शातिर हत्यारे के दिमाग तक पहुंची पुलिस: मां-बेटी के सिर पर कई वार कर दरवाजा बाहर से लॉक कर भाग गया था आरोपी

पुलिस पड़ताल में हालांकि अब तक आरोपी का सुराग तो नहीं मिल पाया है, लेकिन जिस तरह की चौंकाने वाली जानकारियां सामने आई हैं, उससे हत्यारे के दिमाग की शातिरियत सामने आ गई है।

मां-बेटी के सिर पर कई वार कर दरवाजा बाहर से लॉक कर भाग गया था आरोपी

पाली। बगड़ी थाना क्षेत्र के कंटालिया गांव में बंद मकान में मिले मां-बेटी के शव का सोमवार शाम पोस्टमार्टम कर शव परिजनों को सौंप दिए गए। पुलिस पड़ताल में हालांकि अब तक आरोपी का सुराग तो नहीं मिल पाया है, लेकिन जिस तरह की चौंकाने वाली जानकारियां सामने आई हैं, उससे हत्यारे के दिमाग की शातिरियत सामने आ गई है। पुलिस की ओर से की गई अब तक की जांच में साफ हुआ है कि हत्यारे ने पहले कमरे में दिव्यांग रूकियादेवी प्रजापत (38) के सिर पर कपड़े धोने वाले लकड़ी के पट्‌टे (मोगरी) से कई वार किए। इसके बाद रसोई में खाना बना रही 75 वर्षीय अमरतीदेवी की भी उसी लकड़ी के पट्‌टे से सिर पर वार कर हत्या कर दी। इसके बाद आरोपी घर का दरवाजा लॉक कर फरार हो गया। शक के आधार पर पुलिस मृतका की बहन के बेटे, दामाद सहित अन्य कई संदिग्धों से पूछताछ कर हत्यारे तक पहुंचने की कोशिश कर रही है।

बगड़ी थाना क्षेत्र के कंटालिया गांव में रविवार देर शाम ग्रामीणों की सूचना पर पहुंची पुलिस ने व्यस्ततम बाजार में स्थित एक मकान का ताला तोड़ा था। इस मकान में मां-बेटी के चार-पांच दिन पुराने शव मिले थे। माना जा रहा था कि मां-बेटी की हत्या हुई है। सोमवार शाम को पोस्टमार्टम होने के बाद भी परिजन दोनों शव उठाने को लेकर राजी नहीं हुए। उन्होंने हत्यारों को शीघ्र गिरफ्तार करने की मांग की। एएसपी विपिन कुमार शर्मा, सीओ सोजत डॉ हेमंत जाखड़ ने मृतकों के परिजनों से समझाइश की। इसके बाद वे शव लेने के लिए राजी हुए।

पुलिस की प्रारंभिक जांच में सामने आया है कि 75 वर्षीय अमरती देवी ने जेठ के बेटे रमेश प्रजापत को गोद ले रखा था। जो बंगलुरू में कपड़े की दुकान पर काम करता है। आशंका जताई जा रही है कि मृतका के पीहर पक्ष में कोई इस बात से नाराज था। आशंका यह भी है कि घटना वाले दिन भी रमेश प्रजापत को गोद लेने की बात पर बहस हुई होगी। इसके बाद आरोपी ने आवेश में आकर मां-बेटी की हत्या कर दी। इसके साथ ही मृतका रूकिया देवी का पति भी पुलिस के शक के घेरे में है। घटना वाले दिन वह कहां था, इसको लेकर भी पुलिस जांच कर रही है।

पुलिस को एक ऑडियो भी मिला है। सोशल मीडिया पर एक ऑडियो अपलोड हुआ हैं, जिसमें भैराराम नाम का एक युवक रमेश से बात कर पूछ रहा है कि तूने मेरी मौसी व बहन को मार दिया। तू जमीन का भूखा है। कंटालिया आया तो तुझे जान से मार दूंगा। दोनों में 3 मिनट 13 सैकेण्ड तक बात होती हैं। जिसमें भैराराम नाम का युवक रमेश पर आरोप लगाता हैं कि वह तेरी मां थी। दोनों को एक साथ मौत कैसे आ गई। चार-पांच दिन से गायब थी तो पता क्यों नहीं लगाया तूने।

पुलिस अब मृतका के घर के आस-पास के सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही हैं ताकि पता लगाया जा सके कि पिछले सप्ताह उनके घर कौन-कौन आया। मृतका व उसकी मां के मोबाइल की कॉल डिटेल खंगाली जा रही है। दोनों का पिछले कुछ दिनों में पड़ोसी से या किसी अन्य से झगड़ा तो नहीं हुआ? इस एंगल पर भी जांच हो रही है। पुलिस गांव व आस-पास के बदमाशों व नशेड़ी प्रवृत्ति के युवकों से भी पूछताछ में जुटी है। दोनों शवों पर पुलिस को गहने पहने हुए मिले। प्रारंभिक जांच में लूट जैसा मामला सामने नहीं आया।

रविवार देर शाम कंटालिया के कुछ ग्रामीणों ने बगड़ी नगर थाने में कॉल किया था। बताया था कि कुम्हारों के मोहल्ले में एक बंद मकान से बदबू आ रही है। सूचना पर बगड़ी नगर थाना पुलिस मौके पर पहुंची। मकान के अंदर रसोई में अमरती देवी और कमरे में दिव्यांग बेटी ऊकिया देवी के शव पड़े मिले थे। ग्रामीणों ने बताया कि चार-पांच दिन से दोनों मां-बेटी दिखाई नहीं दे रही थी। उन्होंने सोचा कि शायद शादी में कहीं गए होंगे। मकान से बदबू आने पर उन्हें शक हुआ।

Must Read: अब जालोर जिले के एक साधु का अश्लील वीडियो हुआ वायरल

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :