रामदेवरा जाने वाली सीमाओं पर नाकाबंदी: श्रद्धालुओं को रामदेवरा जाने से रोकेगी पुलिस, रामदेवरा जाने वाले रास्तों पर करेगी नाकाबंदी

पश्चिमी राजस्थान के महाकुंभ कहलाए जाने वाले विख्यात बाबा रामदेव (रामसा पीर) मेले को बीते दिनों स्थगित कर दिया था।

श्रद्धालुओं को रामदेवरा जाने से रोकेगी पुलिस, रामदेवरा जाने वाले रास्तों पर करेगी नाकाबंदी
  • श्रद्धालुओं से समझाइश कर वापस घर भेजेगी
  • प्रशासन ने 24 अगस्त को स्थगित कर दिया था मेला

बाड़मेर। पश्चिमी राजस्थान के महाकुंभ कहलाए जाने वाले विख्यात बाबा रामदेव (रामसा पीर) मेले को बीते दिनों स्थगित कर दिया था। अब जोधपुर रेंज पुलिस आईजी ने सभी जिलों को निर्देशित किया है कि रामदेवरा जाने वाली जिले की सीमाओं पर नाकाबंदी कर श्रद्धालुओं से समझाइश करें। उन्हें वापस भेजा जाए। इसके बाद बाड़मेर एसपी ने जिले के सभी थानों और डीएसपी को निर्देश दे दिए है।

दरअसल, 10 दिन के लिए बाबा रामदेव मंदिर के पट बंद करने का निर्णय लिया गया था। कोरोना की वजह से तीसरी बार मेला स्थगित किया गया था। 24 अगस्त को बाबा रामदेव समाधि समिति और पोकरण एसडीएम ने 7 सितंबर से 17 सितंबर तक श्रद्धालुओं के दर्शन पर रोक लगा दी है। इसके बाद प्रशासन ने पुलिस से मदद मांगी थी।
रामदेवरा मेला 10 दिन के लिए स्थगित होने के बाद जोधपुर रेज पुलिस आईजी ने संबंधित जिलों को बोला है कि रामदेवरा जाने वाले रास्तों पर नाकाबंदी कर वाहनों और पैदल जाने वाले श्रद्धालुओं से समझाइश करें। उनसे कहें कि कोविड के चलते मेला स्थगित हो गया है। इसका अपने-अपने क्षेत्र में व्यापक प्रचार-प्रसार भी करें।

बाड़मेर एसपी आनंद शर्मा ने बताया कि बुधवार को मैंने सभी थानों को निर्देशित किया है कि रामदेवरा जाने वाले रास्तों पर नाकाबंदी कर श्रद्धालुओं से समझाइश की जाए और उनसे कहा जाए कि कोरोना के चलते मेला स्थगित कर दिया है। श्रद्धालुओं को समझाइश कर वापस भेजा जाए।

जातरूओं से करेंगे समझाइश
बाबा रामदेव के दर्शन करने के लिए महाराष्ट्र, गुजरात से भी बड़ी संख्या में श्रद्धालु पैदल और वाहनों से आते हैं। पैदल जातरू (श्रद्धालु) रवाना भी हो चुके हैं। जो बाड़मेर होते हुए रामदेवरा पहुंचते है। इनके लिए जगह-जगह भंडारे भी लग गए हैं। ऐसे में अब पुलिस पैदल रवाना हुए जातरूओं से समझाइश कर उन्हें वापस घर भेजने की कोशिश करेगी।

ऑनलाइन करवाएंगे दर्शन
कोरोना की संभावित तीसरी लहर के मद्देनजर ही यह निर्णय लिया गया है। जिला प्रशासन बाबा रामदेव की आरती को ऑनलाइन दिखाने की व्यवस्था करने का विचार कर रहा है। यू-ट्यूब चैनल बाबा के नाम से बनाएंगे। इस चैनल पर दिनभर बाबा रामदेव के मंदिर में होने वाली आरती का सीधा प्रसारण कर सकें, ताकि देश-दुनिया में घर बैठे श्रद्धालु आरती का हिस्सा बन सकें।

Must Read: ‘टीचर्स डे’ से पहले राजस्थान में शर्मसार करने वाली घटना, नाबालिग छात्राओं से पीटीआई करता था अश्लील हरकतें

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :