Jalore बिजली कनेक्शन और रिश्वत प्रकरण: Jalore में डिस्कॉम जेईएएन के खिलाफ ACB ने रिश्वत मांगने का दर्ज किया मामला, बिजली कनेक्शन शिफ्ट करने के एवज में मांगी थी रिश्वत

एसीबी के एएसपी डॉ. महावीरसिंह राणावत के मुताबिक जालोर में बिजली कनेक्शन शिफ्ट करने के एवज में जेईएएन ने चार हजार की रिश्वत मांगी थी।

Jalore में डिस्कॉम जेईएएन के खिलाफ ACB ने रिश्वत मांगने का दर्ज किया मामला, बिजली कनेक्शन शिफ्ट करने के एवज में मांगी थी रिश्वत

जालोर। 
जालोर डिस्कॉम के जेईएएन के खिलाफ रिश्वत मांगने का प्रकरण एसीबी में दर्ज किया गया है। एसीबी ने रिश्वत की राशि मांगने के सत्यापन करने के बाद यह मामला दर्ज करते हुए जांच शुरू कर दी। 
एसीबी के एएसपी डॉ. महावीरसिंह राणावत के मुताबिक जालोर में बिजली कनेक्शन शिफ्ट करने के एवज में जेईएएन ने चार हजार की रिश्वत मांगी थी।
लूर निवासी वागाराम पुत्र नवाजी कलबी ने इस संबंध में शिकायत दर्ज कराई थी। शिकायत में वागाराम ने बताया कि जसवंतपुरा क्षेत्र के रोठा गांव स्थित कृषि भूमि पर दो बिजली कनेक्शन में से एक कनेक्शन ग्राम लूर की पुश्तैनी जमीन पर शिफ्ट कराना था।
इस संबंध में मोदरा कनिष्ठ अभियंता के पद पर कार्यरत बिहार के अरवाल जिला के रजावली हाउस टिबी रोड निवासी जेईएएन मोहम्मद फिरोज अख्तर ने उनसे रिश्वत की मांग की।

जेईएएन ने डिमांड निकालने के एवज में 4 हजार रुपए रिश्वत मांगी थी। राणावत बताया कि ​​​​​​​एसीबी की टीम ने पहले रिश्वत की राशि मांगने का सत्यापन किया।

इसके बाद ट्रेप की कार्रवाई की, लेकिन ट्रेप कार्रवाई के दौरान रिश्वत की राशि का आदान प्रदान नहीं हो पाया।
इसके बाद एसीबी की टीम ने रिश्वत की राशि मांगने के आरोप में जेईएएन मोहम्मद फिरोज अख्तर के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर जांच शुरू की।

इस मामले में जांच निरीक्षक राजेंद्र ​सिंह को सौंपी गई हैं। रिश्वत मांगने का आरोपित मोहम्मद फिरोज अख्तर फिलहाल बागरा में कनिष्ठ अभियंता के पद पर कार्यरत है।