Jalore पत्थर रायल्टी पर अवैध वसूली: Jalore के रानीवाड़ा में पत्थर रायल्टी के नाम पर टोकन से हो रही है अवैध वसूली, खान विभाग को शिकायत का इंतजार

जिले के रानीवाड़ा तहसील में पत्थर रायल्टी के नाम पर खुली लूट मची हुई है। ठेकेदार ट्रैक्टर चालकों से अवैध वसूली कर रहे है। ठेकेदारों के हौसले इतने बुलंद हो गए कि अवैध वसूली की भी रसीद दे रहे है।

Jalore के रानीवाड़ा में पत्थर रायल्टी के नाम पर टोकन से हो रही है अवैध वसूली, खान विभाग को शिकायत का इंतजार

जालोर।
जिले के रानीवाड़ा तहसील में पत्थर रायल्टी के नाम पर खुली लूट मची हुई है। ठेकेदार ट्रैक्टर चालकों से अवैध वसूली कर रहे है। ठेकेदारों के हौसले इतने बुलंद हो गए कि अवैध वसूली की भी रसीद दे रहे है। जबकि रवान्ना होने पर ही रॉयल्टी की रसीद काट सकते है, लेकिन यहां खान मालिक रवान्ना देते ही नहीं है। खान मालिक, रॉयल्टी ठेकेदार सभी नियमों को ताक पर रख कर काम कर रहे हैं।

ठेकेदार टोकन काट कर ट्रैक्टर चालकों को अवैध वसूली कर रहे हैं। ठेकेदारों के आगे खान विभाग के अधिकारी भी लाचार और बेबस नजर आ रहे है। अवैध वसूली से अनजान खान विभाग के अधिकारी अब ठेकेदारों के खिलाफ शिकायत का इंतजार कर रहे है!
लाठी के दम पर ट्रैक्टर चालकों से अवैध वसूली
जिले के रानीवाड़ा तहसील में पत्थर रायल्टी वसूलने का ठेका ठेकेदार नियमों को ठेगा दिखा रहा है। ठेकेदार लाठी के बूते पर लोगों से अवैध वसूली कर रहा है। ठेकेदार अपनी मर्जी से रायल्टी की राशि वसूल रहा है।

पत्थर रायल्टी की रसीद ऑनलाइन कटती है। लेकिन यहां पर ठेकेदार ने टोकन के नाम की रसीद बुक छपवा रखी है। पत्थर भर कर आने वाले ट्रैक्टर चालकों को टोकन काट रहे है। जबकि यह पूरी तरह से नियमों के  खिलाफ है।
रवान्ना के आधार पर कटती है रसीद
माइंस से पत्थर भरकर आने वाले ट्रैक्टर चालकों को माइंस मालिक एक रवान्ना देता है। यह रवान्ना खान विभाग से जारी होता है। रवान्ना के आधार पर ही रायल्टी ठेकेदार रायल्टी की रसीद काट सकता है। बिना रवान्ना के रायल्टी ठेकेदार रायल्टी की रसीद नहीं काट सकता है।


रवान्ना 170 का ठेकेदार वसूल रहा है 250 रुपए 
खान विभाग के मुताबिक रवान्ना के आधार पर करीब 170 रुपए की रसीद कटती है। जबकि ठेकेदार अपनी मर्जी से 250 रुपए का टोकन देकर अवैध रुप से वसूली कर रहा है।
रानीवाड़ा तहसील में प्रतिदिन करीब 250 से 300 ट्रैक्टर पत्थर भर आते है। ट्रकों की संख्या तो अलग ही है। प्रति ट्रैक्टर से 80 रुपए ज्यादा वसूलते है।

इस हिसाब से प्रतिदिन करीब 28 हजार रुपए व साल भर में करीब लाखों रुपए की अवैध वसूली हो रही है। खान विभाग के अधिकारियों को जानकारी होने के बावजूद भी रायल्टी ठेकेदार के खिलाफ कार्रवाही नहीं कर रहे है। 

शिकायत आते की कार्रवाई     
हमारे पास शिकायत नहीं आई है, शिकायत आते ही इस मामले की जांच करवाई  जाएगी। नियमानुसार कारईवाई होगी
राजेश हाडा,
सहायक खनिज अभियंता

Must Read: जालोर के रानीवाड़ा में उपखंड मुख्यालय पर मृत चिकित्सक कर रहा है लोगों का इलाज, चिकित्सा ​महकमा अनजान या जिम्मेदारों ने बंद कर रखी है आंखें

पढें जालोर खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :