Koo App: स्वदेशी ऐप का उपयोग करें, लोकप्रिय बनाएं : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

स्थानीय उत्पादों के संरक्षण और उनको प्रोत्साहित करने के महत्व पर जोर देते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस पर उत्तर प्रदेश के नागरिकों से स्वदेशी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल करने पर जोर दिया।

स्वदेशी ऐप का उपयोग करें, लोकप्रिय बनाएं : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ
कू एप के संस्थापकों के साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस: Koo ऐप के संस्थापकों से मिले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

सरकार की योजनाओं से जुड़ने के लिए स्वदेशी एप का करें उपयोग

लखनऊ | आत्मनिर्भर भारत के लक्ष्य को मजबूत करने के लिए स्थानीय उत्पादों के संरक्षण और उनको प्रोत्साहित करने के महत्व पर जोर देते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस पर उत्तर प्रदेश के नागरिकों से स्वदेशी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल करने पर जोर दिया।

ये भी पढ़ें:-  Massive fire in Patna: पटना के विश्वेश्वरैया भवन में भीषण आग, कई सरकारी विभागों का रिकॉर्ड खाक

मुख्यमंत्री ने बुधवार को लखनऊ में Koo ऐप के फाउंडर्स अप्रमेय राधाकृष्ण और मयंक बिदावतका से मुलाकात की है। मुख्यमंत्री ने कहा कि "लोगों को स्वदेशी ऐप का उपयोग और समर्थन करना चाहिए. भारत का अपना भाषा-आधारित माइक्रो-ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म होने के कारण राज्य के लोगों को सरकार की पहल से जुड़ने के लिए स्वदेशी ऐप का उपयोग करना चाहिए."

ये भी पढ़ें:- Mohali Attack: मोहाली हमले में पंजाब पुलिस को बड़ी कामयाबी, हमलावरों की मदद करने वाला गिरफ्तार

इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने राज्य के लोगों को डिजिटल रूप से सशक्त बनाने के अपने विजन के बारे में भी बताया। उन्होंने कहा, "जनता और सरकार के बीच की दूरी को खत्म करने के लिए तकनीक का इस्तेमाल किया जाना चाहिए ताकि हर जरूरतमंद व्यक्ति लाभान्वित हो सके." 

इस मौके पर Koo ऐप के CEO और को-फाउंडर अप्रमेय राधाकृष्ण ने भी मुख्यमंत्री योगी जी की तारीफ करते हुए कहा, "मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी से आज मुलाकात कर और उनका विजन जानकर काफी खुशी हुई. मुख्यमंत्री जी का मानना है कि जनता और सरकार के बीच गहरा संबंध होना चाहिए ताकि जनता को तेजी से सारे अपडेट दिए जा सकें और नागरिकों के मुद्दों को हल किया जा सके."

ये भी पढ़ें:- Controversy On School Holidays: स्कूलों में छुट्टियों को लेकर छिड़ा विवाद! निजी स्कूलों का 11 मई से अवकाश देने से इनकार
 
मुख्यमंत्री ने नागरिकों को स्वदेशी ऐप का उपयोग करने और आत्मानिर्भर उत्पादों को बढ़ावा देने के लिए भी प्रोत्साहित किया.

Must Read: केंद्रीय नागरिक उड्डयन म़ंत्रालय ने ड्रोन उडाने के लिए तय की ​न्युनतम योग्यता, बिना योग्यता के 25 हजार रुपए का जुर्माना

पढें तकनीक खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :