पीएम ने महिला खिलाड़ियों का बढ़ाया हौसला: टोक्यो ओलिंपिक में ब्रिटेन से हारने वाली महिला हॉकी टीम का पीएम मोदी ने बढ़ाया मनोबल

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने टोक्यो ओलिंपिक में ब्रॉन्ज मेडल के लिए ब्रिटेन से हारने के बाद महिला हॉकी टीम से मोबाइल पर बातचीत कर हौसला बढ़ाया। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि हॉकी में भले ही मेडल नहीं मिला हो, लेकिन आपकी मेहनत ने हॉकी को नई दिशा प्रदान कर दी है।

टोक्यो ओलिंपिक में ब्रिटेन से हारने वाली महिला हॉकी टीम का पीएम मोदी ने बढ़ाया मनोबल

, women's hockey team, women's hockey team lost to Britain,, PM spoke to the hockey team on mobile, Modi boosted the morale of the hockey team

नई दिल्ली।
देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ( Prime Minister Narendra Modi) ने टोक्यो ओलिंपिक(Tokyo Olympics) में ब्रॉन्ज मेडल(Bronze medal) के लिए ब्रिटेन से हारने के बाद महिला हॉकी टीम(women's hockey team) से मोबाइल पर बातचीत कर हौसला बढ़ाया। प्रधानमंत्री मोदी (PM modi) ने कहा कि हॉकी में भले ही मेडल नहीं मिला हो, लेकिन आपकी मेहनत ने हॉकी को नई दिशा प्रदान(provide a new direction) कर दी है।  पीएम मोदी के मोबाइल के दौरान लड़कियां बेहद भावुक हो गईं और रोने लगीं। मोदी ने उनसे कहा कि रोना नहीं है, आपकी मेहनत से देश की हॉकी पुनर्जीवित हुई है। PM ने कहा कि आप सब लोग बहुत बढ़िया खेले हैं। आपने पिछले 5-6 साल से इतना पसीना बहाया है, सबकुछ छोड़कर आप इसी की साधाना कर रहे थे।

आपका पसीना पदक नहीं ला सका, लेकिन आपका पसीना देश की करोड़ों बेटियों का पसीना बन गया। मैं आपकी टीम और आपके कोच सभी को बधाई देता हूं। निराश बिल्कुल नहीं होना है। मैं देख रहा था कि नवनीत (Navneet)की आंख पर कुछ चोट आई है। अभी ठीक है ना। उसकी आंख को कोई नुकसान नहीं पहुंचा है ना। मोदी ने कहा कि वंदना और सब ने बहुत बढ़िया प्रदर्शन किया। सलीमा ने बहुत कमाल कर दिया। आप लोग रोना बंद करिए। मुझ तक आवाज आ रही है। देश आप पर गर्व कर रहा है। बिल्कुल निराश नहीं होना है। कितने दशकों बाद हॉकी भारत की पहचान पुनर्जीवित(Hockey India's identity revived) हो रही है, आप लोगों की मेहनत से हो रही है। मोदी ने कहा कि मैंने देखा है कि आपके कोच ने भी अपना बेस्ट दिया है। मैं देख रहा था कि किस तरह से आप लड़कियों का हौसला बढ़ा रहे थे। मैं आपका बहुत शुक्रगुजार हूं। आपको भविष्य के लिए बहुत शुभकामनाएं। इस पर भारतीय टीम के कोच ने शुक्रिया अदा किया और कहा कि लड़कियां इस वक्त बेहद भावुक हैं। मैं उनसे कह रहा हूं कि उन्होंने देश को प्रेरणा दी है। उन्होंने बहुत अहम काम किया है और उन्हें इसका जश्न मनाना चाहिए। आपके समर्थन के लिए शुक्रिया सर। गौरतलब है कि इससे पहले भारतीय पुरुष हॉकी (Indian men's hockey) टीम ने ओलिंपिक में 41 साल बाद मेडल का सूखा खत्म कर दिया है। कैप्टन मनप्रीत की टीम ने जर्मनी को 5-4 से मात देते हुए ब्रॉन्ज मेडल पर कब्जा कर लिया था। इसके बाद देशभर में जश्न और बधाइयों का दौर शुरू हो गया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने टोक्यो में मौजूद टीम से जीत के तुरंत बाद मोबाइल पर बात की थी। 

Must Read: न्यूजीलैंड बनाम भारत टेस्ट क्रिकेट मैच के दूसरे दिन न्यूजीलैंड ने बनाए बिना नुकसान के 129 रन

पढें भारत खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :