सिरोही: हार्डकोर अंतरराज्यीय अपराधी चढ़ा पुलिस के हत्थे

राजस्थान के सिरोही जिले की सरुपगंज पुलिस ने बड़ी कार्रवाई करते हुए हत्या,लूट,चोरी समेत दर्जनों मुकदमे के अंतरराज्यीय अपराधी को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है।

हार्डकोर अंतरराज्यीय अपराधी चढ़ा पुलिस के हत्थे
  • गुजरात समेत राजस्थान पुलिस को छका रहा था बदमाश

गौरव अग्रवाल, फर्स्ट राजस्थान-सरुपगंज।

सरुपगंज पुलिस ने बड़ी कार्रवाई करते हुए हत्या,लूट,चोरी समेत दर्जनों मुकदमे के अंतरराज्यीय अपराधी को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है।गुजरात के साबरकांठा के अमीरगढ़ क्षेत्र के बालुन्द्रा गांव निवासी इस शातिर बदमाश इस्माइलखान ने पालड़ी एम थाना क्षेत्र के वेरा विलपुर गांव के पिपलेश्वर महादेश मंदिर के महंत भागीरथ गिरी उर्फ भगवत गिरी महाराज की हत्या की थी।पुलिस ने हत्या के इस मामले में आरोपी इस्माइलखान समेत एक अन्य आरोपी रमेश मेघवाल को भी गिरफ्तार किया है।नकबजन इस्माइलखान पर चोरी, लूट,डकैती जैसे दर्जनों मामले में गुजरात व राजस्थान पुलिस को इसकी तलाश थी।शातिर बदमाश ने राजस्थान,गुजरात सहित कई कस्बों-गांवो में दर्जनों वारदातों को भी अंजाम दिया है।

जानकारी के अनुसार एक फरवरी को पिपलेश्वर महादेव मंदिर में अपराधियों द्वारा महंत की हत्या की नीयत से सिर पर वार किया गया था।हमले के बाद महंत भागीरथ गिरी घायल हो गए थे वहीं इलाज के दौरान महंत ने दम तोड़ दिया था।घटना के बाद से ही धर्मप्रेमियों में खासा रोष व्याप्त हो गया था।पूरे मामले को लेकर एसपी हिम्मत अभिलाष टांक ने मामले की गंभीरता को देखते हुए सिरोही जिले के सबसे तेज तर्रार थानेदार के रूप में कार्य करने वाले सरुपगंज थाना प्रभारी छगन डांगी को मामले की जांच सौंपने के साथ ही आरोपियों को जल्द सलाखों के पीछे पहुंचाने की जिम्मेदारी भी दी गई।एसपी द्वारा दी गई इस जिम्मेदारी का बखूबी निर्वहन करते हुए थानाधिकारी छगन डांगी ने हर पहलू की बारीकी से जांच करते हुए कड़ी से कड़ी को जोड़ा और आरोपियों के गिरेबान तक खाकी के हाथ पहुंचे और हत्या के मामले में फरार दोनो आरोपियों को सलाखों के पीछे डाला गया।पुलिस अब आरोपियों से सख्ती से पूछताछ कर रही है और कई वारदातों के खुलासे की भी उम्मीद जताई जा रही है।

ज्युडिशल कस्टडी से भाग छूटा था आरोपी-

एसपी हिम्मत अभिलाष टांक ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि अमीरगढ़ के बालुन्द्रा गांव निवासी इस्माइलखान बेहद शातिर अपराधी है।उन्होंने बताया कि गुजरात के पालनपुर थाने का वांटेड इस्माइल खान 26 दिसंबर 2020 को पालनपुर जेल के कोविड वार्ड की खिड़की तोड़कर फरार हो गया था।आरोपी इस्माइलखान पालनपुर थाने का मोस्ट वांटेड है।एसपी हिम्मत अभिलाष टांक के अनुसार इस्माइलखान के खिलाफ पालनपुर थाने समेत गुजरात व राजस्थान के पाली,सिरोही,जालोर जिले में कई मामले दर्ज है।पालनपुर जेल से फरार चल रहा था।जेल से फरार होने के बाद भी आरोपी लगातार एक के बाद एक वारदातों को अंजाम देता रहा।पुलिस अब उसके साथी सुरेश का भी रिकॉर्ड खंगाल रही है।इसके लिए राजस्थान समेत गुजरात पुलिस से भी संपर्क किया जा रहा है।

एक दर्जन से अधिक वारदाते करना किया कबूल-

सिरोही पुलिस अधीक्षक हिम्मत अभिलाष टांक ने बताया कि अन्तर्राज्योय अपराधी इस्माइल खान मोयला को गिरफ्तार करने के अब उससे सख्ती से पूछताछ की जा रही है।अब तक कि पूछताछ में आरोपी ने पिपलेश्वर महादेव मंदिर के महंत की हत्या समेत एक दर्जन भर से अधिक वारदाते करना कबूल किया है।अब पुलिस आरोपियों से और भी कई मामलों के राज खुलवाने के प्रयास कर रही है।अब देखने वाली बात है कि पुलिस आरोपियों से कितने मामलो का राजफाश करवा पाती है।

पालड़ी एम क्षेत्र के मामले की सरुपगंज पुलिस ने सुलझाई गुत्थी-

सिरोही जिले के पालड़ी एम थाना क्षेत्र के वेरा विलपुर के पिपलेश्वर महादेव मंदिर मन्दिर के महंत भागीरथ गिरी की हत्या की गई थी।घटना के बाद से लोगों में खासा रोष व्याप्त हो गया था।पूरे मामले की गंभीरता को देखते हुए सिरोही जिले के सबसे तेज तर्रार थानेदार के रूप में अपनी पहचान रखने वाले सरुपगंज थानेदार छगन डांगी को हत्या की गुत्थी सुलझाने की जिम्मेदारी सौंपी।सरुपगंज थानेदार ने भी पूरी निष्ठा से इस जिम्मेदारी का निर्वहन किया और आखिर इस शातिर अपराधी को सलाखों के पीछे डालने में कामयाबी हासिल की।गौरतलब है कि सरुपगंज थानेदार छगन डांगी ने जब से सरुपगंज थाने की कमान संभाली है तब से अपराधों पर अंकुश लगा है साथ ही अगर कोई क्राइम हुआ भी है तो उस पर प्रभावी कार्रवाई करते हुए अपराधियो की धरपकड़ करने में त्वरित कार्रवाई की गई है।यही कारण है कि सरुपगंज थानेदार की कार्यशैली से आमजन में विश्वास और अपराधियों में भय व्याप्त हुआ है।

यह वारदाते कबूली-

आरोपी इस्माइलखान ने 30 दिसंबर 2020 को सरुपगंज कस्बे की स्टेट बैंक गली से मोटरसाइकिल चोरी,8 जनवरी 2021 को रात्रि में पाली शहर से नए बस स्टैंड से स्प्लेंडर बाईक चोरी,13 जनवरी 2021 को सोजत सिटी से असप्ताल के सामने से बाईक चोरी,14 जनवरी 2021 को पुलिस थाना आबूरोड सदर के गिरवर गांव में गणेश मंदिर में नकदी व एलसीडी चोरी,28 जनवरी 2021 सरुपगंज के गुर्जर मोहल्ले से बाईक चोरी,30 जनवरी 2021 को जालोर जिले के एलाना गांव के मंदिर का ताला तोड़कर कन्टी चुराना,30 जनवरी 2021 को जालोर जिले के बिशनगढ़ में मांडवला रोड पर दरगाह के दान पात्र के ताले तोड़कर चोरी,1 फरवरी 2021 को पिपलेश्वर महादेव मंदिर वेरा विलपुर में लूट व महंत के साथ मारपीट कर महंत को मृत समझकर फरार होना,2 फरवरी 2021 को अमरापुरा दांतराई में मामाजी मंदिर के दान पात्र को तोड़कर चोरी,2 फरवरी 2021 को जीरावला जैन मंदिर के छोटे मंदिर का ताला तोड़कर नकदी चुराना,8 फरवरी 2021 को उंझा मार्केट से स्कूटी चुराना,9 फरवरी 2021 को आबूरोड़ शहर से संतोष सोनी की बाईक चोरी करना काबुल किया है।पुलिस आरोपियों से और भी कई राज खुलवाने की कोशिश में जुटी हुई है।

फैक्ट फाइल-

शातिर अपराधी इस्माइलखान मोयला का अपराधों से गहरा नाता रहा है।उसके खिलाफ सरुपगंज थाने में एक,आबूरोड़ शहर में चार,जीआरपीएफ आबूरोड़ में तीन,बरलूट में एक व आबूपर्वत में एक मामला दर्ज है।इसके साथ ही आरोपी के खिलाफ गुजरात में भी कई मामले दर्ज है वहीं जालोर व पाली जिले में भी कई मामले दर्ज है।
शातिर अपराधी ने एक दिन में ही एक दो और तीन तीन वारदातों को अंजाम देना भी कबूल किया है ऐसे में सदज नदाजा लगाया जा सकता है कि आरोपी के लिए अपराध केवल खिलौना है।

टीम में यह रहे शामिल-

वेरा विलपुर गांव के पिपलेश्वर महादेव मंदिर के महंत भागीरथ गिरी की हत्या के मामले का खुलासा करने के लिए एसपी हिम्मत अभिलाष टांक के निर्देशन में सरुपगंज थानाधिकारी छगन डांगी,कालंद्री थानाधिकारी सरिता,एएसआई हजाराम मारू,राजेंद्र सिंह,मांगीलाल,भजनलाल,कांस्टेबल बाबूसिंह देवड़ा, वागाराम,हरिराम,छगनलाल,शैतानाराम व हरिसिंह वहीं सायबर सेल के करनी दान,रमेश कुमार,जितेंद्रसिंह,सुरेश कुमार व नरेंद्र कुमात का विशेष सहयोग रहा।