भाजपा सांसद देवजी पटेल की किरकिरी...: भाजपा पदाधिकारी ने अपनी ही पार्टी के सांसद व पूर्व विधायक पर लगाए गंभीर आरोप, सनसनीखेज आरोपों के बाद सियासी गलियारों में अंदरखाने हो रही थू-थू

जालोर-सिरोही सांसद देवजी एम पटेल को इन दिनों अपनी ही पार्टी के पदाधिकारी के आरोपों का सामना करना पड़ रहा है।भाजपा ओबीसी प्रकोष्ठ के सांचौर अध्यक्ष भगाराम चौधरी ने सांसद देवजी एम पटेल व पूर्व विधायक जीवाराम चौधरी पर एक-एक करोड़ रुपये लेकर प्रधान व नगर पालिकाध्यक्ष बनाने के गंभीर आरोप लगाए है।

भाजपा पदाधिकारी ने अपनी ही पार्टी के सांसद व पूर्व विधायक पर लगाए गंभीर आरोप, सनसनीखेज आरोपों के बाद सियासी गलियारों में अंदरखाने हो रही थू-थू

जालोर | जालोर-सिरोही सांसद देवजी एम पटेल को इन दिनों अपनी ही पार्टी के पदाधिकारी के आरोपों का सामना करना पड़ रहा है।भाजपा ओबीसी प्रकोष्ठ के सांचौर अध्यक्ष भगाराम चौधरी ने सांसद देवजी एम पटेल व पूर्व विधायक जीवाराम चौधरी पर एक-एक करोड़ रुपये लेकर प्रधान व नगर पालिकाध्यक्ष बनाने के गंभीर आरोप लगाए है।पूरे मामले को लेकर भाजपा ओबीसी प्रकोष्ठ अध्यक्ष भगाराम चौधरी ने ना केवल आलाकामान तक शिकायत की है बल्कि अपने पद व पार्टी से त्याग पत्र भी भेजा है।

कांग्रेसियो से मिलकर अपनी ही पार्टी के चेयरमैन के खिलाफ लाया अविश्वास प्रस्ताव

भाजपा ओबीसी प्रकोष्ठ अध्यक्ष भगाराम चौधरी ने पत्र में आरोप लगाया कि पिछले नगर पालिका चुनाव में पूर्व विधायक जीवाराम चौधरी ने इंद्रा खोरवाल से एक करोड़ रुपये लेकर इंद्रा खोरवाल को नगर पालिकाध्यक्ष बनवाया था लेकिन रिश्वत के इस खेल में सांसद देवजी पटेल को अपना हिस्सा नही मिला।नतीजतन सांसद पटेल ने पूर्व विधायल जीवाराम चौधरी की शिकायत प्रदेश स्तर तक की।इतना ही नही सांसद पटेल ने भाजपा के इस बोर्ड को गिराने के लिए कांग्रेसियो का साथ लेकर भाजपा नपा अध्यक्ष इंद्रा खोरवाल के विरुद्ध अविश्वास प्रस्ताव लाया और बाद में सांसद देवजी पटेल ने जवाहराराम मेघवाल की पोती नीता मेघवाल को नपा अध्यक्ष बनाया गया।भगाराम चौधरी ने यह भी आरोप लगाया कि नीता मेघवाल को अध्यक्ष बनाने के लिए जवाहराराम मेघवाल से एक करोड़ रुपये की राशि ली गई है।

सांसद व पूर्व विधायक पर प्रधान बनाने के लिए दो करोड़ रूपये लेने का भी आरोप

भाजपा ओबीसी प्रकोष्ठ अध्यक्ष भगाराम चौधरी ने प्रदेश समेत आलाकामान को भेजे पत्र में सांचौर प्रधान बनाने में भी करोड़ो रूपये लेने का भी उल्लेख किया है।उन्होंने आरोप लगाया कि सांचौर प्रधान चुनाव में सांसद व पूर्व विधायक एक हो गए।दोनों ने मिलकर कैलाश पुरोहित को प्रधान बनाने के लिए दो करोड़ रुपये की राशि की वसूली की।उन्होंने आरोप पत्र में यह भी बताया कि प्रधान कैलाश पुरोहित के पिता हरचंद राम पुरोहित सांचौर के बड़े प्रोपर्टी डीलर होने के साथ साथ बड़ी होटलों व निजी स्कूल के भी मालिक है।

निष्कासित पदाधिकारियों को भी टिकिट मिलने का हवाला

भगाराम चौधरी ने पत्र में बताया कि गत चुनाव में पूर्व विधायक जीवाराम चौधरी को टिकिट नही मिला था साथ ही जीवाराम चौधरी ने निर्दलीय चुनाव लड़ा।निर्दलीय मैदान में उतरे जीवाराम चौधरी का समर्थन करने वाले भाजपा कार्यकर्ताओं को प्रदेश आलाकामान ने निष्कासित किया था बावजूद इसके नपा चुनाव में निष्कासित पदाधिकारियों को उपहार स्वरूप टिकिट देकर नवाजा गया वहिं पार्टी के प्रति समर्पित कार्यकर्ताओ व मौजूदा पार्षदो का टिकिट कांटा गया।

कार्यकर्ताओ में निराशा

भाजपा ओबीसी प्रकोष्ठ अध्यक्ष भगाराम चौधरी के आरोपों के बाद सांचौर समेत जिलेभर में चर्चाओं का दौर जारी है।भगाराम चौधरी ने पत्र में बताया कि ऐसे भ्रष्ट नेताओं की वजह से पार्टी कार्यकर्ताओ में निराशा है।समर्पित कार्यकर्ताओ को अपना हक नही मिल पा रहा है व पैसे देकर दूसरी पृष्टभूमि के लोग भी भाजपा के सिंबल पर चुनाव लड़ लेते है।

चर्चाओं का बाजार गर्म

जालोर सिरोही सांसद देवजी पटेल व पूर्व विधायक जीवाराम चौधरी पर आरोपों के बाद सियासी गलियारों समेत जालोर-सिरोही जिलों में चर्चाओं का बाजार गर्म हो गया।सोशल मीडिया पर भगाराम चौधरी के त्याग व आरोप पत्र के वायरल होते ही लोग अपने अपने हिसाब से कयास भी लगा रहे है।सोशल मीडिया पर इस मुद्दे को लेकर काफी चर्चाएं देखने को मिल रही है।

Must Read: राजस्थान के इतिहास में पहली बार अलग से पेश किया जाएगा कृषि बजट, बजट की तैयारियों में प्रगतिशील किसानों से संवाद शुरू

पढें राजनीति खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :