दर्दनाक हादसा: सांचौर में छज्जा गिरने से 3 लोगों के मौत के बाद परिजनों ने दिया धरना, प्रशासन की समझाइश के बाद धरना समाप्त

मृतकों के परिजनों समेत अन्य लोग धरने पर बैठ गए और दोषियों के खिलाफ मामला दर्ज कर गिरफ्तार करने की मांग पर अड़ गए। दोषियों की गिरफ्तारी नहीं होने तक शव नहीं उठाने, आमरण अनशन व भूख हड़ताल की भी चेतावनी दी।

जालोर

सांचौर शहर के व्यस्ततम क्षेत्र में बुधवार को पुराने जर्जर भवन के अगले हिस्से में छज्जे गिरने के घटनाक्रम में 3 जनों की मौत के बाद गुरुवार को व्यापार मंडल की ओर से 12 बजे तक दुकानें बंद रखी गई तथा मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा। 

गुरुवार को मृतकों के परिजनों समेत अन्य लोग धरने पर बैठ गए और दोषियों के खिलाफ मामला दर्ज कर गिरफ्तार करने की मांग पर अड़ गए। दोषियों की गिरफ्तारी नहीं होने तक शव नहीं उठाने, आमरण अनशन व भूख हड़ताल की भी चेतावनी दी। लोगों ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के नाम ज्ञापन भेजकर मृतकों के परिजनों को एक-एक करोड़ रुपए मुआवजा देने, मृतक के एक आश्रित को बैंक में नौकरी देने तथा घायलों को पांच-पांच लाख रुपए सहायता राशि देने की मांग की है। शाम को प्रशासन की समझाइश के बाद मृतक के परिजनों ने धरना समाप्त कर दिया।


लापरवाही... बिल्डिंग खाली करने के लिए जून में दिया था नोटिस

बैंक की बिल्डिंग करीब 60 साल पुरानी है, जो अब जर्जर हालत में पहुंच गई है। इसको लेकर लोगों ने कई बार बिल्डिंग मालिक व बैंक प्रबंधक को आगाह किया था, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। बिल्डिंग मालिक दिलीप बोकड़िया का कहना है कि उसने बैंक को 18 जून 2021 को नोटिस भेजकर बिल्डिंग खाली करने को कहा था, लेकिन बैंक ने खाली नहीं किया। उधर बैंक प्रशासन ने सफाई दी कि उसे 30 नवंबर 2022 तक बिल्डिंग खाली करने का समय दिया है। ऐसे में बिल्डिंग मालिक और बैंक प्रबंधन एक दूसरे की गलती बताकर अपना पल्ला झाड़ रहे हैं।


यह था मामला

सांचौर शहर के व्यस्ततम क्षेत्र में बुधवार को पुराने जर्जर भवन के अगले हिस्से में छज्जे गिरने के घटनाक्रम में 3 जनों की मौत  हो गई और 4 जने गंभीर घायल हो गए। इस भवन में एसबीआई बैंक संचालित हो रहा था और यह भवन काफी पुराना है। जिसको मरम्मत की दरकार भी थी। बुधवार शाम को अचानक घटित हुए इस घटनाक्रम में एक के बाद एक 9 दुकानों के अगले हिस्से के छज्जे टूट कर गिर गए। यह भवन पट्टियों से बना था। घटनाक्रम के बाद भगदड़ मच गई। इधर, घटनाक्रम में विमला (45) पत्नी शंकरलाल विश्नाइ निवासी रेबारियों का गोलिया हाल एएनएम अगार  और मफाराम (44) पुत्र पीराराम पुरोहित निवासी डूंगरा का गोलिया सांचौर चपेट में आ गए, जिससे उनकी मौत हो गई।

Must Read: गुजरात की क्राइम ब्रांच ने बडग़ांव से तीन शातिर दबोचे

पढें जालोर खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :