फस्ट भारत की खबर का असर: जालोर पुलिस अधीक्षक की विशेष टीम ने भीनमाल में अवैध शराब के खिलाफ धरपकड़ अभियान किया शुरू

भीनमाल पुलिस अवैध शराब कारोबारियों के मामले में उदासीन बनी हुई है। पुलिस अधीक्षक ने विशेष टीम भेज कर पूरी कार्यवाही अंजाम दिलाया, लेकिन भीनमाल पुलिस शराब माफियाओं के खिलाफ कार्यवाही करने में कोताही बरत रही हैं।

जालोर पुलिस अधीक्षक की विशेष टीम ने भीनमाल में अवैध शराब के खिलाफ धरपकड़ अभियान किया शुरू

भीनमाल। जालोर पुलिस की विशेष टीम ने भीनमाल के जुंजाणी रोड पर शाम को एक होटल पर दबिश देकर अवैध शराब  बरामद की। लेकिन आरोपी मौके से भागने में कामयाब हो गया। पुलिस ने 16 बीयर, 169 अंग्रेजी शराब के पव्वे व 4 देशी शराब के पव्वे बरामद किए। पुलिस ने पृथ्वीसिंह राव के खिलाफ अवैध शराब का मामला दर्ज किया। जिला विशेष टीम (DST) के पुलिस उपनिरीक्षण सुरेश कुमार ने बताया कि पुलिस अधीक्षक श्यामसिंह के निर्देश पर भीनमाल के जुंजाणी रोड पर स्थित हिन्दुस्तान होटल पर दबिश देकर 16 बीयर, 169 विभिन्न ब्रांड के अंग्रेजी शराब के पव्वे और 4 देशी शराब के पव्वे बरामद कर शहर निवासी पृथ्वीसिंह पुत्र दलपतसिंह राव के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरु की गई। पुलिस ने बताया कि आरोपी मौके से फरार हो गया। गौरतलब है कि फस्ट भारत ने शराब माफियों के खिलाफ सिलसिलेवार प्रमुखता से खबरें प्रकाशित की। खबरें प्रकाशित होने होने के बाद पुलिस अधीक्षक ने विशेष टीम को भेज कर शराब माफियों के खिलाफ कार्यवाही को अंजाम दिया हैं। 

अवैध बीयर बार हुआ बंद

भीनमाल शहर के जसवंतपुरा रोड पर स्थित एक होटल में चल रहे अवैध बीयर बार को लेकर जब फस्ट भारत ने स्टिंग ऑपरेशन के जरिए पूरे मामले का खुलासा किया तो खबर प्रकाशित होते ही उक्त बियर बार बन्द हो गया। अवैध शराब के इस कारोबारी ने मौके से शराब को भी हटा दिया। जबकि पुलिस इस होटल संचालक के पास बियर बार का लाइसेंस होने का दावा कर रहे थे। यदि होटल संचालक के पास बियर बार का लाईसेन्स हैं तो फिर इसे रातों रात बन्द क्यों किया गया? ये सबसे बड़ा सवाल हैं।
  
संदेह के घेरे में भीनमाल थानाधिकारी की कार्यप्रणाली

भीनमाल थाना क्षेत्र में फल फूल रहे अवैध शराब के कारोबार को लेकर फस्ट भारत की ओर से सिलसिलेवार खुलासा करने के बाद भी भीनमाल थानाधिकारी द्वारा कार्यवाही नहीं करना पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े करता है। आखिर भीनमाल पुलिस की ऐसी क्या मजबूरी है, जो अवैध शराब के कारोबारियों के खिलाफ कार्यवाही करने में कोताही बरत रही है। जबकि पुलिस अधीक्षक की ओर से गठित विशेष टीम क्षेत्र में आकर कार्यवाही भी करती है और बड़ी मात्रा मेें अवैध शराब का जखीरा भी बरामद करती है। इससे यह स्पष्ट हो जाता है कि क्षेत्र में अवैध शराब का कारोबार दिनों दिन फैल रहा है।

Must Read: जालोर के रानीवाडा में हैवानियत की हदें पार, पिता ने ही बेटी के साथ कई दफा किया दुष्कर्म

पढें जालोर खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :