एशियन बॉक्सिंग में एक ओर गोल्ड मेडल: पूजा के बाद अब संजीत ने एशियन बॉक्सिंग चैंपियनशिप में जीता गोल्ड मेडल, अब तक भारत को 2 गोल्ड, 8 सिल्वर और 5 ब्रॉन्ज

एशियन बॉक्सिंग चैंपियनशिप के 91 किलो वेट में संजीत ने शानदार प्रदर्शन करते हुए गोल्ड मेडल पर कब्जा किया। यह इस टूर्नामेंट का भारत के लिए दूसरा गोल्ड मेडल है। इससे पहले लड़कियों में पूजा रानी ने 75 किलो वेट में गोल्ड मेडल जीता था।

पूजा के बाद अब संजीत ने एशियन बॉक्सिंग चैंपियनशिप में जीता गोल्ड मेडल, अब तक भारत को 2 गोल्ड, 8 सिल्वर और 5 ब्रॉन्ज

 नई दिल्ली।
एशियन बॉक्सिंग चैंपियनशिप (Asian Boxing Championship) के 91 किलो वेट में संजीत ने शानदार प्रदर्शन करते हुए गोल्ड मेडल पर कब्जा किया। यह इस टूर्नामेंट का भारत के लिए दूसरा गोल्ड मेडल है। इससे पहले लड़कियों में पूजा रानी ने 75 किलो वेट में गोल्ड मेडल जीता था। वहीं अमित पंघल और शिव थापा ने सिल्वर मेडल पर जीता है। बात करें चैंपियनशिप में मेडल की तो इस बार भारत ने अब तक 15 मेडल पक्के कर लिए, जो अब तक सबसे ज्यादा मेडल है। इससे पहले 2019 में बैंकाक में हुए एशियन चैंपियनशिप में भारत ने 13 मेडल जीते थे। भारत को मिले मेडल्स में 2 गोल्ड, 5 सिल्वर और 8 ब्रॉन्ज मेडल शामिल हैं। इनमें सबसे ज्यादा 10 मेडल महिला बॉक्सरों ने जीते हैं । इनमें 1 गोल्ड, 3 सिल्वर और 6 ब्रॉन्ज मेडल शामिल हैं। वहीं पुरुषों को 5 मेडल मिले, जिनमें एक गोल्ड, तीन सिल्वर और 1 ब्रॉन्ज मेडल शामिल है। 
संजीत ने कजाखिस्तान के वासिली को हरा जीता गोल्ड
संजीत ने फाइनल में रियो ओलिंपिक के सिल्वर मेडलिस्ट कजाखिस्तान के वासिली लेविट को 4-1 से हराया। लेविट इस टूर्नामेंट में अपने चौथे गोल्ड मेडल के लिए रिंग पर उतरे थे। वहीं 52 किलो वेट में टोक्यो ओलिंपिक के लिए क्वॉलिफाई कर चुके अमित पंघल को रियो ओलिंपिक के गोल्ड मेडलिस्ट और मौजूदा वल्र्ड चैंपियन उज्बेकिसतन के जोइरोव शाखोबिदीन से हार का सामना करना पड़ा। शाखोबिदीन ने पंघल को 3-2 से हराया। भारतीय मुक्केबाजी महासंघ ने अमित और शाखोबिदीन के बीच हुए मुकाबले के दूसरे राउंड को लेकर आपत्ति दर्ज कराई, लेकिन ज्यूरी कमिशन ने उसे नकार दिया। पंघल का टूर्नामेंट में तीसरा मेडल है। इससे पहले वह 2019 और 2017 में मेडल जीत चुके हैं। 2019 बैंकाक में हुए एशियन चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल, जबकि 2017 में ताशकंद में हुए एशियन चैंपियनशिप में ब्रॉन्ज मेडल जीता था।
शिव थापा को भी सिल्वर 
 64 किलो वेट में शिव थापा को फाइनल में हार का सामना करना पड़ा। उन्हें एशियन गेम्स के सिल्वर मेडलिस्ट मंगोलिया के बातरसुख चिनजोरिग ने 3-2 से हराया। थापा का एशियाई चैम्पियनशिप में लगातार पांचवां मेडल है। थापा ने 2013 में गोल्ड जीता था। इसके बाद 2015 में बैंकाक में वह ब्रॉन्ज मेडल जीतने में सफल रहे थे। इसी तरह 2015 में थापा ने सिल्वर मेडल और 2019 में बैंकाक में ब्रॉन्ज मेडल जीता था। आप को बता दें कि दुबई हो रहे एशियन बॉक्सिंग चैंपियनशिप में भारत, उज्बेकिस्तान, मंगोलिया, फिलीपींस और कजाखिस्तान सहित 17 देशों के 150 बॉक्सरों ने हिस्सा लिया।

Must Read: टोक्यो ओलिंपिक की तैयारियों को लेकर पीएम मोदी ने अधिकारियों से की चर्चा, खिलाड़ियों की जरूरतों को प्राथमिकता से पुरी करने का आश्वासन

पढें भारत खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :