राज्यपाल के नाम सौंपा ज्ञापन : किसान मोर्चा का आरोप- गोवंश के उपचार में सरकार कर रही है लापरवाही

राज्य में लगातार लंपी वायरस का शिकार हो रहे गोवंश को लेकर किसान मोर्चा ने सरकार पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए नाराजगी जताई है।

किसान मोर्चा का आरोप- गोवंश के उपचार में सरकार कर रही है लापरवाही

सिरोही | राज्य में लगातार लंपी वायरस का शिकार हो रहे गोवंश को लेकर किसान मोर्चा ने सरकार पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए नाराजगी जताई है। इस बाबत किसान मोर्चा ने शुक्रवार को अध्यक्ष गणपत सिंह राठौड़ के नेतृत्व में पशुपालन प्रकोष्ठ हार्दिक देवासी संयुक्त धरना व प्रदर्शन कर राज्यपाल के नाम जिला कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा।

ज्ञापन में कहा गया है कि सरकार सर्वे कराकर गोवंश लंपी बीमारी से ग्रस्त गोवंश का उपचार करवाये। अगर समय रहते उपचार नहीं करवाया गया तो किसान मोर्चा द्वारा विशाल धरना दिया जाएगा। ज्ञापन में किसान मोर्चा जिला अध्यक्ष ने चार सूत्री मांगे रखी। जिनमें...

1) बीमार पशुओं का सर्वे कराकर इलाज शुरू करवाएं।
2) मृत पशुओं को गांव व पंचायत पर दफनाने की व्यवस्था सरकार करे।
3) मृत पशुओं का सर्वे कार्य कर किसानों को उचित मुआवजा दिया जाए।
4) बीमारी को रोकने के लिए उचित इलाज शुरू करवाया जाए।

ये भी पढ़ें:- चुनावों से पहले सियासी गर्मी! : ‘सचिन’ समर्थक विधायक बोले- राजस्थान की जनता ‘पायलट’ को सीएम देखना चाहती है

इसी के साथ किसाना मोर्चा का आरोप है कि, सरकार द्वारा जो दवाई दी जा रही है, उसका मूल्य बहुत अधिक है। इस संबंध में पूर्व मंत्री ओटाराम देवासी ने कहा कि, गोवंश की स्थिति बहुत ही खराब हैं और सरकार कोई ध्यान नहीं दे रही है। 

पूर्व जिला अध्यक्ष लूभाराम चौधरी ने सरकार को चेतावनी दी है कि समय रहते स्थिति नहीं सुधरी तो सरकार को इसका खामियाजा भुगतना होगा। 

वहीं, पशुपालन प्रकोष्ठ के हार्दिक देवासी ने कहा है कि आज पशुपालक बहुत ही परेशान हैं उसकी जो आमदनी थी वह भी महामारी से गोवंश की दवाईयों में खर्च हो गई है। 
इसके अलावा पूर्व युवा मोर्चा जिला अध्यक्ष हेमंत पुरोहित ने कहा है कि सरकार ने गोवंश पर ध्यान नहीं दिया तो बीमार गायों को कलेक्टर परिसर में खड़ा कर दिया जाएगा। 

जिला उपाध्यक्ष नारायण देवासी ने भी इस दौरान सभा को संबोधित करते हुए सरकार को आड़े हाथों लिया और कहा कि, सरकार को गोवंश की ओर ध्यान देने की बात कही।

किसान मोर्चा जिला उपाध्यक्ष अजीत सिंह ने बताया राजस्थान प्रदेश को गोवंश पिछले 3 माह से लंपी नामक रोग से ग्रसित हैं और राजस्थान सरकार को बार-बार चेताने के बावजूद गम्भीरता से निदान नहीं कर पा रही है। जिसके कारण हजारों गायें काल कल्वित हो चुकी हैं। किसान खेती के बाद पशुधन पर ही निर्भर है। अब उसके पशु पर यह बीमारी का संकट उनकी आर्थिक रूप से कमर तोड़ने का कार्य कर रहा है, इलाज समय पर नहीं मिल रहा है। पशु चिकित्सालय में पर्याप्त दवाओं का स्टाॅक है और ना ही पूर्ण रूप से सरकारी मदद नहीं मिल रही है।

ये सब भी रहे शामिल
इस दौरान ओबीसी मोर्चा के जिला अध्यक्ष अमराराम प्रजापत, किसान मोर्चा जिला महामंत्री नैन सिंह पुरोहित, मंडल अध्यक्ष नारायण सिंह देवड़ा, भाजपा जिला मंत्री छगन पटेल, कान सिंह जावल, विजय सिंह जावल, दीपेंद्र सिंह देवड़ा, किसान मोर्चा जिला उपाध्यक्ष अजीत सिंह, किसान मोर्चा के मंत्री जयदीप सिंह, मंडल अध्यक्ष करण मेवाड़ा, अर्जुन सिंह, आईटी सेल जिला संयोजक विशाराम सुथार, पशुपालन प्रकोष्ठ के प्रदेश प्रतिनिधि गोमाराम देवासी, नानजी राम देवासी, शांतिलाल झाडोली, मंडल अध्यक्ष लोकेश खंडेलवाल, भाजपा मंडल अध्यक्ष कालंद्री हिदाराम माली, रोहिडा सरपंच पवन राठौड़, किसान मोर्चा के जिला कार्यकारिणी सदस्य दिनेश सिंह, सिरोही मंडल अध्यक्ष ललित प्रजापत, भंवर माली समेत बड़ी संख्या में पशुपालकों ने कलेक्ट्रेट परिसर में पहुंचकर सरकार से गोवंश को बचाने की मांग की है।

ये भी पढ़ें:- मानसून ने बदला विदाई का इरादा: राजस्थान में फिर से होगी भारी बारिश, जानें मौसम विभाग का अलर्ट

Must Read: दिन दहाड़े शराब की दुकान के साथ सेल्समैन पर पेट्रोल छिड़ककर जलाने का प्रयास, पुलिस ने पीड़ित को ही किया गिरफ्तार

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :