आरएएस भर्ती परीक्षा 2018 का एक ओर विवाद: शिक्षा मंत्री के बाद अब शिक्षा विभाग का प्रिंसिपल आरएएस भर्ती मामले में फंसा, 20 लाख रुपए लेकर इंटरव्यू में दिला रहा था 70 नंबर, 54 नंबर आने पर खुलासा

राजस्थान लोक सेवा आयोग की ओर से कराई गई आरएएस भर्ती परीक्षा 2018 में विवाद थमने का नाम ही नहीं ले रहे। शिक्षा मंत्री के रिश्तेदारों को साक्षात्कार में समान अंक दिलाने का मामला अभी थमा ही नहीं कि अब बाड़मेर की सरकारी स्कूल का प्रिंसिपल, दलाल सहित 3 लोगों को भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने गिरफ्तार कर लिया।

शिक्षा मंत्री के बाद अब शिक्षा विभाग का प्रिंसिपल आरएएस भर्ती मामले में फंसा, 20 लाख रुपए लेकर इंटरव्यू में दिला रहा था 70 नंबर, 54 नंबर आने पर खुलासा

जयपुर।राजस्थान लोक सेवा आयोग ( Rajasthan Public Service Commission) की ओर से कराई गई आरएएस भर्ती परीक्षा (RAS Recruitment Exam) 2018 में विवाद थमने का नाम ही नहीं ले रहे। शिक्षा मंत्री के रिश्तेदारों को साक्षात्कार में समान अंक दिलाने का मामला अभी थमा ही नहीं कि अब बाड़मेर की सरकारी स्कूल का प्रिंसिपल, दलाल सहित 3 लोगों को भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने गिरफ्तार कर लिया। हालात देखिए 20 लाख रुपए की रिश्वत लेते समय आरोपी प्रिंसिपल और दलाल गिरफ्तार नहीं हुए बल्कि रिश्वत की राशि वापस लौटाने पर एसीबी ने दबोच  लिया।

यह है मामला 
जोधपुर के दलाल किशनाराम (broker Kishnaram) का नाम सामने आया है। बताया जा रहा है कि बाड़मेर के निजी स्कूल संचालक ठाकराराम सारण (Thakraram Saran) और राजकीय स्कूल के प्रिंसिपल जोगाराम सारण (Principal Jogaram Saran)ने अपने ही परिवार के हरीश को RAS 2018 में 70 से अधिक अंक दिलाने के लिए 20 लाख रुपए दिए थे। हरीश को जब 54 अंक आए तो ठाकराराम सारण और जोगाराम  जोधपुर पहुंच गए। बुधवार शाम उन्होंने किशनाराम से रिश्वत की रकम वापस ली और बाड़मेर की ओर चल दिए। इसी दौरान ACB ने पकड़ लिया। गाड़ी से बरामद 20 लाख कैश के बारे में पूछताछ हुई तो पूरा मामला खुल गया। ACB को रिश्वत की रकम की जानकारी मिली तो टीम सक्रिय हो गई। पुलिस के साथ कल्याणपुर क्षेत्र में नाके पर चेकिंग शुरू हुई। इसी दौरान बोलेरो गाड़ी को रोका गया। तलाशी लेने पर 19 लाख 95 हजार रुपए मिले।

एसीबी ने इनको दबोचा 
भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो जोधपुर (Anti Corruption Bureau Jodhpur) के उपमहानिरीक्षक विष्णु कांत ने बताया कि गोपनीय सूचना पर कार्रवाई करते हुए एसीबी टीम ने बाड़मेर के बायतु पंचायत समिति के पनावडा स्थित राजकीय स्कूल के प्रिंसिपल जोगाराम सारण निवासी भूरटिया, बाड़मेर रिको स्थित मदर टेरेसा सीनियर सैकेण्डरी स्कूल के प्रिंसिपल ठाकराराम सारण और जोधपुर के बासनी निवासी किशनाराम जाट को गिरफ्तार किया है।

अब आरपीएससी की भूमिका की जांच
भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो के महानिदेशक भगवान लाल सोनी ने बताया कि मामले में दलाल किशनाराम जाट से पूछताछ की जा रही है। फिलहाल दलाल का आरपीएससी सदस्यों से संपर्क की तलाशी केसंबंध देखे जा रहे है। अभी तक ऐसी कोई जानकारी सामने नहीं आई। वहीं सूत्रों के मुताबिक किशनाराम जाट आरपीएससी में अपने रिश्तेदार के जरिए साक्षात्कार में अच्छे नंबर दिलाने के नाम पर रुपए लेता है।

Must Read: पहले नाले को मिट्टी डालकर भर दिया अब नाले सहित तालाब पर भूखंड बेचने लगे

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :