फलोदी जेल, 4 पुलिसकर्मी ​सस्पेंड: डीआईजी शेखावत ने फलोदी जेल से कैदी भागने के मामले में पुलिस जवानों को माना दोषी, 4 को किया निलंबित

फलोदी जेल से 16 कैदियों के भागने के मामले में जेल मुख्यालय ने घटना के समय वहां तैनात 4 कर्मचारियों को निलम्बित कर दिया। प्रारंभिक जांच में इन्हें प्रथमदृष्टया दोषी पाया गया है। इन चारों कर्मचारियों की बंदी भागने में मिलीभगत सामने आ रही थी।

डीआईजी शेखावत ने फलोदी जेल से कैदी भागने के मामले में पुलिस जवानों को माना दोषी, 4 को किया निलंबित

जोधपुर।
जोधपुर के फलोदी जेल से 16 कैदियों के भागने के मामले में जेल मुख्यालय ने घटना के समय वहां तैनात 4 कर्मचारियों को निलम्बित कर दिया। प्रारंभिक जांच में इन्हें प्रथमदृष्टया दोषी पाया गया है। इन चारों कर्मचारियों की बंदी भागने में मिलीभगत सामने आ रही थी। कैदियों की घटना की जांच जोधपुर रेंज के डीआईजी कारागार जोधपुर सुरेन्द्र सिंह शेखावत को सौंपी गई। शेखावत सोमवार देर रात ही फलोदी पहुंच कर जांच शुरू कर दी। जांच के दौरान प्रथमदृष्ट्या दोषी पाए जाने पर कार्यवाहक जेलर और मुख्य प्रहरी नवीबक्स, प्रहरी सुनील कुमार, प्रहरी मदनपाल सिंह और महिला प्रहरी मधु देवी की मिलीभगत सामने आई। इन चारों जेलकर्मियों को तुरन्त निलंबित कर दिया गया।
पुलिस को मिला सीसीटीवी फुटेज


जोधपुर जिले के फलोदी की जेल से सोमवार रात 16 कैदियों के फरार होने का CCTV फुटेज सामने आया है। इसमें साफ नजर आ रहा है कि जेल ब्रेक की साजिश में सब कुछ प्लान्ड था, क्योंकि जेल से भागते हुए सभी 16 कैदी पहले से बाहर खड़ी स्कॉर्पियो में आकर बैठे गए। इस पूरी घटना में सुरक्षा गार्डों की भी मिलीभगत की आशंका है। इस घटना के के काफी देर बाद पुलिस-प्रशासन को सूचना दी गई। यही वजह है कि जोधपुर और उससे सटे कई जिलों में पुलिस नाकाबंदी और तलाशी के बाद भी एक भी कैदी का पता नहीं चल सका।

Must Read: लिमड़ी कोठी की उंचाई बढ़ गई, कांग्रेस नेता के पुत्र के नाम पर जारी हो रही है बजरी की स्वीकृति

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :