एमपी बस दुर्घटना: धार जिले में महाराष्ट्र रोडवेज की बस नर्मदा नदी में गिरने से 13 की मौत, मंत्री का दावा 15 को बचाया, रेस्क्यू टीम बोली- अब तक कोई जिंदा नहीं मिला

बचाव कार्य जारी है और अधिकारी और स्थानीय लोग दुर्घटनास्थल पर हैं। बस दुर्घटना पर टिप्पणी करते हुए, मध्य प्रदेश के मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि घटना के समय बस इंदौर से पुणे जा रही थी। मंत्री का दावा है कि दुर्घटनास्थल से अब तक कुल 15 लोगों को बचा लिया गया है।

धार जिले में महाराष्ट्र रोडवेज की बस नर्मदा नदी में गिरने से 13 की मौत,  मंत्री का दावा 15 को बचाया, रेस्क्यू टीम बोली- अब तक कोई जिंदा नहीं मिला
एमपी बस दुर्घटना

एमपी बस दुर्घटना: मध्य प्रदेश के खलघाट संजय सेतु से सोमवार को महाराष्ट्र रोडवेज की एक बस के गिरने से 13 यात्रियों की मौत हो गई। जानकारी के अनुसार घटना राज्य के धार जिले की बताई जा रही है. मध्य प्रदेश में खलघाट संजय सेतु से गिरी बस दुर्घटनास्थल पर बचाव कार्य जारी है और अधिकारी और स्थानीय लोग दुर्घटनास्थल पर हैं। बस दुर्घटना पर टिप्पणी करते हुए, मध्य प्रदेश के मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि घटना के समय बस इंदौर से पुणे जा रही थी। दुर्घटनास्थल से अब तक कुल 15 लोगों को बचा लिया गया है।

समाचार एजेंसी एएनआई द्वारा साझा किए गए दृश्यों में स्थानीय लोगों को एमपी बस दुर्घटना स्थल पर इकट्ठा होते दिखाया गया है।

बताया गया कि बस खलघाट में टू-लेन पुल पर किसी वाहन को ओवरटेक करते समय अनियंत्रित हो गई। ड्राइवर ने संतुलन खो दिया और रेलिंग तोड़ते हुए बस नदी में जा गिरी। हादसे की जानकारी लगते ही खलघाट सहित आसपास के लोग मौके पर पहुंच गए हैं।

इंदौर और धार से NDRF की टीम मौके पर पहुंच चुकी है। यह पुल पुराना बताया जा रहा है। बस महाराष्ट्र राज्य परिवहन की है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने घटना को संज्ञान में लेते हुए प्रशासन को बचाव और राहत कार्य के आदेश दिए हैं।

इससे पहले शुक्रवार को उत्तर प्रदेश के चित्रकूट के राजपुर इलाके में एक निजी बस के पलटने और खाई में गिरने से एक यात्री की मौत हो गई थी जबकि 30 अन्य घायल हो गए थे.

क्षेत्र के अंचल अधिकारी (सीओ) शिवप्रकाश सोनकर ने कहा कि बस पलट गई और कुसैली गांव के पास एक मोड़ पर खाई में गिर गई।

सीओ ने कहा, "बस के एक यात्री की मौत हो गई। मृतक की पहचान नहीं हो पाई है। बस में सवार 30 अन्य यात्रियों को चोटें आई हैं।"

30 घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां आठ की हालत गंभीर बताई जा रही है।

अब तक एक भी यात्री जीवित नहीं मिला
हालांकि मंत्री का दावा है कि पन्द्रह लोगों को बचाया गया है। परन्तु खलघाट टोल नाके की हाईवे एम्बुलेंस के ड्राइवर श्रीकृष्ण वर्मा (Driver Shrikrishna Verma) ने बताया- मैं ड्यूटी पर था। सुबह 10.03 बजे कंट्रोल रूम से कॉल आया। सूचना मिली कि पुल से एक बस नर्मदा नदी (Narmada river) में गिर गई है। सूचना मिलने के करीब 3 मिनट के भीतर घटनास्थल पर पहुंच गया था। बस नदी में गिरी हुई थी। तत्काल रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू किया। नदी से अब तक एक भी व्यक्ति जीवित या घायल नहीं निकाला जा सका है। बस को नदी से निकाल लिया गया है।

Must Read: मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने लिया बड़ा फैसला, कहा- गड़बड़ी वाली सभी भर्ती परीक्षाएं होंगी रद्द

पढें भारत खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :