Education हाइजीन और स्वच्छता अभियान: Education Department और टाबर सोसायटी प्रदेश की 2400 सरकारी स्कूलों में चलाएगी हाइजीन एवं स्वच्छता अभियान

राजधानी में आज शिक्षा संकुल में शिक्षा मंत्री डॉ. बीडी कल्ला की अध्यक्षता में बैठक आयोजित की गई। बैठक में समग्र शिक्षा के राज्य परियोजना निदेशक डॉ. भंवरलाल व टाबर सोसायटी के प्रतिनिधि रमेश पालीवाल ने स्कूल हाइजीन एजुकेशन प्रोग्राम का एमओयू साइन किया गया।

Education Department और टाबर सोसायटी प्रदेश की 2400 सरकारी स्कूलों में चलाएगी हाइजीन एवं स्वच्छता अभियान

जयपुर। Education Department 
राजधानी में आज शिक्षा संकुल में शिक्षा मंत्री डॉ. बीडी कल्ला की अध्यक्षता में बैठक आयोजित की गई। 
बैठक में समग्र शिक्षा के राज्य परियोजना निदेशक डॉ. भंवरलाल व टाबर सोसायटी के प्रतिनिधि रमेश पालीवाल ने स्कूल हाइजीन एजुकेशन प्रोग्राम का  एमओयू साइन किया गया।
शिक्षा मंत्री डॉ. बीडी कल्ला ने टाबर सोसाइटी और शिक्षा विभाग के बीच हुए एमओयू के बारे में जानकारी दी।
कल्ला ने कहा कि बीमारियों से बचने के लिए स्वच्छता जरूरी है। 
डेटॉल स्कूल हाइजीन एजुकेशन प्रोग्राम के तहत प्रथम चरण में टाबर सोसाइटी द्वारा 5 करोड़ 50 लाख की लागत से 2400 राजकीय विद्यालयों में अभियान चलाया जाएगा।
इसमें बच्चों को खेल व अन्य रोचक गतिविधियों के माध्यम से सफाई का महत्व समझाया जाएगा। 
इसके साथ ही शिक्षकों को भी प्रशिक्षित किया जाएगा। शैक्षणिक व सहशैक्षणिक गतिविधियों द्वारा बच्चों को स्वच्छता का अभ्यास करवाया जाएगा। 
स्वच्छता की कमी से होने वाले रोगों के प्रति बच्चों में जागरूकता लाई जाएगी।


स्वच्छ माहौल में बढ़ती है रोग प्रतिरोधक क्षमता

Education Department 

डॉ. कल्ला ने कहा कि स्वच्छ माहौल से बच्चों की रोग प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि होगी।
इसके साथ ही स्वच्छता की कमी से विभिन्न बीमारियों से ग्रस्त होकर ड्रॉपआउट होने वाले बच्चों की संख्या में भी कमी आएगी।
शिक्षा मंत्री कल्ला ने कहा कि भविष्य में इसका विस्तार प्रदेश के सभी क्षेत्रों में करने की कोशिश की जाएगी।
शिक्षा विभाग के एसीएस पवन कुमार गोयल ने कहा कि टाबर सोसायटी के साथ विभाग के एमओयू का मुख्य उद्देश्य बच्चों में हाईजिन व स्वच्छता के प्रति जागरूकता लाना है।
बच्चे किसी भी मैसेज को घर और समाज तक पहुंचाने का सर्वश्रेष्ठ माध्यम होते हैं।


कोविड परिस्थितियों में बढ़ा स्वच्छता का महत्व
Education Department 

समग्र शिक्षा के राज्य परियोजना निदेशक डॉ भंवर लाल ने कहा की कोविड-19 जनित परिस्थितियों में हाइजीन और सफाई का महत्व बढ़ गया है।
वर्तमान परिस्थितियों में बच्चों की सुरक्षा सबसे आवश्यक है। टाबर सोसायटी का शिक्षा विभाग के साथ किया गया यह एमओयू महत्वपूर्ण है।
समग्र शिक्षा की अतिरिक्त राज्य परियोजना निदेशक डॉ.रश्मि शर्मा ने कहा कि बच्चों को स्वस्थ और प्रसन्न रखने के इस कार्यक्रम में टाबर सोसाइटी को विभाग का पूर्ण सहयोग रहेगा।
कार्यक्रम में शिक्षा विभाग के सभी आला अधिकारी व टाबर सोसायटी के प्रतिनिधि उपस्थित रहे।

Must Read: कालंद्री थाना क्षेत्र में सक्रिय चोरों का गिरोह, दिन दहाड़े सिरोड़की जैन मंदिर को चोरों ने बनाया निशाना  

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :