प्रवेश प्रक्रिया सोमवार से: सरकारी और निजी कॉलेजों में बीस जुलाई से आरंभ होगा नियमित अध्ययन

इस बार कॉलेजों में प्रवेश नीति में कुछ बदलाव किए गए हैं। इनमें राजस्थान में इस साल भी कॉलेजों में एडमिशन 12वीं कक्षा के पर्सेंटेज के आधार पर होंगे, पर्सेंटाइल फॉर्मूले से नहीं। कॉलेज में एडमिशन के लिए भारतीय सेना, केन्द्रीय सशस्त्र बल के कर्मचारियों और पूर्व कर्मचारियों के बच्चों के लिए तीन प्रतिशत सीटें आरक्षित थी।

सरकारी और निजी कॉलेजों में बीस जुलाई से आरंभ होगा नियमित अध्ययन

सिरोही। राजस्थान के सरकारी और निजी कॉलेजों में प्रवेश की प्रक्रिया 27 जून से शुरू हो जाएगी। उच्च शिक्षा विभाग ने इसके लिए प्रवेश कार्यक्रम जारी कर दिया है।

विभाग के संयुक्त निदेशक अकादमिक डॉ केएल सिराधना की ओर से जारी किए गए कार्यक्रम के अनुसार प्रथम वर्ष में प्रवेश के लिए 9 जुलाई तक 12वीं पास स्टूडेंट्स आवेदन कर सकेंगे। तेरह जुलाई को चयनित हुए स्टूडेंट्स की अंतिम सूची जारी की जाएगी। बीस जुलाई से प्रदेश के 450 से ज्यादा सरकारी और दो हजार से ज्यादा निजी कॉलेजों में ऑफलाइन और ऑनलाइन दोनों मोड पर पढ़ाई शुरू हो जाएगी। तय कार्यक्रम के अनुसार ऑनलाइन आवेदन पत्र भरने की प्रक्रिया 27 जून से शुरू होगी। अंतिम तिथि 9 जुलाई रहेगी। महाविद्यालयों की ओर से आवेदन पत्रों का ऑनलाइन सत्यापन 11 जुलाई तक किया जाएगा। अंतिम वरीयता सूची व प्रतीक्षा सूची का प्रकाशन 13 जुलाई को किया जाएगा, जबकि अभ्यर्थियों द्वारा दस्तावेज सत्यापन एवं शुल्क जमा कराने की अंतिम तिथि 18 जुलाई तय की गई है। प्रवेशित विद्यार्थियों का वर्ग निर्धारण एवं विषय आवंटन् 19 जुलाई तक किया जाएगा। इसके बाद 20 जुलाई से कॉलेजों में अध्यापन कार्य शुरू हो जाएगा।

उच्च शिक्षा मंत्री राजेंद्र यादव ने बताया कि आवेदन की आखिरी तारीख तक सीबीएसई के बारहवीं का रिजल्ट जारी नहीं हुआ तो फिर पिछले सालों के आंकड़ों के आधार पर सीबीएसई स्टूडेंट्स के लिए कॉलेज की सीट का विशेष कोटा बनाया जाएगा। इसके साथ ही उन्हें बारहवीं का रिजल्ट जारी होने के बाद आवेदन की छूट दी जाएगी। ताकि प्रदेश के कॉलेज में आरबीएसई के साथ ही सीबीएसई के स्टूडेंट्स को भी एडमिशन के लिए पूरे मौके मिल सके।

इस बार कॉलेजों में प्रवेश नीति में कुछ बदलाव किए गए हैं। इनमें राजस्थान में इस साल भी कॉलेजों में एडमिशन 12वीं कक्षा के पर्सेंटेज के आधार पर होंगे, पर्सेंटाइल फॉर्मूले से नहीं। कॉलेज में एडमिशन के लिए भारतीय सेना, केन्द्रीय सशस्त्र बल के कर्मचारियों और पूर्व कर्मचारियों के बच्चों के लिए तीन प्रतिशत सीटें आरक्षित थी। इनमें अब राजस्थान पुलिस कर्मियों के बच्चों काे भी जगह मिलेगी। काेराेना की वजह से जिन स्टूडेंट्स के पेरेंट्स की माैत हुई है। उन्हें मिनिमम मार्क्स के आधार पर फ्री एडमिशन दिया जाएगा। इसके साथ ही उन्हें हॉस्टल की सुविधा भी फ्री मिलेगी। स्टूडेंट्स को पहले की तरह को-एजुकेशन कॉलेजों में छात्राओं काे तीन प्रतिशत बोनस मिलेगा। इस दौरान ऑनलाइन पढ़ाई भी चालू रहेगी।

Must Read: मारवाड़ जंक्शन विधायक जोजावर ने बेडा में पर्यटन व्यवसाइयों के साथ रखी बैठक, कहा स्थानीय लोगों के लिए पर्यटन से आय बढ़ाने की अपार संभावनाएं

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :