ट्विटर की मनमानी: भारत के गृहमंत्री, आईटी मंत्री के बाद अब सामाजिक कार्यकर्ता  प्रशांत भूषण का ट्विटर ने किया अकाउंट ब्लॉक

भारत में सोशल मीडिया प्लेटफार्म ट्विटर हैंडल की मनमर्जी दिन ब दिन बढ़ती जा रही है। भारत के गृह मंत्री अमित शाह, कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद और भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा के बाद अब ट्विटर हैडंल ने सामाजिक कार्यकर्ता और एडवोकेट प्रशांत भूषण का अकाउंट ब्लॉक कर दिया।

भारत के गृहमंत्री, आईटी मंत्री के बाद अब सामाजिक कार्यकर्ता  प्रशांत भूषण का ट्विटर ने किया अकाउंट ब्लॉक

नई दिल्ली। 
भारत में सोशल मीडिया प्लेटफार्म ट्विटर हैंडल (Social media Twitter) की मनमर्जी दिन ब दिन बढ़ती जा रही है। भारत के गृह मंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah) , कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद (Law Minister Ravi Shankar Prasad) और भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा (BJP spokesperson Sambit Patra)  के बाद अब ट्विटर हैडंल ने सामाजिक कार्यकर्ता और एडवोकेट प्रशांत भूषण (Social worker Prashant Bhushan) का अकाउंट ब्लॉक कर दिया।

बताया जा रहा है कि माइक्रोब्लॉगिंग साइट (microblogging site) ने वैक्सीनेशन पर किए गए प्रशांत भूषण के ट्वीट को मिसलीडिंग (misleading) बताया और उनके अकाउंट को 12 घंटे के लिए ब्लॉक कर दिया। प्रशांत भूषण ने सोमवार की शाम 6.20 बजे एक ट्वीट किया था। इसमें कहा गया था कि कोविड वैक्सीन पर अपने विचार रखने के कारण मुझ पर कई लोगों ने जुबानी हमला किया। मैं कुछ दस्तावेज पेश कर रहा हूं। इन कारणों से ही मेरे मन में वैक्सीन को लेकर भ्रम है। वैक्सीन का ट्रायल न किया जाना और उसके गंभीर नतीजों के अलावा में अपने विचारों को सेंसर किए जाने से भी चिंतित हूं। ट्विटर ने न सिर्फ प्रशांत भूषण के ट्वीट पर मिसलीडिंग का लोगो लगाया, बल्कि वहां एक लिंक जनरेट कर दिया। इसे क्लिक करने पर यूजर के सामने वैक्सीन से जुड़ी जानकारियां आ जाती हैं। इसमें बताया गया है कि क्यों हेल्थ एक्सपट्र्स ने ज्यादातर लोगों के लिए वैक्सीन को सुरक्षित बताया है।

ट्विटर की कार्रवाई के बाद प्रशांत भूषण... 
ट्विटर ने प्रशांत भूषण को 12 घंटे के लिए ब्लॉक कर दिया था। ब्लॉक खुलने के बाद मंगलवार सुबह 10.42 बजे प्रशांत भूषण ने एक ओर ट्वीट किया। इसमें उन्होंने कहा कि तो ट्विटर ने मेर ट्वीट को मिसलीडिंग बताया है। मैंने उस ट्वीट में सबूतों के साथ बताया था कि वैक्सीन को लेकर मेरे मन में संदेह क्यों है। इसके बाद भी मुझे 12 घंटे के लिए ब्लॉक कर दिया गया। मैंने पहले भी कहा था कि फार्मा और आईटी कंपनियों के बीच गठजोड़ है। दोनों एक नैरेटिव को लेकर चलते हैं। ट्विटर के एक्शन से ये साबित हो गया है।

Must Read: ब्रह्माकुमारीज संस्थान सेवा का दूसरा नाम, कोरोना मरीजों के स्वास्थ्य के लिए मानसरोवर परिसर में बने आवासीय बिल्डिंग को ही बना दिया कोविड सेंटर, सुविधाएं पांच सितारा होटल जैसी

पढें दिल्ली खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :