अवरुद्ध हुए काम: कैसे होगा काम? जब सबसे धनी नगरपालिका माउंट आबू में 126 में से 105 पद रिक्त

प्रदेश की सबसे ऊंची, सबसे पुरानी और सबसे धनी नगरपालिका माउंट आबू पिछले कई वर्षों से अधिकारियों कर्मचारियों के रिक्त पड़े पदों की समस्या से जूझ रही हैं।

कैसे होगा काम? जब सबसे धनी नगरपालिका माउंट आबू में 126 में से 105 पद रिक्त

सिरोही। प्रदेश की सबसे ऊंची, सबसे पुरानी और सबसे धनी नगरपालिका माउंट आबू पिछले कई वर्षों से अधिकारियों कर्मचारियों के रिक्त पड़े पदों की समस्या से जूझ रही हैं। कहने को तो माउंट आबू नगरपालिका में सफाई कर्मचारियों के अलावा 126 पद स्वीकृत हैं। लेकिन धरातल पर देखा जाए तो वर्तमान में इस पालिका में मात्र 21 पदों पर अधिकारी कर्मचारी लगे हुए हैं, शेष 105 पद रिक्त पड़े हैं। सबसे बड़ी बात कि ये पद आज या कल से नही बल्कि पिछले कई वर्षों से खाली पड़े हैं। माउंट आबू नगरपालिका में राजस्व अधिकारी सहायक लेखाधिकारी के एक एक पद स्वीकृत हैं लेकिन दोनों ही पद लम्बे समय से रिक्त पड़े हैं। सहायक लेखाधिकारी का पद रिक्त होने से यहां कार्यरत कर्मचारियों को अपना वेतन बिल बनाने और वेतन आहरण करने में भी कई दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा हैं। जब कार्यरत अधिकारियों कर्मचारियों का समय पर वेतन बिल ही नही बन पा रहा हो तो दूसरे विकास कार्यो के हालात कैसे होंगे ये सहज ही समझा जा सकता हैं। 

ये पद पड़े हैं रिक्त
माउंट आबू नगरपालिका में रिक्त पड़े पदों की बात करें तो राजस्व अधिकारी-1, सहायक लेखाधिकारी-1, कम्प्यूटर ऑपरेटर-4, दोहरा लेखा पदति ऑपरेटर-2, कर निर्धारक-1, राजस्व निरीक्षक-1, नाकेदार-8, सिविल-2, स्वास्थ्य निरीक्षक प्रथम श्रेणी-1, स्वास्थ्य निरीक्षक द्वितीय श्रेणी-1, पैरोकार-1, ड्राफ्ट मैन सर्वेयर-1, मोटर गैरेज सुपरिडेंट-1, मैकेनिक-1, सहायक अग्निशमन अधिकारी-1, फायरमैन-6, कार्यालय अधीक्षक-1, कार्यालय सहायक-1, वरिष्ठ लिपिक-5, कनिष्ठ लिपिक-5, स्टेनोग्राफर-1, लेखाकार-1, कनिष्ठ लेखाकार-1, सब नाकेदार-5, वाहन चालक-4, विद्युत निरीक्षक-1, उद्यान निरीक्षक-1, फिटर व पम्प ड्राइवर-2, जमादार/चौकीदार-5, चपरासी-6, नाकागार्ड चतुर्थश्रेणी-3, भिस्ती-1, माली/बागवान-11, लाइनमैन/हेल्पर-2, सिविल मिस्त्री-1, बेलदार-8, बिजली मिस्त्री-1, नाविक-5 पद लम्बे समय से रिक्त पड़े हुए हैं। वहीं माउंट आबू नगरपालिका में सफाई कर्मचारियों के कुल स्वीकृत 139 पदों में से 22 पद सफाई कर्मचारियों के भी रिक्त पड़े हैं। पर ना तो राज्य सरकार इन पदों पर नियुक्ति कर रही हैं, और ना ही स्थानीय जनप्रतिनिधि इन पदों को भरने के लिए राज्य सरकार से कोई मांग कर रहे हैं। ऐसे माउंट आबू नगरपालिका क्षेत्र के निवासियों को अपने निजी व सार्वजनिक कामों को करवाने के लिए कई चक्कर काटने के बावजूद अपना कार्य होने के लिए लम्बा इंतज़ार करना पड़ रहा हैं। यदि सरकार इन रिक्त पदों पर नियुक्त कर दें तो माउंट आबू के निवासियों के साथ साथ प्रदेश के इस एकमात्र हिल स्टेशन पर घूमने आने वाले पर्यटकों को भी बेहतरीन सुविधा मिल सकती हैं।

अधिकारी कथन
पालिका में स्वीकृत पदों में से करीब 80 फीसदी पद लम्बे समय से रिक्त पड़े हैं। यहां तक कि RO और अकाउंटेंट के पद भी खाली पड़े हैं। ऐसे में कार्यरत अधिकारी, कर्मचारी अपनी क्षमता से अधिक कार्य करके भी आम जनता के कार्यों को पूरा करने  की कोशिश कर रहे हैं। 
रामकिशोर, आयुक्त, नगरपालिका, माउंट आबू