अब अदानी का हो जायेगा NDTV: अदानी समूह ने एनडीटीवी में 55.18 प्रतिशत हिस्सेदारी का लक्ष्य रखा, 26 प्रतिशत के लिए खुली पेशकश जारी की

एनडीटीवी के 26 प्रतिशत या 16,762,530 पूर्ण चुकता इक्विटी शेयरों के लिए कुल परिव्यय - यदि प्रस्ताव को पूर्ण रूप से स्वीकार कर लिया जाता है - अदानी समूह के लिए लगभग 483 करोड़ रुपये होगा।

अदानी समूह ने एनडीटीवी में 55.18 प्रतिशत हिस्सेदारी का लक्ष्य रखा, 26 प्रतिशत के लिए खुली पेशकश जारी की
अदानी समूह

अहमदाबाद | नई दिल्ली टेलीविजन लिमिटेड (एनडीटीवी) में 55.18 फीसदी हिस्सेदारी रखने के विचार के साथ, अदाणी समूह ने न्यूज चैनल में 26 फीसदी हिस्सेदारी के लिए 294 रुपये में एक ओपन ऑफर जारी किया है, जिसका फेस वेल्यू 4 रुपये है।

एनडीटीवी के 26 प्रतिशत या 16,762,530 पूर्ण चुकता इक्विटी शेयरों के लिए कुल परिव्यय - यदि प्रस्ताव को पूर्ण रूप से स्वीकार कर लिया जाता है - अदानी समूह के लिए लगभग 483 करोड़ रुपये होगा।

अदाणी समूह के मुताबिक, हिस्सेदारी का अधिग्रहण दो तरह से होगा।

सबसे पहले, यह विश्वप्रधान कमर्शियल प्राइवेट लिमिटेड (वीसीपीएल) के माध्यम से होगा। और फिर वीसीपीएल, इसकी पूर्ण स्वामित्व वाली मूल कंपनी एएमजी मीडिया नेटवर्क्‍स और अदानी एंटरप्राइजेज लिमिटेड के जरिए होगा।

एएमजी मीडिया नेटवर्क्‍स के अनुसार, इसकी सहायक कंपनी वीसीपीएल ने एनडीटीवी की प्रमोटर समूह कंपनी आरआरपीआर होल्डिंग प्राइवेट लिमिटेड के 99.5 प्रतिशत इक्विटी शेयरों का अधिग्रहण करने के अपने अधिकारों का प्रयोग किया है।

वीसीपीएल के पास आरआरपीआर होल्डिंग के 1,990,000 वारंट हैं, जो उन्हें बाद में 99.99 प्रतिशत हिस्सेदारी में बदलने का अधिकार देता है।

वीसीपीएल ने आंशिक रूप से अपने विकल्प का प्रयोग किया है, जिसके परिणामस्वरूप आरआरपीआर होल्डिंग का अधिग्रहण नियंत्रण - 1,990,000 इक्विटी शेयर या 99.50 प्रतिशत है।

एनडीटीवी में आरआरपीआर होल्डिंग की 29.18 फीसदी हिस्सेदारी है, जिसके पास तीन राष्ट्रीय टेलीविजन चैनल हैं।

Sonali Phogat Last Video: वीडियो पोस्ट करने के कुछ घंटे बाद ही दुनिया को अलविदा कह गई सोनाली फोगाट, आखिरी वीडियो आया सामने

इसने सेबी (शेयरों का पर्याप्त अधिग्रहण और अधिग्रहण) विनियम, 2011 के अनुसार जनता से एनडीटीवी के शेयरों को हासिल करने के लिए खुली पेशकश का मुद्दा शुरू किया।

वीसीपीएल, अपने विवेकाधिकार पर, किसी भी समय आरआरपीआर होल्डिंग की इक्विटी शेयर पूंजी के 99.99 प्रतिशत तक का अधिग्रहण करने के लिए बैलेंस वारंट का प्रयोग कर सकता है और इस तरह से वह उपयुक्त हो सकता है।

राहुल गांधी के इनकार के बाद कई नाम सामने: कौन बनेगा कांग्रेस का अध्यक्ष, कई नामों पर विचार

एएमजी मीडिया नेटवर्क्‍स लिमिटेड संजय पुगलिया ने कहा, यह अधिग्रहण एएमएनएल (एएमजी नेटवर्क) के लक्ष्य की यात्रा में एक महत्वपूर्ण मील का पत्थर है।

बीएसई के अनुसार, एनडीटीवी के तीन प्रमोटर शेयरधारक हैं (प्रनॉय रॉय 15.94 फीसदी, राधिका रॉय 16.32, आरआरपीआर होल्डिंग 29.18) के पास 61.45 फीसदी हिस्सेदारी है और शेष 38.55 फीसदी जनता के पास है।

Must Read: अडाणी की मीडिया इकाई NDTV में परोक्ष रूप से 29.18 प्रतिशत हिस्सेदारी हासिल करेगी

पढें इकोनॉमी खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :