सिरोही के बाद अब जालोर में ब्लैक फंगस: जालोर जिले में भी ब्लैक फंगस की दस्तक,  कोरोना पॉजिटिव हुए व्यक्ति के मिले लक्षण 

देश भर में कोरोना की प्राणघातक दूसरी लहर के बीच ब्लैक फंगस ने लोगों को अपनी गिरफ्त में लेना शुरू कर लिया है।  सिरोही में ब्लैक फंगस का एक रोगी आने के बाद अब राज्य के जालोर में भी ब्लैक फंगस ने दस्तक दे दी है।

जालोर जिले में भी ब्लैक फंगस की दस्तक,  कोरोना पॉजिटिव हुए व्यक्ति के मिले लक्षण 

जालोर।
देश भर में कोरोना की प्राणघातक दूसरी लहर के बीच ब्लैक फंगस ने लोगों को अपनी गिरफ्त में लेना शुरू कर लिया है।  सिरोही में ब्लैक फंगस का एक रोगी आने के बाद अब राज्य के जालोर में भी ब्लैक फंगस ने दस्तक दे दी है। जिले के भीनमाल के निजी अस्पताल में एक व्यक्ति में ब्लैक फंगस की पुष्टि हुई है। हालांकि ब्लैक फंगस के लक्षणों के बाद मरीज को जोधपुर रेफर कर दिया गया। 
जानकारी के मुताबिक जिले में ब्लैक फंगस से निपटने के लिए पर्याप्त संसाधन व सुविधाओं का अभाव है। ऐसे मेंऐसे  मरीजों को जोधपुर रैफर किया जा रहा है। चिकित्सकों के मुताबिक पहले इस रोगी को कोरोना हुआ था। कोरोना से बचाने के लिए दिए गए इंजेक्शन से वो एक बार तो ठीक हो गया, लेकिन अब ब्लैक फंगस का शिकार हो गया। इसको तेज सिर दर्द व मुंह के अंदर व बाहर सुजन है। डॉक्टर जुगमल चौधरी ने बताया कि मरीज के चेहरे में सूजन आ रहा थी और ब्लैक फंगस जैसे लक्षण मिल रहे थे। जिसे देखते हुए  संक्रमित मरीज का सीटी स्कैन कराया गया, इसमें ब्लैक फंगस की पुष्टि हुई। इसके बाद मरीज को जोधपुर उच्च ईलाज के लिए रैफर किया गया। इधर,  चिकित्सा विभाग में हडक़ंप मच गया है।
कलेक्टर ने समीक्षा बैठक में दिए निर्देश
जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक मंगलवार को डीओआईटी सभागार में कलेक्टर नम्रता वृष्णि की अध्यक्षता में हुई। अध्यक्षता करते हुए कलेक्टर ने कहा कि कोरोना महामारी के इस विपरीत समय में आमजन को स्वास्थ सुविधाएं सुलभ करवाना हमारी पहली प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि कोरोना की तीसरी लहर की आशंका और ब्लैक फंगस दोनों के लिए पूर्व तैयारियों की सख्त जरूरत है। जिससे जिलेवासियों को अच्छा उपचार मिल सकें और महामारी के संक्रमण पर समय रहते रोकथाम व नियंत्रण किया जा सके। उन्होंने सीएमएचओ डॉ. गजेन्द्रसिंह देवल से जिले में कोरोना संक्रमण की स्थिति की समीक्षा करते हुए विभिन्न कोविड सेंटर्स पर भर्ती मरीजों एवं डिस्चार्ज मरीजों की जानकारी ली। इस दौरान जिले में कोरोना संक्रमण के घटते केस पर उन्होंने संतोष जताते हुए चिकित्सा विभाग को पूर्ण रूप से सचेत रहने एवं कोरोना की स्थिति को नियंत्रण करने के निर्देश दिए। बैठक के दौरान मुख्यमंत्री नि:शुल्क दवा योजना, मुख्यमंत्री नि:शुल्क जांच योजना, टीकाकरण, राजश्री योजना आदि की जानकारी ली और आवश्यक दिशा-निर्देश दिये।

Must Read: रात आठ बजे बाद भी शराब की दुकाने खुली, पुलिस बनी मूकदर्शक

पढें जालोर खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :