प्रशासन की अनदेखी या मिलीभगत: महावीर जयंती पर हाइवे के ढ़ाबों पर बिक रही है शराब, थानाधिकारी अनजान तो एसडीएम का गैर जिम्मेदाराना जवाब

जालोर जिले के रानीवाड़ा उपखण्ड इलाके में ड्राई डे होने के बावजूद शराब खुलेआम बिक रही है। हाइवे के ढ़ाबों पर आप आसानी से शराब खरीद सकते है।

महावीर जयंती पर हाइवे के ढ़ाबों पर बिक रही है शराब, थानाधिकारी अनजान तो एसडीएम का गैर जिम्मेदाराना जवाब

जालोर। 
वैसे तो आज महावीर जयंती के चलते पूरे प्रदेश में शराब की बिक्री पर पूर्ण प्रतिबंध लगा हुआ हैं। सरकार के निर्देश पर प्रदेश में आबकारी विभाग की ओर से ड्राई डे घोषित किया हुआ है, लेकिन जालोर जिले के रानीवाड़ा उपखण्ड इलाके में ड्राई डे होने के बावजूद शराब खुलेआम बिक रही है। हाइवे के ढ़ाबों पर आप आसानी से शराब खरीद सकते है।चौंकाने वाली बात यह है कि जहां पुलिस और आबकारी हाइवे पर शराब ब्रिकी को लेकर अनजान बनी हुई है, वहीं दूसरी ओर उपखंड अधिकारी ड्राई डे पर शराब प्रतिबंधित होने के आदेश से ही अनजान है।


जानकारी के अनुसार प्रदेश के जालोर जिले का रानीवाड़ा उपखण्ड क्षेत्र में ड्राई डे की खुलेआम धज्जियां उड़ाई जा रही हैं। कहने को तो यहां भी शराब की दुकानें बंद हैं, लेकिन स्टेट हाईवे पर स्थित ढाबा संचालक यहां खुलेआम शराब बेच रहे हैं। जिन्हें ना पुलिस का भय हैं और ना ही आबकारी विभाग का कोई डर। रानीवाड़ा भीनमाल स्टेट हाईवे पर स्थित लहरिया होटल, जहां खुलेआम शराब बेची जा रही हैं। और ये बिक्री कोई चोरी चुपके नहीं बल्कि सरेआम की जा रही है। ढाबे पर रखे रेफ्रिजरेटर में बीयर भरी पड़ी हैं, तो काउंटर में अंग्रेजी शराब की ब्रांडेड बोतले भरी पड़ी हैं। यदि पुलिस प्रशासन यहां कार्रवाई करना चाहे तो बड़ी मात्रा में अवैध शराब का जखीरा पकड़ा जा सकता हैं। लेकिन मिलीभगत के इस खेल में सबके वारे न्यारे हो रहे हैं और सरकार को हर रोज लाखों रुपए की राजस्व हानि हो रही हैं।
Firstbharat.in के स्टिंग में हुआ खुलासा
रानीवाड़ा थाना क्षेत्र के लहरिया ढाबा पर शराब बिक्री की सूचना मिलने पर हमारी टीम ने मौके पर जाकर पूरा स्टिंग ऑपरेशन कर इस पूरे मामले का खुलासा किया हैं। हमारी टीम ने जब ढाबे पर जाकर शराब मांगी तो ढाबा संचालक बिना किसी हिचकिचाहट के हमारी टीम को शराब देने के लिए तैयार हो गया। जब हमने इस ढाबा संचालक से शराब और बियर की वेरायटी पूछी तो उसने अनगिनत वैरायटीज उपलब्ध होना बताया। विस्की, रम, और स्कॉच की महंगी ब्रांडेड बोतलों के साथ बियर की भी कई वैरायटीज होने की बात कही। यहां पर स्कॉच की बोतल जिस पर प्रिंट रेट 1600 रुपए हैं उस बोतल के ढाबा संचालक ने हमसे 2000 रुपए बताए। वही बियर जो कि 135 रुपए एमआरपी की आती हैं उस बियर के हमसे 200 रुपए मांग की गई। यानी यहां पर खुलेआम महंगी दरों पर शराब बेची जा रही हैं। पर जिम्मेदार इस पर कार्रवाई क्यों नही करते, ये समझ से परे हैं।
मुझे जानकारी नहीं
लहरिया ढ़ाबे पर शराब की बिक्री होने की जानकारी मुझे नहीं हैं। अगर वहां शराब बेची जा रही हैं तो अभी जाब्ता भेजकर कार्रवाई करवाता हूँ। 
पदमाराम, थानाधिकारी, पुलिस थाना रानीवाड़ा
---------

महावीर जयंती पर शराब नहीं बेच सकते क्या? मुझे इसकी जानकारी नही हैं। अगर ऐसा हैं तो मैं अभी थानाधिकारी को भेजकर कार्रवाई करवाता हूँ।
प्रकाशचंद्र अग्रवाल, उपखण्ड अधिकारी, रानीवाड़ा

Must Read: यूरो कप फुटबॉल टूर्नामेंट में चेक रिपब्लिक ने नीदरलैंड्स को तो बेल्जियम ने पुर्तगाल को हराया 

पढें भारत खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :