भारतीय नौसेना का Mission Sagar: Indian Navy ने समुद्र में विस्तारवादी नीति के चलते जहाज kesari को मोजाम्बिक के मापुटो बंदरगाह में किया तैनात

भारतीय नौसेना की ओर से मिशन सागर के तहत एक ओर जहाज की समुद्र में तैनाती की गई है। भारतीय नौसेना के जहाज केसरी को मोजाम्बिक के मापुटो बंदरगाह में प्रवेश कर लिया।

Indian Navy  ने समुद्र में विस्तारवादी नीति के चलते जहाज kesari को मोजाम्बिक के मापुटो बंदरगाह में किया तैनात

नई दिल्ली, एजेंसी। Mission Sagar

भारतीय नौसेना की ओर से मिशन सागर के तहत एक ओर जहाज की समुद्र में तैनाती की गई है। भारतीय नौसेना के जहाज केसरी को मोजाम्बिक के मापुटो बंदरगाह में प्रवेश कर लिया। 
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सुरक्षा और विकास के विजन को देखते हुए यह आठवीं तैनाती हैं। समुद्र में इस तैनाती से समुद्री पड़ोसियों के साथ एकजुटता का प्रयास किया जा रहा है। 
मोजाम्बिक सरकार प्रयासों का समर्थन करने के लिए आईएनएस केसरी द्वारा 500 टन खाद्य सहायता भेजी गई है। भारत मोजाम्बिक के सशस्त्र बलों के क्षमता निर्माण प्रयासों की सहायता के लिए प्रतिबद्ध है। 
इसी के चलते केसरी से दो फास्ट इंटर सेप्टर क्राफ्ट और आत्मरक्षा उपकरणों को भेजा गया है। 
आईएनएस केसरी द्वारा मई—जून 2020 में मालदीव, मॉरीशस, सेशेल्स, मेडागास्कर और कोमोरोस को चिकित्सा सहायता प्रदान की गई।


मई 2020 से भारतीय नौसेना ने सागर मिशन के तहत 15 मित्र देशों में जहाजों को तैनात किया। समुद्र में 215 दिनों से अधिक समय में की गई तैनातियों के दौरान 3 हजार मीट्रिक टन खाद्य सहायता, 300 मीट्रिक टन एलएमओ, 900 आक्सीजन कंसन्ट्रेटर और 20 आईएसओ कंटेनरों की सहायता प्रदान की गई है। 
इस दौरान भारतीय नौसेना के जहाजों ने 40 हजार एलएम की कुल दूरी तक की। यह पृथ्वी की परिधि की लगभग दोगुनी है। भारतीय नौसेना की ओर से विदेशों को सहायता उपलब्ध कराने के लिए लगभग 10 लाख मानव घंटे का निवेश किया हैं, तब जाकर यह सामग्री जरूरतमंदों तक पहुंच पाई।

Must Read: यूक्रेन मेें 1008 प्रवासी राजस्थानी, 207 की हुई सकुशल वापसी, सरकार ने उठाए महत्वपूर्ण कदम

पढें विश्व खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :