। विजय महामंत्र श्री राम जय राम जय जय राम वि.हि.प ज़िला मंत्री विजय ओझा ने किया।

सभी को संबोधित करते हुए मुख्य वक्ता  शिवप्रसाद जी  ने कहा कि 1528 ई.पूर्व  भारत की भूमि पर आक्रांताओ ने अयोध्या की भूमि पर जन जन के आराध्य देव प्रभु श्री राम जी के मंदिर को तोड़ा गया व उसी स्थान पर बाबरी ढांचा का निर्माण किया । तभी से ही जन्म भूमि को मुक्त कराने के लिए 76 बार रामभक्तो ने अपने आराध्य देव के लिए संघर्ष किया। जिसमें 4 लाख से भी अधिक राम भक्तों ने अपने प्राणों की आहुति दी तत्पश्चात सन 1984 को जन्म स्थान का मामला न्यायालय में प्रारंभ हुआ तभी से ही संतो के आव्हान पर विश्व हिंदू परिषद के सतत प्रयासों से हमने 9 नवंबर 2019 को ऐतिहासिक फैसला सभी कारसेवकों के बलिदान व सभी राम भक्तों की ताकत से हमारे पक्ष में आया उसके बाद दूसरी खुशी 5 अगस्त 2020 को सरसंघचालक माननीय मोहनराव भागवत यशस्वी प्रधानमंत्री नरेंद्र जी मोदी एवं भारत देश के प्रमुख परम पूज्य संत महात्माओं के कर कमलों से भूमि पूजन का कार्य प्रारंभ हुआ। मंदिर को बनने में लगभग 3.5 साल वर्ष लगेंगे। वर्तमान में निर्माण का कार्य एल एन टी ने अपने हाथों में लिया है व मंदिर वास्तु शास्त्र के अनुसार इसके लिए  प्रख्यात सोमपुरा जी कार्य देख रहे है। उन्होंने कहा कि सभी रामभक्तो से शुद्ध मन के साथ निधि समर्पण करे इस हेतु आह्वान किया गया। तत्पश्चात गौ भक्त आदरणीय लादूलाल पितलिया द्वारा 4100000 की धन राशि निधि समर्पण पूज्य संतों के समक्ष भेंट की गई। अखबार में अपना नाम नही प्रकाशित करने वाले प्रथम राम भक्त ने 11 लाख व दूसरे राम भक्त ने 5 लाख की निधि समर्पण नाम नही देने की शर्त पर   किये गए।साथ ही कहा हैं की सब कुछ राम का ही हैं सो नाम कैसा साथ ही पधारें राम भक्त कैलाश काबरा 111111 ललितअग्रवाल 221000 रतन गर्ग 100000    वीरेंद्र लोढ़ा 221000 सोहन वैष्णव 111111 श्याम भट 100000  लादू राम गाँधी 141000 सुर्य प्रकाश नाथानी 100000 भवानी शंकर शर्मा 111111 डॉ सुरेश भदादा 100000 मालू हॉस्पिटल 100000 बाल कृष्ण बनवारी लाल द्वार 125000 सभी रामभक्तो ने निधि समर्पण राशि भेट की गई। अंत मे आशीर्वचन पूज्य संत मोहन शरण जी महाराज ने कहा कि आज तीन शक्तियां का मिलन हो रहा ह  औऱ ये शक्तियां हैं सुपात्र जन,सुन्दर मन औऱ अमूल्य धन ,प्रान्त अभियान के सह प्रमुख रवीन्द्र जाजू ने बताया कि 30 जनवरी तक सभी श्री समृद्धि वालों से सम्पर्क होगा फिर 31 जनवरी से 15 फरवरी तक घर घर निधि एकत्र करने टोलिया जाएगी,कार्यक्रम  में विवेकानंद केंद्र के राजस्थान के प्रभारी  भगवान सिंह औऱ रायपुर सरपंच इंजीनियर रामेश्वर लाल छीपा सहित व्याख्याता डॉ शंकरलाल माली,राकेश असावा सहित गणमान्य उपस्थित थे। धन्यवाद महानगर सयोजक ओम बुलिया ने दिया। कार्यक्रम का संचालन विभाग अभियान प्रमुख शिव कुमावत ने किया।

Must Read: ज्ञानव्यापी मस्जिद का सर्वे पूरा, शिवलिंग मिलने के बाद कोर्ट का आदेश, केवल 20 लोग ही कर सकेंगे नमाज अदा 

पढें अध्यात्म खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :