जोधपुर हिंसा मामले पर कार्रवाई की मांग: मुख्यमंत्री के गृह जिले जोधपुर में हिंसा और सीएम जन्मदिन पर गुलदस्ते लेने में व्यस्त: शेखावत

केंद्रीय मंत्री शेखावत ने जोधपुर के जालोरी गेट हिंसा मामले में सभी असामाजिक तत्वों की गिरफ्तारी की मांग की। जालोरी गेट पर इस्लामिक झंड़ा फहराने के बाद हुई नारेबाजी। एक समुदाय विशेष के लोगों ने घरों में घुसकर की मारपीट।

मुख्यमंत्री के गृह जिले जोधपुर में हिंसा और सीएम जन्मदिन पर गुलदस्ते लेने में व्यस्त: शेखावत

जोधपुर। 
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का जन्मदिन और सीएम के गृह जिले जोधपुर में ईद पर हिंसा, पत्थरबाजी और एक समुदाय विशेष के लोगों द्वारा उत्पात करने पर विपक्ष की ओर से सरकार को जमकर निशाना साधा। केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने प्रेसवार्ता कर आरोपी समुदाय विशेष के लोगों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की और प्रत्येक पीड़ित पक्ष की सुनवाई करते हुए एफआईआर दर्ज करने की मांग की। 
शेखावत ने कहा कि एक ओर जोधपुर में एक समुदाय विशेष के लोगों द्वारा हिंसा की जा रही थी, दूसरी ओर मुख्यमंत्री जन्मदिन के गुलदस्ते लेने में व्यस्त थे। जोधुपर जल रहा था, यहां निर्दोष लोगों के घरों में घुसकर पत्थरबाजी की गई, बच्चियों के साथ गलत हरकत की गई और सुबह तक पुलिस रिपोर्ट तक दर्ज नहीं कर रही थी। 
शेखावत ने कहा कि इन समुदाय विशेष के लोगों ने धर्म विशेश के नारे लगाए और पुलिस कार्रवाई करने की बजाए इनके साथ खड़ी नजर आई। इससे ऐसा लगा कि पुलिस तथा जोधपुर का प्रशासन किसी दबाव में काम कर रहा है। 
हिंसा मामलों में हुई राजनीति, अब होगा जालोरी गेट पर धरना प्रदर्शन
केंद्रीय मंत्री शेखावत ने कहा कि पहले करौली जिले में हिंसा हुई। सीएम के साथ कांग्रेस के नेताओं ने आरएसएस और भाजपा का राग अलापना शुरू कर दिया। लेकिन आज जोधपुर में जितनी भी घटनाएं हुई, इनमें एक भी भाजपा तथा आरएसएस का कार्यकर्ता नहीं था। जोधपुर हिंसा एक तरफा हमला था और केवल एक समुदाय के लोगों द्वारा किया गया। कांग्रेस ने इस तरह की घटना को राजनीतिक रंग देकर मामला रफादफा करने का प्रयास किया है। शेखावत ने कहा कि अगर अब गहलोत सरकार ने पीड़ितों की सुनवाई नहीं की तो भाजपा हजारों की संख्या में जालोरी गेट पर धरना प्रदर्शन करेगी।  इसकी जिम्मेदारी सरकार की होगी। 
सरकार चाहे तो कर सकती है कार्रवाई 
शेखावत ने कहा कि सरकार चाहे तो इस मामले में कार्रवाई कर सकती है। जालोरी गेट जहां पर घटना हुई, वहां हाई क्वालिटी के सीसीटीवी कैमरे लगे हुए है। ये कैमरे पुलिस के अभय कमांड सेंटर से भी जुड़े हुए है। जालोरी गेट ही नहीं, अन्य हिंसा वाली जगहों पर कैमरे है। सरकार को चाहिए कि इस मामले में राजनीति ना करते हुए दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करें। 
कांग्रेस की शहर विधायक पर आरोप
केंद्रीय मंत्री शेखावत ने इस पूरे मामले को लेकर कांग्रेस की शहर विधायक पर भी हमला किया। शेखावत ने कहा कि घटना के बाद से अब तक कांग्रेस शहर विधायक कहा है! विधायक किसी के दबाव में आकर घर में बैठी है क्या। उन्होंने कहा कि ऐसे हालात में पत्थरबाजों ने पत्रकारों पर हमला किया, भाजपा मंडल अध्यक्ष के घर में घुसकर हमला किया तथा पत्थरबाजी की। सरकार को कार्रवाई करनी चाहिए। 

Must Read: चुनावी सभाओं में नेता कोरोना गाइडलाइन की उड़ा रहे धज्जियां, प्रशासन मौन, नेता हों या कार्यकर्ता सब लापरवाह 

पढें राजनीति खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :