Sirohi माउंट का शरद महोत्सव और तबादले: Mount Abu नगर पालिका आयुक्त का तबादला होने पर विदाई समारोह में छलका दर्द, फोन नहीं उठाने की शिकायत पर बोले अब सब के फोन का दिया जाएगा जवाब, वीडियो वायरल

प्रदेश सरकार के पर्यटन विभाग, जिला प्रशासन व नगरपालिका आबू के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित शरद महोत्सव के बाद चर्चा में आए माउंट आबू नगरपालिका के आयुक्त का तबादला हो गया। गत सप्ताह आयोजित विदाई समारोह में आयुक्त का तबादला दर्द भी छलका।

सिरोही | प्रदेश सरकार के पर्यटन विभाग, जिला प्रशासन व नगरपालिका आबू के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित शरद महोत्सव के बाद चर्चा में आए माउंट आबू नगरपालिका के आयुक्त का तबादला हो गया। 
गत सप्ताह आयोजित विदाई समारोह में आयुक्त का तबादला दर्द भी छलका। मंच से विदाई होने के दौरान एक बार फिर से माउंट में कार्य करने की इच्छा जताई। 
वहीं दूसरी ओर माउंट के लोगों का फोन नहीं उठाने की भी लाचारी जाहिर की। लेकिन ​इस विदाई समारोह में उन्होंने अब तबादला होने के बाद लोगों के फोन उठाने का आश्वासन देकर गए। बहरहाल उनका यह दर्द अब लोगों के सामने आ गया। इनके विदाई समारोह के भाषण का वीडियो वायरल हो रहा है। 
जानकारी के मुताबिक शरद महोत्सव कार्यक्रम में कवि सम्मेलन में कवि कुमार विश्वास द्वारा अपने परिचित और पूर्व एसडीएम अभिषेक सुराणा के कसीदे गढ़ने समेत कई अश्लीलताएं होने के बाद कार्यक्रम काफी सुर्खियों में आ गया था। 
इसके कुछ दिनों बाद एसडीएम बदल दिए गए, अब एसडीएम के बाद नगर पालिका आयुक्त रामकिशोर को रवाना किया गया। वे माउंट आबू में 12 माह 21 दिन तक आबू नगरपालिका के आयुक्त रहे।

विदाई समारोह में जताई फिर से कार्य करने की इच्छा
विदाई समारोह में संबोधित करते हुए आयुक्त रामकिशोर काफी मायूस नजर आ रहे थे। असल में उनकी इच्छा के विपरीत यह तबादला हुआ हैं ऐसा प्रतीत हो रहा था। 
उन्होंने इस दौरान यह भी कहा कि मैंने और एसडीएम साहब ने शहर के लिए कई योजनाएं बनाई थी और मार्च तक हम काफी अच्छे अच्छे काम करने वाले थे।
 इतना ही नहीं, उन्होंने फिर से माउंट आबू में काम करने की भी इच्छा को भी बताया। उन्होंने कहा कि अगर तपोस्थली में फिर मौका मिला तो तपने के लिए तैयार हूं।
फोन कॉल नहीं उठाने का दर्द 
पूर्व आयुक्त रामकिशोर ने विदाई समारोह में अपने दिल की बात कह डाली। उन्होंने कहा कि सभी को एक बात की शिकायत थी मुझसे की मैं कॉल नहीं उठाता था लेकिन वो भी एक राज था। 
उन्होंने कहा कि अब आगे आप किसी भी काम के लिए मुझे याद करना मैं आपका हर कॉल उठाऊंगा और हमेशा तैयार रहूंगा। ऐसे में सवाल खड़ा हो रहा है कि आयुक्त साहब जब आप माउंट आबू आयुक्त थे जनता को उस समय आपकी अधिक जरूरत थी,जरूरी कार्य के लिए वो आपको कॉल करते थे लेकिन ऐसा क्या कारण हो गए कि आप ने जवाब देना तक बंद कर दिया। 

शरद महोत्सव को लेकर काफी चर्चा में आए थे आयुक्त
माउंट आबू नगरपालिका की ओर से आयोजित शरद महोत्सव इस बार लोगों की जुबां पर आ गया था। कवि सम्मेलन में जहां कवि कुमार विश्वास द्वारा राजस्थान के ऐतिहासिक तथ्यों को मनगढ़ंत तौर पर पेश करने पर जानकारों ने इसकी काफी निंदा की थी। उसके बाद न्यू ईयर सेलिब्रेशन के नाम पर शरद महोत्सव में अश्लीलता परोसने का मामला भी काफी चर्चा में रहा था। खूबसूरत वादियों और हसीन मौसम के चलते पर्यटकों को आकर्षित करने वाले माउंट आबू में सरकारी कार्यक्रम होने से अश्लीलता से इस नगरी पर बदनामी का दाग लगा था।
शरद महोत्सव के बाद कांग्रेसी पार्षद ने दिया था इस्तीफा
माउंट आबू नगरपालिका के पार्षद और उत्सव समिति के अध्यक्ष देवेंद्र जानी ने शरद महोत्सव कार्यक्रम के बाद सीएम को इस्तीफा भेज दिया था।

इस मामले से सम्बंधित पूर्व में प्रकाशित हुई खबरें यहाँ पढ़े :

 दरअसल उन्होंने शरद महोत्सव में अधिकारियों द्वारा किसी प्रकार की जानकारी नहीं देना, कोई सुझाव नहीं मानने समेत कई दर्द बयां करते हुए इस्तीफा भेज दिया था, हालांकि बाद में उनसे समझाईश कर उनको मना लिया गया था। 
कांग्रेस बोर्ड में भी कांग्रेसी पार्षदों के ऐसी हालत इन्ही आयुक्त महोदय के राज में हुई थी।

Must Read: राजस्थान में झमाझम, बीसलपुर बांध में आया एक साल का पानी, जल्द हो सकता है ओवरफ्लो 

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :