NCC की रैली में पीएम मोदी : एनसीसी के समारोह में प्रधानमंत्री मोदी का नया अंदाज, पंजाबी पगड़ी और काले चश्मे में गार्ड ऑफ ऑनर का निरीक्षण

नई दिल्ली के करियप्पा ग्राउंड में चल रही एनसीसी रैली में कैडेट्स को संबोधित किया। मोदी आज अपने अलग अंदाज को लेकर भी चर्चा में रहें। पीएम मोदी ने पंजाबी पगड़ी बांधने के साथ ही काला चश्मा भी लगाया। कार्यक्रम में एनसीसी कैडेट्स ने उन्हें गार्ड आफ आनर दिया। 

एनसीसी के समारोह में प्रधानमंत्री मोदी का नया अंदाज, पंजाबी पगड़ी और काले चश्मे में गार्ड ऑफ ऑनर का निरीक्षण


नई दिल्ली, एजेंसी। 
नई दिल्ली के करियप्पा ग्राउंड में चल रही एनसीसी रैली में कैडेट्स को संबोधित किया। मोदी आज अपने अलग अंदाज को लेकर भी चर्चा में रहें। पीएम मोदी ने पंजाबी पगड़ी बांधने के साथ ही काला चश्मा भी लगाया। कार्यक्रम में एनसीसी कैडेट्स ने उन्हें गार्ड आफ आनर दिया। 
इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि मैं भी एनसीसी का एक्टिव मेंबर था। अब सरकार एनसीसी को मजबूत करने के लिए कई प्रयास कर रही है। आज की एनसीसी रैली में गर्ल कैडेट्स भी दिखाई दे रही हैं, यही वह बदलाव है जिसका भारत साक्षी है। इस दौरान करीबन एक हजार एनसीसी कैडेट्स ने मार्च पास्ट की सलामी ली। 1953 के बाद से हर साल इस रैली को गणतंत्र दिवस के बाद आयोजित किया जाता है।


मोदी ने कहा कि मुझे गर्व है कि मैं भी कभी आपकी तरह ही एनसीसी का सक्रिय कैडेट रहा हूं। मुझे एनसीसी में जो ट्रेनिंग मिली, जो जानने सीखने को मिला, आज देश के प्रति अपनी जिम्मेदारियों के निर्वहन में मुझे उससे असीम ताकत मिलती है। पीएम ने लाला लाजपत राय और फील्ड मार्शल करियप्पा को राष्ट्र निर्माण में उनके योगदान के लिए श्रद्धांजलि दी। 
पीएम ने कहा कि पिछले दो साल में देश के सीमावर्ती इलाकों में एक लाख नए कैडेट बनाए गए हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने बालिकाओं और महिलाओं के लिए रक्षा प्रतिष्ठानों के दरवाजे खोलने के लिए उठाए जा रहे कदमों के बारे में विस्तार से बताया।
पीएम ने बड़ी संख्या में बालिका कैडेटों की उपस्थिति की चर्चा करते हुए इसे राष्ट्र के बदलते रवैये का प्रतीक बताया। उन्होंने कहा कि  सेना में महिलाओं को बड़ी जिम्मेदारियां मिल रही हैं। 
एयरफोर्स में देश की बेटियां फाइटर प्लेन उड़ा रही हैं। ऐसे में हमारा प्रयास होना चाहिए कि एनसीसी में भी ज्यादा से ज्यादा बेटियां शामिल हों।


कैडेटों के युवा प्रोफाइल के बारे में चर्चा करते हुए पीएम ने कहा कि आज इस समय जितने भी युवक-युवतियां एनसीसी में हैं, एनएसएस में हैं, उसमें से ज्यादातर इस शताब्दी में ही पैदा हुए हैं। आपको ही भारत को 2047 तक लेकर जाना है। 
प्रधानमंत्री मोदी ने कैडेटों का आह्वान करते हुए कहा कि आजादी के अमृतकाल में, आज से लेकर अगले 25 वर्ष, आपको अपनी प्रवृतियों को, अपने कार्यों को देश के विकास के साथ, देश की अपेक्षाओं के साथ जोड़ना है। 
प्रधानमंत्री ने कहा कि आज एक ओर डिजिटल टेक्नोलॉजी और इन्फॉर्मेशन से जुड़ी अच्छी संभावनाएं हैं, तो दूसरी ओर मिस-इंफॉर्मेशन के खतरे भी हैं। उन्होंने कहा कि हमारे देश का सामान्य मानव, किसी अफवाह का शिकार न हो ये भी जरूरी है। उन्होंने प्रस्ताव करते हुए कहा कि एनसीसी कैडेट इसके लिए एक जागरूकता अभियान चला सकते हैं।
प्रधानमंत्री मोदी ने कैडेटों को सेल्फ 4 सोसाइटी पोर्टल से जुड़ने को कहा जो देश के सामूहिक प्रयासों को नई ऊर्जा देने का काम कर रहा है। पोर्टल से 7 हजार से ज्यादा संस्थाएं और 2.25 लाख लोग जुड़े हैं।

Must Read: उबर ने एक महिला की कैंसिल की 14 राइड, कोर्ट ने कंपनी पर लगाया 8 करोड़ रुपए का हर्जाना

पढें दिल्ली खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :