खबर मतलब असर होना ही हैं: अब आबू की सड़कों पर नही दिखेगी आवारागर्दी और अय्याशी, तलहटी से लेकर गुरुशिखर तक होगी लगातार पुलिस गश्त

FIRST BHARAT की खबर का हुआ बड़ा असर, अब हिल स्टेशन माउंट आबू की सड़कों पर शराब पीने, चलती गाड़ियों की छत पर शराब पीकर अय्याशी करने वालो की नही होगी खैर, पुलिस के 3 गश्ती दल करेंगे निगरानी, एसपी धर्मेंद्रसिंह ने दिए निर्देश।

अब आबू की सड़कों पर नही दिखेगी आवारागर्दी और अय्याशी, तलहटी से लेकर गुरुशिखर तक होगी लगातार पुलिस गश्त

सिरोही। प्रदेश के एक मात्र हिल स्टेशन माउंट आबू के प्राकृतिक सौंदर्य को ग्रहण लगाने वाले शराबियों और आवारागर्दी के साथ साथ खुलेआम सड़क पर अय्याशी करने वालों पर कड़ी निगरानी रखने और इन अवैध कृत्यों पर पूरी तरह से नकेल कसने के लिए पुलिस अधीक्षक धर्मेंद्रसिंह यादव ने पूरे माउंट आबू क्षेत्र के लिए 3 गश्ती दल बनाकर इसकी लगातार मोनिटरिंग करने की व्यवस्था करने के कड़े निर्देश जारी किए हैं। ये तीनो ही गश्तीदल मोटरसाइकिल पर अपने अपने क्षेत्र में गश्त करके इन असामाजिक तत्वों पर लगाम लगाने का कार्य करेंगे। पुलिस अधीक्षक धर्मेंद्रसिंह यादव ने बताया कि प्रत्येक गश्तीदल में एक ट्रैफिक पुलिस का जवान तो दूसरा माउंट आबू थाने का एक जवान इस दल में शामिल होगा, जो मोटरसाइकिल से पूरे रुट की गश्त करेंगे। और जहां भी सड़क किनारे या चलती गाड़ियों में शराब पीते या आवारागर्दी करते कोई पर्यटक  या स्थानीय लोग दिखाई देंगे उनके खिलाफ सख्त कानूनी कार्यवाही अमल में लाई जाएगी। एसपी ने बताया कि माउंट आबू थाना क्षेत्र की सीमा में प्रवेश से लेकर शहर तक एक गश्ती दल तैनात रहेगा, वहीं दूसरा गश्ती दल माउंट आबू नगरपालिका क्षेत्र में गश्त करेगा, तो तीसरा दल देलवाड़ा से लेकर गुरुशिखर तक लगातार गश्त कर ऐसे असामाजिक तत्वों पर कड़ी कार्यवाही कर आबू परिक्षेत्र को सुंदर व स्वच्छ क्षेत्र बनाने के साथ साथ अवैध गतिविधियों पर लगाम लगाएगा।

FIRST BHARAT की खबर के बाद एसपी ने लिया संज्ञान

माउंट आबू घूमने आने वाले पर्यटकों द्वारा चलती गाड़ियों की छत और बोनट पर बैठकर शराब पीने, आवारागर्दी करने को लेकर 4 अगस्त को "यहां चलती गाड़ी की छत पर रखकर पीते हैं शराब, खुद के साथ साथ दूसरों की जान को भी डाल रहे खतरे में, पर जिम्मेदार बने मूकदर्शक" नामक शीर्षक के साथ एक खबर प्रकाशित की थी। इस खबर के प्रकाशन के बाद से ही एसपी धर्मेन्द्रसिंह यादव ने इस पर संज्ञान लेते हुए इन तीन गश्ती दलों का गठन कर इस समस्या से निजात दिलाने का ये कदम उठाया हैं। जो आने वाले दिनों में माउंट आबू की फिजाओं को सुंदर बनाए रखने में कारगर साबित होगा।

◆ ये चलाई थी खबर, जिसका हुआ असर

Must Read: ‘अग्निपथ योजना’ के विरोध में हनुमान बेनीवाल की हुंकार, जोधपुर में महारैली

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :