कुदरत का कहर : सूडान में भारी बारिश से मरने वालों की संख्या 83 हुई

सूडान में हाल ही में हुई भारी बारिश और बाढ़ से मरने वालों की संख्या बढ़कर 83 हो गई है। देश की नागरिक सुरक्षा परिषद ने यह जानकारी दी। इस बीच, सोमवार को एक बयान में परिषद के अनुसार, प्रभावित क्षेत्रों में 18,000 से अधिक घर नष्ट हो गए और 25,000 अन्य क्षतिग्रस्त हो गए।

सूडान में भारी बारिश से मरने वालों की संख्या 83 हुई
सूडान में भारी बारिश

खार्तूम | सूडान में हाल ही में हुई भारी बारिश और बाढ़ से मरने वालों की संख्या बढ़कर 83 हो गई है। देश की नागरिक सुरक्षा परिषद ने यह जानकारी दी।

इस बीच, सोमवार को एक बयान में परिषद के अनुसार, प्रभावित क्षेत्रों में 18,000 से अधिक घर नष्ट हो गए और 25,000 अन्य क्षतिग्रस्त हो गए।

समाचार एजेंसी शिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, सिंचाई और जल संसाधन मंत्रालय ने एक प्रेस विज्ञप्ति में चेतावनी दी है कि आने वाले दो दिनों के दौरान ब्लू नाइल और व्हाइट नाइल नदियों का जलस्तर फिर से बढ़ने की उम्मीद है।

राहुल गांधी के इनकार के बाद कई नाम सामने: कौन बनेगा कांग्रेस का अध्यक्ष, कई नामों पर विचार

मंत्रालय ने विशेष रूप से राजधानी खार्तूम में दो नदियों के पास रहने वाले लोगों से आवश्यक सावधानी बरतने का आग्रह किया।

मंत्रालय के अनुसार, सूडान में नदियों ने 1946 के बाद से अपना उच्चतम स्तर दर्ज किया है।

रविवार को, सूडानी मंत्रिपरिषद ने छह बाढ़ प्रभावित राज्यों नील नदी, गीजीरा, व्हाइट नाइल, वेस्ट कोडरेफान, दक्षिण दारफुर और कसला में आपातकाल की स्थिति घोषित कर दी।

राजनीतिक गलियारों में हलचल: 200 वाहनों के काफिले के साथ सचिन पायलट मिलने पहुंचे मृतक दलित छात्र के परिवार से, माना जा रहा शक्ति परीक्षण!

मानवीय मामलों के समन्वय के लिए संयुक्त राष्ट्र कार्यालय के अनुसार, जून से अब तक सूडान में बाढ़ और भारी बारिश से लगभग 136,000 लोग प्रभावित हुए हैं।

सूडान अक्सर जून से अक्टूबर तक भारी बारिश के कारण बाढ़ का गवाह बनता है।

Must Read: सूखे की वजह से बिजली आपूर्ति प्रभावित होने से प्रतिष्ठित शंघाई स्काईलाइन पर छाया रहेगा अंधेरा

पढें विश्व खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :