मणिपुर में मुख्यमंत्री के नाम पर मुहर: भाजपा नेतृत्व में मणिपुर के मुख्यमंत्री के पद पर एन बीरेन सिंह का नाम फाइनल, चुनाव परिणाम आने के 10 दिन बाद लगी मुहर

मणिपुर में चुनाव परिणाम आने के 10 दिन बाद मुख्यमंत्री के नाम पर मुहर लग गई। भाजपा नेतृत्व में एन बीरेन सिंह के नाम फाइनल हो गया। शनिवार को ही एन बीरेन पार्टी नेतृत्व से मिलने दिल्ली पहुंचे थे। यहां बीरेन राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, अमित शाह से मुलाकात की थी। 

भाजपा नेतृत्व में मणिपुर के मुख्यमंत्री के पद पर एन बीरेन सिंह का नाम फाइनल, चुनाव परिणाम आने के 10 दिन बाद लगी मुहर

नई दिल्ली, एजेंसी। 
मणिपुर में चुनाव परिणाम आने के 10 दिन बाद मुख्यमंत्री के नाम पर मुहर लग गई। भाजपा नेतृत्व में एन बीरेन सिंह के नाम फाइनल हो गया। 
शनिवार को ही एन बीरेन पार्टी नेतृत्व से मिलने दिल्ली पहुंचे थे। यहां बीरेन राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, अमित शाह से मुलाकात की थी। 
पार्टी हाई कमान की ओर से बीरेन के अलावा बिस्वजीत सिंह तथा युमनाम खेमचंद के नाम पर भी चर्चा की थी, लेकिन बीरेन सिंह पर भरोसा जताया गया। 
वहीं दूसरी ओर केंद्रीय मंंत्री निर्मला सीतारमण तथा किरेन रिजिजू पर्यवेक्षक के तौर पर रविवार को इंफाल पहुंच गए। यहां नव निर्वाचित विधायकों के संग उन्होंने बैठक की।

इधर, गोवा तथा उत्तराखंड में मुख्यमंत्री के नाम पर अभी तक सस्पेंस बरकरार है। भाजपा जल्द इसका ऐलान कर सकती है। 
केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के घर शनिवार देर रात तक चली बैठक में गोवा, उत्तराखंड तथा मणिपुर में सीएम के नाम पर सहमति बन गई। उत्तराखंड में सोमवार को विधायक दल की बैठक में इसका ऐलान होगा।
 गोवा में प्रमोद सावंत की ताजपोशी बताई जा रही है। शाह के घर हुई बैठक में जेपी नड्डा, मणिपुर के कार्य वाहक सीएम एन बीरेन सिंह तथा गोवा के कार्यवाहक मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत के अलावा अन्य पदाधिकारी मौजूद थे।
उत्तराखंड में सोमवार को देहरादून में भाजपा विधायक दल की बैठक बुलाई गई है। इस दौरान राजनाथ सिंह, मीनाक्षी लेखी पर्यवेक्षक के तौर पर मौजूद रह सकती है।
 ऐसा बताया जा रहा है कि 22 या 23 मार्च को उत्तराखंड के नए सीएम का शपथ ग्रहण समारोह आयोजित हो सकता है। इधर गोवा में भी प्रमोद सावंत का फिर से मुख्यमंत्री बनना तय माना जा रहा है। 

Must Read: स्मार्ट सिटी मिशन में देश के 100 शहरों में से राजस्थान के मात्र चार शहर, प्रदेश की भौगौलिक एवं ऐतिहासिक विरासतों को देखते हुए बढ़ाई जाए शहरों की संख्या:नीरज डांगी

पढें दिल्ली खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :