सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म कू पर राजनेता: उत्तर प्रदेश के चुनावों में सोशल मीडिया एप कू बड़ा मंच, मुलायम सिंह की बहू अपर्णा यादव कू एप पर करेगी संवाद

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में सोशल मीडिया पर प्रचार प्रसार तेजी से हो रहा है। सोशल मीडिया पर चुनावों के इस दंगल में मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू अपर्णा यादव भी शामिल हो गई हैं।

उत्तर प्रदेश के चुनावों में सोशल मीडिया एप कू बड़ा मंच, मुलायम सिंह की बहू अपर्णा यादव कू एप पर करेगी संवाद

लखनऊ।
उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में सोशल मीडिया पर प्रचार प्रसार तेजी से हो रहा है। सोशल मीडिया पर चुनावों के इस दंगल में मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू अपर्णा यादव भी शामिल हो गई हैं।
इंडियन माइक्रो-ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म कू एप यूपी चुनाव में बहस, बयानबाजी और चर्चा का सबसे बड़ा प्लेटफॉर्म बन गया है।
अपर्णा यादव पिछले महीने ही समाजवादी पार्टी को छोड़ कर भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुई थीं और काफी सुर्खियों में थीं। 
कू एप पर अपर्णा यादव ने @iamaparnayadav नाम से अपना आधिकारिक हैंडल बनाया है।
कू पर अपर्णा यादव ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ  से अपनी मुलाकात की एक तस्वीर साझा की।
इस पर उन्होंने लिखा कि मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश @myogiadiyanath जी से शिष्टाचार भेंट किया।
कोरोना काल में चुनाव प्रचार का नया तरीका सोशल मीडिया
कोविड—19 के दौर में कोरोना की तीसरी लहर के चलते सोशल मीडिया चुनाव प्रचार का नया माध्यम बन गया है। 
जनसंवाद से लेकर चुनावी वादे, वर्चुअल रैली, बयानबाजी और जनसंपर्क के लिए उत्तर प्रदेश के नेता बड़े पैमाने पर सोशल मीडिया का इस्तेमाल कर रहे हैं।
कू एप उत्तर प्रदेश में काफी लोकप्रिय हो रहा है। यूपी के मुख्यमंत्री और कई मंत्रियों सहित तमाम दलों के नेता कू पर मौजूद हैं।
जनता से उनकी अपनी भाषा में बातचीत कर रहे हैं। 
बी अवेयर संगठन में सक्रिय अपर्णा यादव
महिला अधिकारों और सशक्तिकरण पर काम करने वालीं अपर्णा, बीअवेयर (bAware) नामक एक संगठन भी संचालित करती हैं।  महिलाओं से जुड़े मुद्दों पर काफी काम किया है।
2017 में अपर्णा यादव ने पहली बार समाजवादी पार्टी के टिकट पर लखनऊ कैंट सीट से विधानसभा चुनाव लड़ा। 
हालांकि अपर्णा यादव को अपने पहले चुनाव में बीजेपी की रीता बहुगुणा जोशी से हार का सामना करना पड़ा। 
कू ऍप उत्तर प्रदेश में काफी तेजी से लोकप्रिय हो रहा है और प्रदेश के 250 से ज्यादा विधायकों और लगभग 41 सांसदों ने जनता से सीधा संवाद करने के लिए इसे चुना है। 
वहीं, देश के 18 राज्यों के मुख्यमंत्री और कई केन्द्रीय मंत्री भी इस प्लेटफॉर्म पर मौजूद हैं। 
कू एप पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य और डॉ.दिनेश शर्मा, केन्द्रीय राज्य मंत्री अनुप्रिया पटेल, बहुजन समाज पार्टी के महासचिव सतीश चंद्र मिश्र, प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के संस्थापक और अध्यक्ष शिवपाल यादव सहित कई दिग्गज नेता सक्रिय है।

Must Read: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने आर्थिक असमानता पर व्यक्त की चिंता, कहा आम आदमी की आय बढ़ाना आवश्यक

पढें राजनीति खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :