Kalandri Govt College : मेरा लक्ष्य सिरोही का हर लडका-लडकी कम से कम स्नातक स्तर तक पढे- संयम लोढा

- कालन्द्री में संघवी हीराचन्द फूलचंद राजकीय महाविद्यालय का भूमि पूजन व शिलान्यास समारोह आयोजित - मुख्यमंत्री सलाहकार लोढा, भामाशाह संघवी परिवार के आईआरएस एल.के. संघवी व जिला कलक्टर डॉ भंवरलाल ने किया शिलान्यास

मेरा लक्ष्य सिरोही का हर लडका-लडकी कम से कम स्नातक स्तर तक पढे- संयम लोढा
Sanyam Lodha

सिरोही । मेरा लक्ष्य है कि सिरोही का हर लडका-लडकी कम से कम स्नातक स्तर तक पढना चाहिए। हम इस लक्ष्य को ध्यान में रखकर उच्च शिक्षा की सुविधाओं का विस्तार कर रहे है। सिरोही की जनता ने मुझे राजनीतिक में जिंदा रखा है, साढे तीन साल रात और दिन कठोर परिश्रम करके 3 हजार करोड रूपये के विकास के कार्य सिरोही विधानसभा क्षेत्र में करवाये है और जो भी कार्य लंबित है वो मै इसी कार्यकाल में पूरा करने की पूरी कोशिश करूंगा। यह बात मुख्यमंत्री सलाहकार विधायक संयम लोढा ने कालन्द्री में संघवी हीराचन्द फूलचंद राजकीय महाविद्यालय का भूमि पूजन व शिलान्यास समारोह के दौरान उपस्थित लोगो को संबोधित करते हुए कहीं। विधायक संयम लोढा ने कहां कि सिरोही विधानसभा क्षेत्र में साढे तीन साल में 40 सीनियर सैकंडरी स्कूल, 6 कॉलेज खुलेगे। मिनी सचिवालय बना रहे है, एक ही छत के नीचे लोगो के सब कार्य किये जायेगे।

विधायक संयम लोढा ने कहां कि आप अपने बच्चे को उच्च शिक्षा दिलवाये जिससे सिरोही शिक्षा के क्षेत्र में निरंतर प्रगति करे। कांलद्री में कॉलेज खोलने का मुख्य उद्देश्य यही है कि बच्चो को उच्च शिक्षा मिले। सभी अपने बच्चो को अच्छे से अच्छा तैयार करो, बच्चो को काबिल बनाओ, बालिकाओं को आगे पढाओं। जब तक हम पढेगे नही तब तक हम भागवत गीता को कैसे समझेगे। कालन्द्री की बालिका स्कूल में साईकिल वितरण कार्यक्रम में आया था तब बालिकाओं से कांलद्री में कॉलेज खोलने की बात कही थी और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा बजट घोषणा में कालंद्री में कॉलेज को स्वीकृत किया उसके लिए उनका बहुत बहुत आभार।

जिला कलक्टर भंवरलाल ने कहा कि शिक्षा के क्षेत्र में कालन्द्री महाविद्यालय एक बहुत बडी सौगात है और जितनी जल्दी से इसका भूमि पूजन और शिलान्यास कार्यक्रम हो रहा है ये वाकई क्षेत्र के लिए खुशी की बात है। हमे भी शिक्षा में कोई कमी नही रखनी है, पढाई के लिए बालक बालिकाओं को उच्च शिक्षा दिलाने के लिए बस मन में ठान लेनी है।

कालंद्री सिरोही जिले का नाक - विधायक संयम लोढा ने कहां कि कालंद्री गांव सिरोही जिले की नाक है। स्वाधीनता संग्राम में यही गांव से आजादी की लडाई का शंखनाद हुआ है। कितने स्वतंत्रता सेनानी इस गांव से हुए, कितना संघर्ष उन्होंने किया है यह सभी महापुरूषों की देन है। कालंद्री का गौरवशाली इतिहास रहा है यहां से आईपीएस निकले, आईएएस निकले, आईआरएस निकले भामाशाह संघवी परिवार के बारे में लोढा ने कहां कि 115 वर्ष पुराने संघवी है, 115 वर्ष पहले 3000 लोगो का संघ निकाला था। कालंद्री कॉलेज बनाने के लिए संघवी परिवार आगे आया है। 5 करोड का कॉलेज में संघवी परिवार ने सहयोग दिया है। संघवी परिवार का पुण्य है, संचित पुण्य का उदय हुआ है और 115 साल पुरानी परंपरा को निभाया है। एल.के. संघवी परिवार का इतिहास कालंद्री गांव के इतिहास से जुडा हुआ है, कालंद्री में कॉलेज की घोषणा होने के बाद सबसे पहला फोन एल.के. संघवी को किया और सहयोग की अपील की। मुझे खुशी है कि संघवी परिवार ने उस इतिहास को आगे बढाया।

कार्यक्रम की अध्यक्षता आईआरएस लक्ष्मण कुमार संघवी, प्रधान हंसमुख कुमार, पीसीसी सचिव निम्बाराम गरासिया, कांग्रेस ब्लॉक अध्यक्ष किशोर पुरोहित, सिरोही नगरपरिषद सभापति महेंद्र मेवाडा, समाजसेवी रघुभाई माली, पावापुरी ट्रस्टी महावीर जैन, रंजीत जैन, ताराचंद जैन, भरत भाई जैन, चम्पत जैन, पुनीत अग्रवाल, मकसूद अली, अन्नाराम बोराणा, हिम्मतमल सुथार, सरपंच भरत माली, पुनीत अग्रवाल, महिला कांग्रेस जिला प्रवक्ता रेणुलता व्यास, मनोनीत पार्षद सुंदर देवी माली, मीना सैन, व्यापार मंडल अध्यक्ष कमलेश पुरोहित, रतिलाल प्रजापत, दिलीप नागर, अर्जुन सिंह दहिया, खेताराम मेरमण्डवाडा, ईश्वर पुरोहित तंवरी, खीमसिंह मोहब्बतनगर, कांतिलाल लुहार, चुन्नीलाल माली, वरदीचंद माली, कालूराम मेघवाल, मंचाराम मेघवाल, समरथाराम घांची, वेलाराम घांची, चेनाराम प्रजापत, वेलाराम प्रजापत, जगमालराम देवासी, नारायण लाल देवासी, विक्रम सिंह, भरत सिंह, यशपाल सिंह सहित सैकडो लोग उपस्थित रहे।

Must Read: प्रेमी युगल ने लगाई फांसी, नागौर जिले की जायल तहसील का है मामला

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :